सोशल मीडिया पर वायरल हुई यह 'अजब' प्रेम की 'गजब' कहानी

By: | Last Updated: Thursday, 17 December 2015 10:05 AM
This man cycles from India to Sweden to reunite with his love

नई दिल्ली : इस मोहब्बत की कहानी ने उम्र को भी लांघ दिया है. सालों पुरानी कहानी को लेकर यह किरदार सात समंदर पार कर उसे अंजाम तक ले गया. सालों बाद की दिल में प्रेमिका का झलक पाने की बेकरारी इस कदर आमादा थी कि वह साइकिल से ही देश के देश लांघ गया और स्वीडेन पहुंच गया. यह कहानी भले ही पुरानी हो लेकिन सोशल मीडिया पर इस कदर छाई हुई है कि जैसे कल की घटना हो.

Love2

उड़ीसा के छोटे से गांव में ‘अछूत’ घर में 1949 में पैदा हुए डा. प्रद्युमन कुमार महानंदिया(पीके) की प्रेम कहानी तब तक दिलों को जगाती रहेगी जब तक मुहब्बत को समझने वाले रहेंगे. रंग, जाति, देश और समाज सभी नियमों को ताख पर रख कर इस ‘पीके’ ने नई इबारत लिखी है. मोहब्बत 1971 में शुरू हुई थी. तब प्रद्युमन ‘अछूत’ के दंश को झेलते हुए दिल्ली आ पहुंचे थे.

पीके में कलाकार छिपा हुआ था जो दिल्ली में आकर उभर आया. कुछ ही दिनों में पीके ‘पोट्रेट’ बनाने की दुनिया में जाने-माने नाम हो गए. इसके बाद उनसे अपनी पोट्रेट बनवाने के लिए स्वीडेन से चार्लोट वॉन शेडविन पहुंची. चित्रकारी के दौरान चार्लोट की सादगी, पीके में समा गई. प्रेम हुआ और चार्लो, चारूलता हो गईं. विधिवत दोनों का विवाह भी दिल्ली में हुआ.

राज घराने से संबंध रखने वाली चार्लोट स्वदेश लौटने लगी और उसने पीके से भी चलने को कहा. लेकिन, खुद्दार पीके ने कहा कि वे अपने दम पर उसके पास आएंगे. प्यार, विवाह की दहलीज पार कर भी अंजाम तक नहीं पहुंच पा रहा था. इसी दौरान पीके ने जो फैसला किया वह आम दिलों के समझ से बाहर की बात थी और शायद आज भी समझ में न आए.

Love1

पीके ने साइकिल से आठ देशों को पार कर स्वीडेन जाने का फैसला सन 1971 में किया. वह अफगानिस्तान, इरान, तुर्की, बुल्गारिया, यूगोस्लाविया. जर्मनी, आस्ट्रीया और डेनमार्क होते हुए स्वीडेन पहुंच गए. लेकिन, इस कहानी की हैप्पी एंडिंग यहां भी नहीं होनी थी क्योंकि रंगभेद का मसला कुछ लोग उठा चुके थे.

लेकिन, जब मोहब्बत गहरी तो कोई भी ‘भेद’ उसे भेद नहीं सकता है. साइकिल पर सवार होकर भारत से स्वीडेन पहुंचे पीके की कहानी जंगल के आग की तरह फैल गई. किसी को भरोसा नहीं हो रहा था लेकिन जब चार्लोट अपने पति को लेने पहुंची तो सबकी आंखें फटी रह गईं. आज, इतने सालों बाद भी दोनों अपने दो बच्चों साथ सुकून की जिंदगी जी रहे हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: This man cycles from India to Sweden to reunite with his love
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017