यूपी निकाय चुनाव 2017: कल आएंगे नतीजे, गुजरात को क्या संदेश देगी यूपी की जनता? | UP civic elections results 2017, It May be message for Gujarat in

यूपी निकाय चुनाव 2017: आज आएगा योगी की पहली परीक्षा का रिजल्ट, पास होंगे या फेल?

एक बड़ा सवाल ये भी है कि क्या यूपी के निकाय चुनाव परिणामों का असर गुजरात के चुनावों पर पड़ेगा? राजनीति के जानकार मानते हैं कि एक चुनाव के परिणाम, दूसरे चुनाव को प्रभावित करते ही हैं.

By: | Updated: 01 Dec 2017 06:21 AM
UP civic elections results 2017, It May be message for Gujarat in

नई दिल्ली: आज देश के सबसे बड़े राज्यों में से एक यूपी में हुए निकाय चुनाव के नतीजे आएंगे. सूबे में लोग इस बात को लेकर चर्चा गर्म है कि आखिर इन चुनावों में बाजी किस पार्टी के हाथ में रहने वाली है. हर शहर के हर चौराहे पर, हर नुक्कड़ पर चर्चा इसी बात की है. इसके साथ ही सोशल मीडिया में बातें भी इसी मुद्दे पर हो रही हैं. वहीं राजनीति के जानकार मानते हैं कि एक चुनाव के परिणाम, दूसरे चुनाव को प्रभावित करते ही हैं. अगर बीजेपी यूपी के निकाय चुनाव में जीत दर्ज कराती है तो गुजरात चुनावों में उसे इस बात का फायदा मिल सकता है.


नतीजे बताएंगे क्या है जनता का मूड


यूपी के इन चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस, आप और बीजेपी ने भरपूर जोर लगाया. नोटबंदी, जीएसटी को लेकर विपक्ष के निशाने पर रही बीजेपी कहां रहेगी ये भी देखने वाली बात होगी और साथ ही निगाहें इस पर भी रहेंगी कि आम आदमी पार्टी और कांग्रेस कहां रहने वाली हैं. एसपी, बीएसपी जो कभी इस मैदान के सबसे बड़े लड़ैया के तौर पर पहचाने जाते थे उनकी पोजीशन भी गौरतलब रहेगी.


योगी सरकार के काम पर लगेगी मुहर?


विधानसभा चुनाव में सबसे बड़ी पार्टी बन कर उभरी बीजेपी ने योगी आदित्यनाथ के हाथ में सत्ता सौंपी थीं. योगी आदित्यनाथ तभी से लगातार चर्चा में बने हुए हैं. उनका दावा है कि विकास बहुत हुआ है लेकिन विरोधियों का आरोप है कि सिर्फ रंग भगवा हुआ है. गाड़ी की सीटों से लेकर सरकारी बसों और ऑफिसों तक को भगवा रंग से रंग दिया गया है. योगी का दावा है कि अपराधी दूसरे प्रदेशों की जेलों में पनाह ले रहे हैं लेकिन रोजाना जारी होने वाले अपराध के आंकडे कुछ और कहानी कह रहे हैं. देखना होगा कि जनता योगी आदित्यनाथ पर भरोसा दिखाएगी? उनके कामों पर मुहर लगाएगी? या फिर निकाय चुनावों के परिणामों की कहानी कुछ और रंग लाएगी?


गुजरात चुनावों पर भी हो सकता है असर


एक बड़ा सवाल ये भी है कि क्या यूपी के निकाय चुनाव परिणामों का असर गुजरात के चुनावों पर पड़ेगा? राजनीति के जानकार मानते हैं कि एक चुनाव के परिणाम, दूसरे चुनाव को प्रभावित करते ही हैं. अगर बीजेपी यूपी के निकाय चुनाव में जीत दर्ज कराती है तो गुजरात चुनावों में उसे इस बात का फायदा मिल सकता है. लेकिन अगर बाजी उसके हाथ नहीं आई तो गुजरात चुनावों के नतीजों पर भी फर्क पड़ सकता है. शायद यही कारण है कि बीजेपी के तमाम कद्दावर नेता गुजरात में पसीना बहा रहे हैं और योगी सरकार के मंत्रियों ने भी निकाय चुनाव के लिए जम कर पसीना बहाया है.


मोदी सरकार के तीन साल कसौटी पर?


कसौटी पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के तीन साल भी हैं. देश ने बहुत उम्मीदों के साथ बागडोर उन्हें दी थी. अब तीन साल के बाद विरोधी इस सरकार को सूट-बूट की सरकार बता रहे हैं और पीएम खुद को प्रधानसेवक. तीन साल के बाद विपक्ष गले मिलने की नीति पर सवाल उठा रहा है तो सरकार हर सवाल का तोड़ और प्रतिप्रश्न भी उठा रही है. बीजेपी, कांग्रेस मुक्त भारत चाह रही है तो कांग्रेस, बीजेपी विरोधियों को एक करना चाह रही है. गौरक्षा से लेकर लव जेहाद तक पर सवाल हो रहे हैं और जनता इंतजार करती है पहले वोटिंग की तारीखों का और फिर नतीजों का. इस बार भी देखना ये होगा कि क्या जनता ने मोदी सरकार के तीन सालों पर मुहर लगाई है?


देशभर की निगाहें नतीजों पर टिकीं


हिमाचल प्रदेश के नतीजे भी ज्यादा दूर नहीं हैं और गुजरात में भी सियासी पारा चढ़ा हुआ है, ऐसे में यूपी पर सभी की निगाहें हैं कि यूपी के पिटारे से आखिर क्या निकलने वाला है. देश भर की मीडिया, सोशल मीडिया और राजनीतिक चिंतकों के बीच इसी बात पर चर्चा हो रही है कि आखिर कौन होगा विजेता? यूपी के निकाय चुनावों के परिणाम क्या रंग दिखाएंगे?

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: UP civic elections results 2017, It May be message for Gujarat in
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गुजरात चुनाव पर पाकिस्तान का बड़ा बयान, ‘हमें न घसीटो, अपने दम पर जीतो’