UAE_World Cup 2015_ICC_Vishwa Vijeta_World Cup 2019_

UAE_World Cup 2015_ICC_Vishwa Vijeta_World Cup 2019_

By: | Updated: 24 Feb 2015 03:10 AM
डुनेडिन: संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) क्रिकेट टीम के कोच और 1992 की विश्व कप विजेता पाकिस्तान टीम के सदस्य रहे आकिब जावेद ने अगले क्रिकेट विश्व कप को केवल 10 टीमों के बीच सीमित रखने की अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की योजना की आलोचना की है.

 

वेबसाइट क्रिकइंफो के अनुसार जावेद ने यूएई के समाचार पत्र 'द नेशनल' से कहा, "मुझे लगता है कि सभी संबद्ध टीमें अब बड़ी टीमों को कड़ी चुनौती पेश कर रही हैं. मुझे हैरानी है कि आईसीसी ने अगले विश्व कप में केवल 10 टीमों को जगह देने का फैसल लिया है."

 

जावेद ने आईसीसी की कड़ी आलोचना करते हुए कहा, "आईसीसी किन 10 टीमों की बात कर रही है. अगर आप वेस्टइंडीज, बांग्लादेश और जिम्बाब्वे की बात करें तो इनका प्रदर्शन लगातार गिर रहा है. आखिरकार आईसीसी ने पिछले 10 वर्षो में कौन सी नई उपलब्धि हासिल की है. हमें आईसीसी पर खेल को बढ़ावा देने का दबाव डालना होगा."

 

जावेद के अनुसार, "हर टीम को मौका मिलना चाहिए लेकिन संबद्ध टीमों के लिए मौका कहां है. आयरलैंड पिछले 10 वर्षो से क्रिकेट में अच्छा कर रहा है, लेकिन उसे क्या मिला. कोई भी बड़ी टीम इनके साथ श्रृंखला नहीं खेलना चाहती."

 

अगला विश्व कप 2019 में होगा और माना जा रहा है कि इसमें आठ शीर्ष टीमों के अलावा दो और टीमें क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के जरिए चुनी जाएंगी.

 

इस योजना के तहत आयरलैंड और अफगानिस्तान को रैंकिंग व्यवस्था में भी शामिल किया गया है हालांकि, यह आशंका जताई जा रही है कि शीर्ष-आठ में पहुंचने के लिए इन दोनों टीमों को शायद पर्याप्त एकदिवसीय मैच खेलने को नहीं मिल सकेंगे.

 

जारी विश्व कप में संबद्ध टीमों के रूप में यूएई, आयरलैंड, अफगानिस्तान और स्कॉटलैंड को शामिल किया गया है. आईसीसी ने करीब चार साल पहले भी विश्व कप में टीमों की संख्य घटाने का निर्णय लिया था लेकिन काफी विरोध के बाद उसे यह फैसला वापस लेना पड़ा था.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story जम्मू कश्मीर में आतंकी हमला, दो पुलिसकर्मी शहीद