वकीलों को नहीं है हड़ताल या बहिष्कार करने का अधिकार: हाईकोर्ट

By: | Last Updated: Thursday, 26 November 2015 1:49 AM
the lawyers have no right to strike or walkout

मदुरै: मद्रास हाईकोर्ट ने कहा है कि वकीलों को हड़ताल पर जाने या बहिष्कार का आह्वान करने या यहां तक कि सांकेतिक हड़ताल पर जाने का अधिकार नहीं है.

 

न्यायालय की मदुरै खंडपीठ के न्यायमूर्ति आर सुधाकर और न्यायमूर्ति वीएम वेलूमणि ने कहा कि अगर किसी का विरोध करना है तो प्रेस को बयान और टीवी को साक्षात्कार आदि दिया जा सकता है वो भी अदालत के बाहर.

 

तख्तियां, काली पट्टियां पहनना, बैनर, धरने पर जाना, जुलूस निकालना, ये अदालत के बाहर और दूर निकालना चाहिए.

 

पीठ ने पी पलनीसामी की याचिका को खारिज कर दिया. वह तिरूचिरापल्ली अदालत के कर्मी हैं. उन्होंने अपने खिलाफ एक निचली अदालत द्वारा शुरू की गई अनुशासनात्मक कार्यवाही को रद्द करने के लिए याचिका दायर की थी.

 

यह याचिका उन्होंने इस आधार पर दायर की थी कि 28 सितंबर को वकीलों के बहिष्कार की वजह से उनका वकील सुनवाई के लिए पेश नहीं हो सका था.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: the lawyers have no right to strike or walkout
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: advocate Highcourt protest
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017