RTI से खुलासा: मोदी सरकार के दौरान कश्मीर में आतंकी घटनाएं बढ़ीं

RTI से खुलासा: मोदी सरकार के दौरान कश्मीर में आतंकी घटनाएं बढ़ीं

आरटीआई से ये भी खुलासा हुआ कि मनमोहन सिंह सरकार के अंतिम तीन सालों में 850 करोड़ रूपए जारी किए गए, जबकि मोदी सरकार के समय नें गृह मंत्रालय ने कुल 1890 करोड़ रूपए इस बाबत जारी किए.

By: | Updated: 10 Oct 2017 10:18 PM

FILE PHOTO

नई दिल्ली: आतंकवाद के खिलाफ बड़े बड़े दावे करने वाली केंद्र सरकार के दावों पर जम्मू कश्मीर का आतंकवाद भारी पड़ा रहा है. बीते 3 सालों में जम्मू और कश्मीर में आतंकवादी घटनाओं में वृद्धि आई है. एक आरटीआई के जवाब में इस बात का खुलासा हुआ है. यहीं नहीं आरटीआई के जरिए ये भी पता चला है कि मनमोहन सरकार के आखिरी तीन सालों की अपेक्षा केंद्र सरकार ने ज्यादा धन भी आतंकवाद को रोकने के लिए जारी किया है.

उत्तर प्रदेश के नोयडा निवासी आरटीआई कार्यकर्ता रंजन तोमर के की तरफ से आरटीआई के जरिए पूंछे गए सवाल के जवाब में ये जानकारी हासिल हुई है. गृह मंत्रालय ने अपने जवाब में बताया है कि एनडीए सरकार के  तीन सालों में कुल 812 आंतंकी घटनाए हुई हैं, जिनमें 62 नागरिक और 183 भारतीय जवान शहीद हुए हैं. वहीं मनमोहन सरकार के समय में कुल 705 आतंकी घटनाओं में 59 नागरिक और 105 जवान शहीद हुए थे.

आरटीआई से ये भी खुलासा हुआ कि मनमोहन सिंह सरकार के अंतिम तीन सालों में 850 करोड़ रूपए जारी किए गए, जबकि मोदी सरकार के समय नें गृह मंत्रालय ने कुल 1890 करोड़ रूपए इस बाबत जारी किए. इस तरह से ये भी पता लगता है कि ज्यादा धन खर्च करने के बावजूद मोदी सरकार न केवल आंतकवाद को वहीं पर रोक सकी बल्कि आंतकवादी घटनाओं में और भी ज्यादा तेजी आ गई.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ABP न्यूज से बोले राहुल गांधी, 'एकतरफा चुनाव में कांग्रेस की होगी बड़ी जीत, नतीजों से चौकेगी BJP'