मुंबई में जनता के आगे नतमस्तक होकर पिता उद्धव ठाकरे और बेटे आदित्य ठाकरे ने मांगे वोट

By: | Last Updated: Monday, 13 October 2014 2:41 AM
Uddhav thackeray election campaign

नई दिल्ली: अपने विरोधियों के खिलाफ हूंकार भरने वाले उद्धव ठाकरे अपने बेटे आदित्य ठाकरे के साथ मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्पलेक्स की चुनावी सभा के दौरान जब जनता के सामने नतमस्तक हुए तो तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा मैदान.

 

उद्धव ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि 100 दिन में सरकार ने क्या काम किया वो पता नहीं लेकिन रेल किराया जरूर बढ़ा दिया. मुंबई में रैली के दौरान बीजेपी नेताओं पर जमकर उद्धव ठाकरे जमकर बरसे. अपनी रैलियों में कांग्रेस एनसीपी के मुकाबले उद्धव ठाकरे बीजेपी पर ज्यादा निशाना साध रहे हैं.

 

रैली को संबोधित करते हुए उद्धव ने कहा कि अगर शिवसेना 15 अक्टूबर को होने जा रहे महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे के संबंध में बीजेपी की मांग स्वीकार कर लेती तो वह समाप्त हो जाती.

 

उन्होंने कहा, “मैं आपके समर्थन और ताकत से लड़ रहा हूं और भाजपा राज्य में कभी सत्ता में नहीं आ पाएगी.” पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की कविता ‘कदम मिला कर चलना होगा’ का जिक्र करते हुए उद्धव ने कहा कि अगर बालासाहेब ठाकरे होते और वाजपेयी के साथ होते तो 25 साल पुराना गठबंधन नहीं टूटता.

 

उद्धव ने कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आई तो कर्नाटक से मराठी भाषी इलाकों को वापस लिया जाएगा. उन्होंने उन सर्वेक्षणों को भी खारिज कर दिया जिनमें कहा जा रहा है कि बीजेपी चुनाव के बाद अकेले सबसे बड़े दल के तौर पर उभरेगी.

 

उद्धव ने कहा, “मुझे शिवसैनिकों को पूरा भरोसा है जो यह सुनिश्चित करेंगे कि अगली सरकार शिवसेना की हो. लोकसभा चुनावों में किसी भी सर्वेक्षण में यह संकेत नहीं दिया गया था कि शिवसेना को 18 सीटें मिलेंगी.” उन्होंने संकेत दिया कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वह मुख्यमंत्री बनने से नहीं हिचकेंगे. उन्होंने कहा, “महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री दिल्ली के आगे नहीं झुकेगा.”

 

उन्होंने कहा, “वर्ष 2016 शिवसेना का स्वर्ण जयंती वर्ष होगा और महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री इस अवसर पर जश्न मनाएगा. वर्ष 2016 तक मैं उन करीब 50 कल्याणकारी योजनाओं को लागू कर चुका होउंगा जिनकी शिवसेना के विजन दस्तावेज में परिकल्पना की गई है.” राज्य में स्वास्थ्य, और अवसंरचना के क्षेत्र में उपेक्षा के लिए उन्होने पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण की आलोचना की.

 

एनसीपी नेता और राज्य के पूर्व गृह मंत्री आर आर पाटिल की, रेप और चुनाव पर विवादित बयानों के लिए आलोचना करते हुए उद्धव ने पूछा “क्या आप ऐसे अशिष्ट लोगों को वोट देंगे.”

 

चुनावी रैली के दौरान उद्धव ठाकरे ने दावा किया कि ये चुनाव शिवसेना जरूर जीतेगी और अगला मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा.

 

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार का आज आखिरी दिन है. महाराष्ट्र में आज शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे तीन जगह रैली करेंगे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Uddhav thackeray election campaign
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017