Today 87 years ago ‘New Delhi’ was inaugurated as capital city नई दिल्ली बनने के 87 साल पूरे, 1931 में वायसराय लॉर्ड इरविन ने किया था उद्घाटन

नई दिल्ली बनने के 87 साल पूरे, 1931 में वायसराय लॉर्ड इरविन ने किया था उद्घाटन

12 दिसंबर, 1911 को ब्रिटिश महाराजा जॉर्ज पंचम ने भारत की राजधानी कलकत्ता से दिल्ली स्थातांरित करने की घोषणा की थी.

By: | Updated: 14 Feb 2018 08:54 AM
Today 87 years ago ‘New Delhi’ was inaugurated as capital city

नई दिल्ली: भारत की आधुनिक राजधानी, नयी दिल्ली जिसके बीचोंबीच अपने स्थापत्य पर इतराता भव्य रायसीना हिल्स परिसर है. इसे बनाने में 20 बरस लगे थे, साल 1931 में तत्कालीन वायसराय लॉर्ड इरविन ने इसका उद्घाटन किया था.


देश की राजनीति की दशा और दिशा तय करने वाली राजधानी का यह हिस्सा अपनी भव्यता की कहानी सुनाता है. विशाल गुंबद और मजबूत खंबों पर खड़ा राष्ट्रपति भवन और नार्थ ब्लाक तथा साउथ ब्लाक की इमारतें दिल्ली के इतिहास का अहम हिस्सा हैं. इन्हें विश्वप्रसिद्ध वास्तुशिल्पी सर एडविन लुटियंस और सर हर्बर्ड बेकर ने डिजायन किया था.


12 दिसंबर, 1911 को ब्रिटिश महाराजा जॉर्ज पंचम ने भारत की राजधानी कलकत्ता से दिल्ली स्थातांरित करने की घोषणा की थी.


‘न्यू दिल्ली: द लास्ट इंपीरियल सिटी’ में डॉ जॉनसन और रिचर्ड वाटसन ने लिखा है, ‘‘शाही दिल्ली ने फरवरी, 1931 में अपना पूर्ण स्वरूप हासिल किया था जब एक हफ्ते तक चले उद्घाटन समारोह में नयी राजधानी दुनिया भर के सामने आयी थी.’’


उद्घाटन समारोह रायसीना पहाड़ी पर हुआ जहां इस मौके पर भव्य समारोह आयोजित किए गए थे.


किताब में कहा गया, ‘‘1911 में शुरूआत के बाद से राजधानी का मतलब किसी एक ऐसी जगह से कहीं ज्यादा था जहां सरकार काम करे. इसकी नियति औपनिवेशिक वास्तुकला एवं औपनिवेशिक नगर योजना से जुड़ी सबसे महत्वपूर्ण उपलब्धि बनना थी, ब्रिटिश शासन के योग्य राजधानी बनना थी.’’

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Today 87 years ago ‘New Delhi’ was inaugurated as capital city
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ममता सरकार की बड़ी कार्रवाई, सिलेबस पर सवाल उठाकर RSS के 125 स्कूल बंद किए