4 करोड़ का घूस लेकर बिक गए बैंक अफसर!

By: | Last Updated: Friday, 16 October 2015 11:03 AM
The black money blackhole: bank officers got bribe!

नई दिल्ली: 6 हजार करोड़ का काला धन विदेश भेजने के मामले में बैंक अधिकारियों को दी गई घूस की बात सामने आई है. बैंक अधिकारियों की घूस का रेट भी फिक्स था. 8 अक्टूबर को आपके चैनल पर काले धन पर हुए खुलासे के बाद सरकार से लेकर बैंक तक हड़कंप मचा हुआ है. इस मामले में फरार लोगों की तलाश में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय लगातार छापे मार रहा है.

1. काले धन पर नया खुलासा क्या हुआ है?

 

आपके चैनल ने काले धन को लेकर जो सबसे बड़ा खुलासा किया था उसमें ताजा खुलासा ये हुआ है कि 6 हजार करोड़ का काला धन विदेश भेजने के लिए एक साल में बैंक अफसरों को 4 करोड़ की घूस दी गई थी.

 

बैंक अधिकारी एक डॉलर पर 50 पैसा रिश्वत लेते थे. इससे पहले ये खुलासा हुआ था कि घोटाले में शामिल कंपनियां बैंक अधिकारियों को खुश करने के लिए घूस में शऱाब और रिश्वत भी देती थीं. एक एक्सपोर्टर के पास एक करोड़ रूपये की गाड़ी भी मिली है. 

 

काला धन : HDFC पर और कस सकता है शिकंजा 

2. एबीपी न्यूज पर क्या खुलासा हुआ?

दिल्ली में देश के दूसरे सबसे बड़े सरकारी बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा के जरिए 6 हजार करोड़ का काला धन विदेश भेज दिया गया.

 

किस बैंक के जरिए भेजा गया?

देश के दूसरे सबसे बड़े और 107 साल पुराने सरकारी बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा की दिल्ली में अशोक विहार ब्रांच के जरिए काला धन भेजा गया.

 

ABP का असर: 59 कंपनियों के पते जानने के लिए CBI की छापेमारी जारी 

3. विदेश में पैसा कहां भेजा गया?

 

दिल्ली से 3 हजार 800 किमी दूर हॉन्ग कॉन्ग और करीब एक हजार किमी दूर अफगानिस्तान भेजा गया.

 

6000 करोड़ के काले धन पर एबीपी न्यूज के खुलासे का असर, CBI ने किया 59 लोगों के खिलाफ केस दर्ज 

4. कैसे होता था काले धन का खेल?

भारत से जो सामान अफगानिस्तान भेजा जाता था उसकी कीमत तीन गुना तक बताई जाती थी. 10 रुपए का माल 30 रुपए में बेचा जाता था. इसके लिए पहले से ही विदेशी कंपनियो से सेटिंग कर ली जाती थी. कि आप को सामान तो दस रुपये का ही मिलेगा बाकी के बीस रुपये हम आपको अपनी जेब से दे देंगे और वो मिलाकर आप तीस रुपये की पेमेंट कर देना. भारत से भेजा काला पैसा इस तरह से सफेद होकर देश वापस आता था.

 

ऑपरेशन ब्लैकमनी: नियम तोड़ने वाली कंपनियों पर होगी कार्रवाई- सरकार 

5. ये रकम काला धन क्यों है?

पैसे हॉन्गकॉन्ग जा तो रहे थे लेकिन वहां से आया कुछ नहीं. एक साल में 6 हजार करोड़ की रकम देश से बाहर भेज दी गई.

 

6. इतनी बड़ी रकम कैसे भेजी गई?

10 फीसदी रकम नकद बैंक में जमा कराई गई जबकि 90 फीसदी रकम के लिए इंटरनेट बैंकिंग का इस्तेमाल किया गया.

 

7. कब शुरू हुआ था ये काला खेल?

जुलाई 2014 से शुरू हुआ था घोटाला . 59 कंपनियों ने बैंक में 59 करंट अकाउंट यानि चालू खाते खुलवाए थे. इन खातों के जरिए रकम विदेश भेजी जाती थी.

 

8. कैसे पकड़ा गया घोटाला?

बैंक ने ऑडिट यानि खातों की जांच पड़ताल में देखा कि विदेशी मुद्रा के लेन-देन का कारोबार 500 गुना ज्यादा बढ़ गया है.

 

9. कैसे हरकत में आई सरकार?

8 अक्टूबर को सबसे पहले आपके चैनल एबीपी न्यूज ने काले धन पर खुलासा किया था. खुलासे के बाद प्रवर्तन निदेशालय और सीबीआई ने पूछताछ और छापेमारी शुरू की.

 

10. 59 कंपनियों का क्या हुआ?

कंपनियों के मामले में खुलासा हुआ है कि 59 कंपनियो के निदेशकों में से ज्यादातर निदेशक 5 से 10 दस हजार रुपये महीना पाने वाले लोग है.

 

दरअसल काले धन के ये खिलाड़ी बेरोजगार औऱ गरीब लोगो को तलाश करते थे जिनके पास अपने पहचान पत्र होते थे उनके पहचान पत्र के आधार पर इन लोगों को निदेशक बता कर शुरूआती दौर में कंपनिया खोली जाती थी. फिर काम होते ही 6 महीने के भीतर कंपनी पर ताला लग जाता था. 

 

11. अब क्या हो रहा है?

खुलासा होने के बाद से ही जांच एजेंसियां लगातार छापे मार रही हैं. सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय ने तीन बैंक अधिकारियों समेत 7 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.

 

12. सबसे बड़ा सवाल क्या है?

दिल्ली से काले धन को सफेद बनाने वालों पर तो शिकंजा कसने लगा है लेकिन सवाल ये है कि क्या बड़ी मछली हाथ आएगी?

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: The black money blackhole: bank officers got bribe!
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: bank of baroda black money
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017