महाराष्ट्र: कांग्रेस में फेरबदल को लेकर नाखुश हैं राणे

By: | Last Updated: Monday, 2 March 2015 4:01 PM

मुम्बई: अशोक चव्हाण और संजय निरूपम को क्रमश: महाराष्ट्र और मुंबई कांग्रेस इकाई का अध्यक्ष बनाए जाने पर नाखुशी जताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने आज दावा किया कि पार्टी आलाकमान ने इस मुद्दे पर राज्य के नेताओं से विचार-विमर्श नहीं किया.

 

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने यहां कहा, ‘‘घोषणा करने से पहले पार्टी नेतृत्व ने महाराष्ट्र के नेताओं से विचार..विमर्श नहीं किया . अगर हमसे विचार..विमर्श किया गया होता तो यह पार्टी हित में होता.. लगता है कि कांग्रेस ने लोकसभा और विधानसभा चुनावों से कुछ भी नहीं सीखा है .’’

 

राणे ने हाल में कांग्रेस नेतृत्व को पत्र लिखकर महाराष्ट्र इकाई में स्थिति पर चिंता जताई और कहा, ‘‘पत्र के बाद केंद्रीय नेताओं ने मुझसे संवाद नहीं किया .’’ राणे ने कहा, ‘‘नयी नियुक्तियों के बारे में घोषणा करने से पहले पार्टी को सोचना चाहिए था कि राज्य कांग्रेस में स्थिति को कौन संभाल सकता है .’’

 

उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री पृथ्वीराज चव्हाण और निवर्तमान राज्य इकाई के प्रमुख माणिकराव ठाकरे ने चुनावों को उस तरीके से नहीं संभाला जैसे उन्हें संभालना चाहिए था .

 

राणे ने कहा, ‘‘मैं निरूपम का विरोध इसलिए नहीं करता कि वह उत्तर भारतीय हैं . बहरहाल 2017 में मुंबई निगम चुनावों से पहले सावधानी बरतनी चाहिए थी कि क्या इस तरह की नियुक्तियां मुंबई में पार्टी की स्थिति को देखते हुए विचारणीय हैं.’’ राणे की टिप्पणी पर निरूपम ने कहा कि मराठा..गैर मराठा के मुद्दे को उछालने की जरूरत नहीं है.

 

उन्होंने कहा, ‘‘मैं जन्म से बिहारी हूं लेकिन ‘कर्म’ से मुंबई का हूं .’’ राणे की नाखुशी के बारे में पूछने पर अशोक चव्हाण ने कहा, ‘‘हम राणे का विचार जानने का प्रयास करेंगे . हम अपना काम करते हुए सभी को विश्वास में लेंगे .’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Unhappy Rane raps Congress high command over Maharashtra reshuffle
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017