Union_Budget_2015_LIVE

Union_Budget_2015_LIVE

By: | Updated: 28 Feb 2015 08:19 AM

नई दिल्ली: रिजर्व बैंक द्वारा मुख्य दरों में कटौती की गुंजाइश का जिक्र करते हुए वित्त मंत्री अरण जेटली ने कहा है कि खुदरा मुद्रास्फीति करीब पांच प्रतिशत रहने की उम्मीद है जिससे मौद्रिक नीति में नरमी का रास्ता साफ होगा.

 

वित्त मंत्री ने 2015-16 का आम बजट पेश करते हुए कहा, ‘‘सरकार मौद्रिक नीति का ऐसा ढांचा लागू करेगी जिससे यह सुनिश्चित होगा कि मुद्रास्फीति छह प्रतिशत से कम रहे.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मुद्रास्फीति पर हमारी विजय संस्थागत रहे और बरकरार रहे, यह सुनिश्चित करने के लिए हमने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) मौद्रिक नीति ढांचा समझौता किया है. इस ढांचे का लक्ष्य है मुद्रास्फीति को छह प्रतिशत से कम रखना और हम इस साल आरबीआई अधिनियम में संशोधन करेंगे और मौद्रिक नीति समिति की व्यवस्था करेंगे.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘मेरी सरकार की उपलब्धियों में से एक है मुद्रास्फीति पर विजय प्राप्त करना. मुद्रास्फीति में गिरावट से ढांचागत बदलाव की जरूरत होगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें उम्मीद है कि उपभोक्ता मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति इस साल के अंत तक करीब पांच प्रतिशत रहेगी. इससे मौद्रिक नीति को उदार बनाने में मदद मिलेगी.’’ पिछले बजट में वित्त मंत्री ने कहा था आधुनिक मौद्रिक नीति ढांचे की जरूरत है ताकि तेजी से जटिल होती अर्थव्यवस्था की चुनौती से मुकाबला किया जा सके.

 

उन्होंने कहा था कि सरकार इस ढांचे को लागू करने के लिए रिजर्व बैंक के साथ परामर्श कर रही है.

संबंधित खबरें-

आम बजट की 20 मुख्य बातें  

BUDGET 2015: जानें क्या-क्या चीजें हुई महंगी 



BUDGET 2015: नहीं आए 'अच्छे दिन', इनकम टैक्स में कोई बदलाव नहीं, होटल में खाना और बिल होगा महंगा  

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गृह मंत्रालय ने दिल्ली सरकार-मुख्य सचिव विवाद पर एलजी से मांगी रिपोर्ट