उबर को लाइसेंस से जुड़ा ब्यौरा देने के लिए सात दिनों की मोहलत

By: | Last Updated: Thursday, 19 February 2015 3:07 AM

नई दिल्ली: अमेरिकी रेडियो टैक्सी सेवा उबर को दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में अपनी कैब चलाने को लेकर आवेदनों में खामियों को हटाने के लिए सात दिन की मोहलत दी है. ऐसा करने में नाकाम रहने पर उसका आवेदन खारिज हो जाएगा.

 

सरकार ने इस तरह का आखिरी मौका एप आधारित अन्य कैब सेवा ‘सेरेनदीपिती इंफोलैब्स प्रा लि’ को भी दिया है. उससे भी उसके आवेदन में मिली खामियों को हटाने के लिए कहा गया है.

 

करीब ढाई महीने पहले उबर के एक चालक द्वारा एक महिला से कथित तौर पर रेप किए जाने के बाद इस टैक्सी सेवा को प्रतिबंधित कर दिया गया था. उबर ने अपनी आनुषंगिक रिसोर्स एक्सपर्ट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के जरिए मोबाइल एप्लीकेशन आधारित टैक्सी बुकिंग सेवा के लिए 22 जनवरी को लाइसेंस के लिए आवेदन दिया था.

 

एक अधिकारी ने बताया कि सरकार ने 24 जनवरी को एक ‘मेमो’ जारी कर उससे अपने समक्ष सभी ब्योरा देने को कहा जैसा कि हाल ही में पेश किए गए ‘संशोधित रेडियो टैक्सी योजना (2006) में वर्णित है.’

 

बीते साल पांच दिसंबर को उबर कैब के अंदर कथित तौर पर एक महिला से रेप किए जाने की घटना पर रोष के बाद इस योजना को एक जनवरी को अंतिम रूप दिया गया. ऐप आधारित टैक्सी ऑपरेटर ‘टैक्सी फॉर श्योर’ और अन्य ऑपरेटरों ने भी लाइसेंसों के लिए आवेदन किया था और ऐसा ही मेमो उन्हें भी जारी किया गया था.

 

परिवहन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि उन्होंने 24 जनवरी को ऐसा मेमो जारी किया था और इस बारे में 11 फरवरी को एक स्मरण संदेश भी भेजा था. तब से कोई जवाब नहीं मिला. हमने सात दिनों के अंदर ब्योरा देने के लिए उन्हें आखिरी मौका दिया है.

 

हालांकि उबर ने शाम को एक बयान जारी कर कहा कि उबर प्राधिकारियों के साथ काम करता रहा है और काम करना जारी रखेगा. सरकार द्वारा उन्हें दिए वक्त में वे कथित खामियों का मूल्यांकन कर रहे हैं.

 

सूत्रों ने बताया कि तीन ऐप आधारित टैक्सी सेवा प्रदाताओं ने नियमों के मुताबिक लाइसेंस प्राप्त करने के लिए अपने आवेदनों में पूरा ब्योरा मुहैया नहीं कराया. एक सूत्र ने बताया कि उबर के आवेदन में प्रमाणपत्र, रेडियो टैक्सियों के लिए पार्किंग के बारे में जानकारी मुहैया नहीं कराई गई. उन्होंने टेलीफोन नंबर, ईमेल पता और दिल्ली में अपने पंजीकृत कार्यालयों का सत्यापित पता भी नहीं दिया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Uber Given A Week To Furnish Details For Radio Cab licence
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: cab details licence Radio Cab uber
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017