आतंक का पाक कनेक्शन : क्या तुम लोगों ने चूड़ियां पहन रखी हैं?

By: | Last Updated: Saturday, 6 December 2014 3:55 PM
terrorist connection with pakistan!

नई दिल्ली : कश्मीर में कल एक के बाद एक पांच आतंकी हमलों के पीछे पाकिस्तान का हाथ होने की बात सामने आई है. सेना के सूत्रों मुताबिक कि इन हमलों के पीछे पाक की नापाक साजिश है. वहीं आतंकियों के पास से मिले हथियार और साजो-सामान से हमलों के पीछे पाकिस्तान का हाथ होने के पुख्ता सबूत मिले हैं .

 

कल जम्मू-कश्मीर में एक के बाद एक पांच आतंकी हमलों से हिन्दुस्तान में हड़कंप मचा गया. सवाल उठ रहा है कि दहशत की इन तस्वीरों के पीछे कौन है?

 

आंतकी हमले के पीछे मकसद क्या?

 

ये हमले जिस वक्त हो रहे हैं उसको लेकर कई सवाल उठने लगे हैं. चुनाव के दौरान ही जम्मू-कश्मीर में आंतकी हमलों में तेजी क्यो आ गई? आतंकी आधुनिक हथियारों से लैस थे. ये हथियार उनके पास कहां से आए. क्या इन हमलों मे किसी पड़ोसी मुल्क का हाथ है.

 

एबीपी न्यूज के पास आतंकी हमले पर भारत सरकार को सौंपी खुफिया एजेंसी आईबी की रिपोर्ट हाथ लगी है. ये रिपोर्ट बेहद चौंकाने वाली है. रिपोर्ट के मुताबिक इन हमलों को पाकिस्तान और वहां के आतंकी संगठन की मदद से सुनियोजित तरीके से अंजाम दिया गया है. मकसद साफ है कि पाक सरकार जम्मू-कश्मीर में भारी मतदान से घबरा गई है और वो वहां इन हमलों के जरिये माहौल बिगडने का मंसूबा पाले हुए हैं.

 

आंतकी हमले पर IB की रिपोर्ट.

 

आईबी रिपोर्ट के मुताबिक पाक सेना, खुफिया एंजेंसी आईएसआई और वहां के आंतकी संगठन लश्कर-ए तैयबा एक रणनीति के तरह अपने नापाक मंसूबों को अंजाम देने में जुटा है. इसके लिए बाकायदा रावलपिंडी और पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मुज्जफराबाद में में ऑपरेशन के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है. इसी कंट्रोल रुम से आंतकियों को मदद की जा रही है.

 

खुफिया एजेंसी आईबी को ये भी पता चला है कि कल के हमले से पहले आतंकियों को पाकिस्तान से फोन आया था. फोन करने वाले आतकियों को हमले के लिए उकसाते हुए कहा था कि क्या तुम लोगों ने चूड़ियां पहन रखी हैं. और इसके बाद ही एक के बाद एक पांच आतंकी हमले हो गए.

 

हालांकि केंद्र सरकार आतंकी हमले का मुकाबला करने का दावा कर रहे हैं.

 

आंतकी हमले बढ़ने की आशंका

 

लश्कर के आतंकी पीओके के रास्ते कश्मीर में बड़ी तादाद में दाखिल हो रहे हैं. रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि जम्मू-कश्मीर में आने वाले दिनों में और आतंकी और बढ़ सकते हैं. कश्मीर के अलग-अलग हिस्सों में 10 से ज्यादा आतंकवादियों के ग्रुप पहले से ही हमले के लिए मौके के फिराक में हैं. श्रीनगर में 8 दिसंबर को पीएम की रैली होनी है. इस दौरान भी धमाका की आशंका जताई जा रही हैं.

 

आंतिकयों के विदेशी होने की तस्दीक आंतकियों के पास से मिले हथियार और माल-असबाब से भी हो रही है. उरी में मारे गए सभी 6 आतंकियों के पाकिस्तानी होने के सबूत मिल रहे हैं. आतंकियों के कब्जे से भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद बरामद हुआ.

 

इन आतंकियों के पास से 6 एके-47, 32 ग्रेनेड, 56 मैगजीन, 2 छोटी गन, 2 नाइट विजिन बाइनोक्यूलर्स बरामद हुए हैं. सेना के सूत्रों के मुताबिक ये सभी फिदाईन आतंकी लश्कर, जैश-ए-मोहम्मद और अल-बदर के हैं.

 

 

आतंकी जहा से फायरिंग कर रहे थे वहां से खाने-पाने के सामान भी मिले हैं. जिसमें खाने के कई पैकेट मिले हैं जिसपर चिकन अचारी लिखा हुआ है. सूखे मेवे भी आतंकियों के पास से मिले हैं. सेना के सूत्रों के मुताबिक ये खाने के पैकेट पाकिस्तान के बने हुए हैं. इससे पता चलता है कि ये आतंकी पाकिस्तान से ही आए थे.

 

आतंकियों ने भारतीय सेना की यूनिफार्म पहन रखी थी. आशंका जताई जा रही है कि आतंकी कैंप पर कब्जा करने के इरादे से घुसे थे और सेना की तोपों पर कब्जा करना चाहते थे. जम्मू-कश्मीर में पांच चरणों में चुनाव हो रहे हैं. दो चरणों के चुनाव हो चुके हैं लेकिन तीन चरण के चुनाव अभी भी बाकी है. 9 दिसंबर को होने वालो तीसरे चरण के चुनाव से पहले आंतकी एक बार चुनावी रंग में भंग डालने का काम कर सकते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: terrorist connection with pakistan!
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Pakistan terrorist
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017