This Diwali, Air pollution was 40 percent lower than the last year due to crackeras।इस दिवाली में पटाखों से 40 प्रतिशत कम रहा प्रदूषण

इस दिवाली में पटाखों से 40 प्रतिशत कम रहा प्रदूषण

मेट्रोपॉलिटन शहरो में वायु की गुणवत्ता बताने वाली केंद्र सरकार की संस्था 'सफर' के अध्ययन से यह पता चला है कि इस बार दिवाली पर पटाखों से साल 2016 की तुलना में 40 प्रतिशत तक प्रदूषण कम रहा.

By: | Updated: 30 Oct 2017 10:36 AM
This Diwali, Air pollution was 40 percent lower than the last year due to crackeras

नयी दिल्ली: मेट्रोपॉलिटन शहरो में वायु की गुणवत्ता बताने वाली केंद्र सरकार की संस्था 'सफर' के अध्ययन से यह पता चला है कि इस बार दिवाली पर पटाखों से साल 2016 की तुलना में इस बार 40 प्रतिशत तक प्रदूषण कम रहा. सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिल्ली और एनसीआर में पटाखों की बिक्री पर रोक लगाने के बाद से यह एक सकारात्मक असर है.


'सफर' के अध्ययन में यह कहा गया है कि 2014 की तुलना में दिवाली के दौरान 18 से 22 अक्तूबर के बीच सबसे कम प्रदूषण रहा. वायु गुणवत्ता का आकलन करने वाली केंद्र सरकार की एजेंसी सफर ने इस बीच राष्ट्रीय राजधानी में मौजूद वायु प्रदूषण के उत्सर्जन के स्रोतों, मौसमी स्थिति, वायु की गुणवत्ता के विस्तृत अध्ययन के आधार पर यह नतीजा निकाला है.


सफर (वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और रिसर्च प्रणाली) ने जारी अपनी रिपोर्ट में कहा कि वर्ष 2016 के मुकाबले पटाखों से वायु प्रदूषण के उत्सर्जन में 40 प्रतिशत तक की गिरावट आई. दिवाली की रात 19 अक्तूबर को 50 प्रतिशत, 20 अक्तूबर को 25 प्रतिशत और 21 अक्तूबर को 45 प्रतिशत तक पटाखों से वायु प्रदूषण के उत्सर्जन में गिरावट आई.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: This Diwali, Air pollution was 40 percent lower than the last year due to crackeras
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story मेले में हुई चुंबन प्रतियोगिता, सबसे देर तक किस करने वाले तीन जोड़े बने विजेता