यूपी पुलिस को है अपने बॉस का इंतजार, कब आएंगे साहेब? | UP Police waiting for new DGP to join his office

यूपी पुलिस को है अपने बॉस का इंतजार, कब आएंगे साहेब?

सूत्रों की माने तो नियमों के मुताबिक़ यूपी सरकार को चिट्ठी पीएमओ के बदले केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजना चाहिए था.

By: | Updated: 11 Jan 2018 07:13 PM
UP Police waiting for new DGP to join his office

लखनऊ: पहली जनवरी से ही यूपी में पुलिस महानिदेशक की कुर्सी अपने नए बॉस का इंतजार कर रही है. उत्तर प्रदेश के सत्ता के गलियारों में यही सबसे बड़ा सवाल है कि डीजीपी साहेब कब ज्वाइन करेंगे? तारीख पर तारीख बढ़ती जा रही है लेकिन नए डीजीपी कब आएंगे, इसका जवाब किसी के पास नहीं है. ऐसे में जितनी मुंह, उतनी ही बातें वाली हालत है.


यूपी की योगी सरकार ने ओम प्रकाश सिंह को नया डीजीपी बनाया है. वे अभी डेपुटेशन पर केंद्र में तैनात हैं. 1983  बैच के आईपीएस अफसर ओपी सिंह अभी बीएसएफ के डीजी हैं. इससे पहले वे एनडीआरएफ के भी डीजी रह चुके हैं. 31 दिसंबर की रात को यूपी सरकार ने उन्हें डीजीपी बनाये जाने का प्रस्ताव प्रधानमंत्री कार्यालय यानी पीएमओ को भेज दिया था. राज्य के चीफ सेक्रेट्री, प्रमुख गृह सचिव और सीएम के प्रिंसिपल सेक्रेटरी की मीटिंग में ओपी सिंह के नाम पर मुहर लगी थी.


सूत्रों की माने तो नियमों के मुताबिक़ यूपी सरकार को चिट्ठी पीएमओ के बदले केंद्रीय गृह मंत्रालय को भेजना चाहिए था. पहले बताया गया कि ओपी सिंह 2 जनवरी को अपना चार्ज ले लेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ. इसके बाद बात 3 जनवरी और 4 जनवरी तक पहुंच गयी लेकिन ओपी सिंह लखनऊ नहीं आए.


7 और 8 जनवरी को एमपी के टेकनपुर में देश भर के डीजीपी की मीटिंग थी. पीएम नरेंद्र मोदी भी यहां पहुंचे थे. यूपी के पुलिस विभाग ने बताया कि ओपी सिंह भी उसी मीटिंग में गए हैं और उसके तुरंत बाद वे डीजीपी की कुर्सी संभाल लेंगे लेकिन अब भी उनका इंतजार ही हो रहा है.


अब इसे लेकर कई तरह की बातें भी होने लगी हैं. कोई कह रहा है उनकी फाइल फंस गयी है तो किसी ने बताया मायावती गेस्ट हाऊस कांड ने उनका रास्ता रोक दिया है. एक खबर ये भी आई कि खरमास ख़त्म होने के बाद ओपी सिंह डीजीपी का काम संभालेंगे.


पिछले दस बारह दिनों से यूपी पुलिस बिना अपने मुखिया के काम कर रहा है. कई सरकारी काम डीजीपी के ना होने से अटके हुए हैं. पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने चुटकी  लेते हुए कहा कि " सुना है नोएडा जानेवाले सीएम के डीजीपी इसीलिए नहीं आ रहे हैं क्योंकि अच्छे दिन नहीं हैं अभी और यूपी बिना डीजीपी के ही चल रहा है." राज्य में ऐसा पहली बार हुआ है कि नाम के एलान के बाद भी पुलिस के मुखिया ने अपनी कुर्सी नहीं संभाली है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: UP Police waiting for new DGP to join his office
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story 2G घोटाले पर ए राजा ने लिखी किताब, मनमोहन और पूर्व CAG विनोद राय को लेकर किए कई खुलासे