1965 युद्ध : 'टाइम मैगजीन' ने भी माना था भारत का लोहा

By: | Last Updated: Friday, 11 September 2015 8:10 AM

नई दिल्ली : भारत और पाकिस्‍तान के बीच 1965 में हुआ युद्ध कई मायनों में खास था. एक तरफ जहां पाकिस्तान की नापाक कोशिशें दुनिया के सामने जाहिर हुई थी वहीं भारत का मजबूत स्वरूप सबके सामने आया था. यही नहीं पाकिस्तान ने सोचा भी नहीं था कि लड़ाई के बाद उनका हश्र इतना बुरा होगा.

पढ़ें : 1965 भारत-पाक युद्ध : जानिए वो 5 बातें जिनपर हमें होगा नाज

 

युद्ध के बाद ‘टाइम मैगजीन’ ने भी भारत की वीरता का लोहा माना था. टाइम ने लिखा था कि साफ हो गया है कि भारत अब दुनिया में नई एशियन ताकत बनकर उभर रहा है. टाइम मैगजीन ने तो साफ लिखा है कि इस युद्ध में पाकिस्तान ने लगभग अपने आधे गोला-बारूद और हथियार खो दिए थे.

पढ़ें : विजय के 50 साल: आखिर क्यों हुआ था 1965 का युद्ध?

 

इसके साथ ही मैगजीन ने तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शात्री के नेतृत्व क्षमता की भी प्रशंसा की थी. गौरतलब है कि शास्त्री ने ‘जय जवान-जय किसान’ का नारा दिया था. आधिकारिक तौर पर यह युद्ध 17 दिनों तक चला था. भारत की ओर से 6 सितंबर को युद्ध घोषित किया गया था और 23 सितंबर को भारत की जीत के साथ इसे समाप्त घोषित किया गया था. इस लड़ाई में भारतीय सेना लाहौर तक पहुंच गई थी.

पढ़ें : विजय के 50 साल: वीर अब्दुल हमीद ने तोड़ी थी पाकिस्तान की ‘नाक’!

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: TIME magazine appreciated India after 1965 war
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017