नोटबंदी के फैसले की सालगिरह मनाना सरकार के लिए पड़ेगा उल्टा : अशोक गहलोत । To celebrate the anniversary of Demonetisation will hit back to Government says congress

नोटबंदी के फैसले की सालगिरह मनाना सरकार के लिए पड़ेगा उल्टा : अशोक गहलोत

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने दावा किया है कि नोटबंदी के फैसले का एक वर्ष पूरा होने पर जश्न मनाना ''सरकार के लिए उल्टा पड़ेगा. ''

By: | Updated: 29 Oct 2017 04:41 PM
To celebrate the anniversary of Demonetisation will hit back to Government says congress
नयी दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने दावा किया है कि नोटबंदी के फैसले का एक वर्ष पूरा होने पर जश्न मनाना ''सरकार के लिए उल्टा पड़ेगा. '' गहलोत ने सरकार पर नोटबंदी एवं जीएसटी लागू होने के कारण सभी वर्गों विशेषकर छोटे व्यापारियों को होने वाली भारी दिक्कतों की अनदेखी करने का आरोप लगाया.

गहलोत ने एजेंसी के साथ बातचीत में देश के आर्थिक हालात की चर्चा करते हुए कहा, '' नोटबंदी के परिणाम उल्टे निकल रहे हैं. ऊपर से सरकार नोटबंदी के फैसले का एक साल पूरा होने पर जश्न मना रही है. सरकार को यह जश्न मनाना उल्टा पड़ेगा. लोगों के काम-धंधे नोटबंदी के कारण चौपट हो गये. उनकी नौकरियां जा रही हैं. सरकार को इस मामले में जवाब देना चाहिए. उसे अभी तो कुछ समझ ही नहीं आ रहा है.''

आपको बता दें कि पिछले साल आठ नवंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने टीवी पर राष्ट्र के नाम संबोधन में 500 एवं 1000 रूपये के नोटों को प्रचलन से बाहर करने की घोषणा की थी. कांग्रेस के नेतृत्व में 18 विपक्षी दलों ने इस घोषणा का एक वर्ष पूरा होने पर जहां ''काला दिवस'' मनाने की घोषणा की है, वहीं मोदी सरकार ने इस फैसले का जश्न मनाने की घोषणा की है.

हार्दिक की कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ कथित मुलाकात के बारे में पूछने पर गुजरात मामलों के प्रभारी सचिव गहलोत ने बताया, ''वैसे तो होटल में हार्दिक और राहुल गांधी की मुलाकात नहीं हुई. पर यदि यह हुई भी होती तो क्या फर्क पड़ता है. वह कोई अपराधी नहीं हैं.''

गहलोत पूर्व में ही यह स्वीकार कर चुके हैं कि हार्दिक से उनकी मुलाकात हुई थी. यह पूछे जाने पर कि क्या इस मुलाकात में हार्दिक ने कांग्रेस में शामिल होने की मंशा जतायी थी, कांग्रेस नेता ने कहा, ''उन्होंने ऐसी कोई बात नहीं की. जिग्नेश मेवानी और हार्दिक ने कांग्रेस में शामिल होने की बात कभी नहीं की. हमने उन सबका अवश्य आह्वान किया कि वे कांग्रेस की विजय यात्रा में साथ दें.'' उन्होंने यह भी कहा कि इन नेताओं का रूख कांग्रेस के लिए फायदेमंद होगा.

मीडिया के एक वर्ग में यह खबर आयी थी कि गत 23 अक्तूबर को अहमदाबाद के एक होटल में हार्दिक ने राहुल के साथ गोपनीय भेंट की थी. हालांकि कांग्रेस और हार्दिक की ओर से ऐसी किसी भी मुलाकात से इंकार किया गया.

गहलोत ने दावा किया कि गुजरात में तस्वीर बदल गयी है और लोगों ने मन बना लिया है. उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस को ''असाधारण समर्थन'' मिल रहा है.

उन्होंने कहा, ''पूरे मुल्क में चिंता और भय का माहौल बना हुआ है. उद्यमी, व्यापारी, किसान...हर वर्ग डरा हुआ है. पूरे देश की तरह गुजरात के किसानों की भी हालत खराब है.'' गहलोत ने कहा कि देश भर में रोजगार की स्थिति खराब है. लोगों की नौकरियां जा रही हैं. दुकानें बंद हो रही हैं.

गहलोत ने यह भी कहा कि वह कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ गुजरात में छोटे उद्यमियों से मिले. इन उद्यमियों ने बताया कि उन्हें अपने कर्मचारियों को नौकरी से निकालना पड़ रहा है क्योंकि वेतन देने लायक काम उनके पास नहीं है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: To celebrate the anniversary of Demonetisation will hit back to Government says congress
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story अमित शाह ने वोट डाला, लोगों से विकास विरोधियों को हराने की अपील की