आना था डीडीएलजे जैसे अच्छे दिन लेकिन आ गया गब्बर: राहुल गांधी

By: एबीपी न्यूज | Last Updated: Friday, 17 February 2017 4:58 PM
आना था डीडीएलजे जैसे अच्छे दिन लेकिन आ गया गब्बर: राहुल गांधी

नई दिल्ली:  उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में आज पहली बार प्रियंका गांधी चुनाव के मैदान में नजर आयीं. प्रियंका गांधी ने अपने भाई और कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मंच साझा किया. यूपी में राहुल गांधी और अखिलेश यादव आज जो सुर मिला रहे हैं, इसकी स्क्रिप्ट लिखने में प्रियंका गांधी ने अहम भूमिका निभाई थी.

‘पीएम चोर को पैसा देते हैं’

राहुल गांधी ने कहा कि अमीरों को नहीं हम गरीबों-किसानों को पैसे देंगे. राहुल ने कहा कि विजय माल्या जैसे चोर को यह सरकार पैसा देती है. विजय माल्या शराब बेचता है. शराब बेचने वाले को पीएम मोदी पैसा देते हैं.

‘रिश्ता बोलने से नहीं निभाने से बनता है’

वो शाहरूख की फिल्म है दिलवाले दुलहनिया.. नाम सुना है आपने.. उसमें भी था अच्छे दिन आ गये… मोदी जी उस फिल्म की तरह ही 2014 में एक पिक्चर बनाए. उसी तर्ज पर अच्छे दिन का वादा करते हैं… सब कुछ ठीक हो जाएगा..हिन्दुस्तान साफ हो जाएगा..सबको रोजगार मिलेगा..महिलाएं खुश हो जाएंगी…किसानों के पास पानी आ जाएगा..दिलवाले दुलहनिया टाइप. ढाई साल बाद पता लगा कि शोले का गब्बर आ गया. जहां भी जाते हैं रिश्ता बनाते हैं..दोस्तों मित्रों..बनारस गये गंगा मां से कहा मैं बनारस का बेटा हूं गंगा मेरी मां है. 2014 में कहा बनारस को बदल दूंगा..मोदी जी रिश्ता बोलने से नहीं बनता है रिश्ता निभाने से बनता है.

नोटबंदी में अमीर लाइन में नहीं लगे

राहुल ने कहा कि नोटबंदी में अमीर लोग लाइन में खड़े नहीं हुए केवल गरीब लाइन में लगे रहे. इस विधानसभा चुनाव में पहली बार प्रियंका गांधी ने राहुल गांधी के साथ मंच साझा कीं. हालांकि प्रियंका ने इस रैली में कुछ भी नहीं कहा. सभी लोग उम्मीद कर रहे थे कि प्रियंका कुछ बोलेंगी लेकिन वह बस मंच साझा कीं कुछ बोलीं नहीं.

कर्ज माफी पर चुप हो जाते हैं पीएम

राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए कहा कि मोदी जहां जाते हैं रिश्ता बनाते हैं लेकिन काम नहीं करते. एक तरफ से मैंने कहा कि मोदीजी किसानों का कर्जा माफ करो. वे चुप खड़े रहे. कर्ज माफी के बारे में कुछ नहीं कहा. वे कहते हैं कि जैसे ही यूपी में बीजेपी की सरकार बनाओगे, हम कर्जा माफ कर देंगे. हमने 70 हजार करोड़ का कर्जा माफ कर दिया, लेकिन क्या उस समय यूपी में हमारी सरकार थी?

राहुल ने कहा कि हम फूड पार्क लगाना चाहते थे. हम अलग-अलग चीजों को बनाने वाली फैक्ट्रियां बनाना चाहते थे. यहां से माल पूरी दुनिया में जाता. मोदीजी मेक इन इंडिया की बात कर रहे हैं. लेकिन एक भी व्यक्ति को रोजगार नहीं मिला. मेक इन चाइना ही चल रहा है. देश का प्रधानमंत्री पूरा पैसा 50 परिवारों को देता है. उन्होंने आपसे काफी कुछ छीना.

प्रियंका गांधी की पहल पर ही गठबंधन हुआ था

एबीपी न्यूज ने आपको बताया था कि सीटों को लेकर जब समाजवादी पार्टी और कांग्रेस में पेंच फंसा था, तब प्रियंका की पहल पर ही गठबंधन हुआ था. प्रियंका ने गठबंधन तो करा दिया लेकिन खुद अभी तक चुनाव प्रचार करने नहीं आई थीं. आज अपने भाई राहुल गांधी के साथ प्रियंका रायबरेली में दो सभाएं कीं.

यह भी पढ़ें : स्मृति ईरानी ने साधा प्रियंका गांधी पर निशाना, अखिलेश को भी लिया आड़े हाथों

यह भी पढ़ें : यूपी: ओवैसी का मोदी-अखिलेश पर हमला, दोनों का बताया एक सिक्के के दो पहलू

First Published: Friday, 17 February 2017 4:18 PM

Related Stories