बरेली में दारोगा भर्ती की दौड़ में आए उम्मीदवार की मौत, 4 अगस्त से अब तक 30 परीक्षार्थी हो चुके हैं बीमार

By: | Last Updated: Thursday, 14 August 2014 11:25 AM
up police_candidate death

नई दिल्ली : यूपी में पुलिस भर्ती के लिए हो रही परीक्षा पर सवाल उठ रहे हैं. बरेली में पुलिस भर्ती परीक्षा के दौरान एक युवक की मौत हो गई है.

 

मुजफ्फरनगर का रहने वाला नितिन दारोगा के लिए हो रही भर्ती परीक्षा देने बरेली आया था. दस किलोमीटर लंबी दौड़ के दौरान अचानक नितिन को खून की उल्टिंया हुई और बाद में अस्पताल में उसकी मौत हो गई. भर्ती के दौरान चार अगस्त से अब तक 30 युवक बेहोश हो चुके हैं. परीक्षा के लिए बरेली आए युवकों के मुताबिक पुलिस लाइन में जमकर लापरवाही हो रही है. कड़ी धूप में युवकों को दस किलोमीटर दौड़ाया जा रहा है.

 

नौकरी की दौड़ में ‘मौत’से मिली मात. आंखों में सपना नौकरी का था. तमन्ना बदन पर खाकी और कंधे पर दो स्टार सजाने की. यही आस लेकर नितिन दारोगा भर्ती में शामिल होने बरेली पहुंचा और बारी दौड़ की आई तो पूरी जान लगाकर दौड़ा मगर अफसोस. नौकरी की दौड़ में अचानक ‘मौत’ बाधा बनकर आ खड़ी हुई.

 

मुजफ्फरनगर के खरड़ गांव का रहने वाले नितिन ने छह किलोमीटर की दौड़ तय वक्त में पूरी कर ली थी. चार किमी का फासला दूर था, लेकिन उससे पहले ही नितिन की सांस उखड़ गई. खून की उल्टियां करने लगा और मैदान में ही बेसुध होकर गिर गया. आनन-फानन में उसे इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां देर रात उसकी सांसें थम गईं. नितिन के पिता नरेश किसान हैं, लेकिन उसका सपना हमेशा से ही ‘खाकी’ पहनने का रहा.

 

 

इसी को लेकर काफी समय से तैयारी कर रहा था. जब दारोगा भर्ती पर कोर्ट ने रोक हटाई तो खुशी का ठिकाना न रहा. बुधवार को उसकी दौड़ प्रस्तावित थी, जिसके चलते वह सुबह ही पुलिस लाइंस मैदान में पहुंच गया. ठीक 10 बजे नितिन अपना सपना साकार करने के लिए ट्रैक पर उतर गया.

 

जोश से लबरेज होकर उसने तय वक्त से पहले निर्धारित 10 किलोमीटर में छह किमी का फेरा पूरा भी कर लिया. नौकरी दौड़ में सफलता का दूसरा पायदान पार करने के लिए महज चार किलोमीटर की दूरी तय करना बाकी थी , लेकिन कुदरत को कुछ और ही मंजूर था. अचानक नितिन की सांस उखड़ने लगी लेकिन उसने दौड़ना बंद नहीं किया.

 

 

कुछ कदम ही आगे बढ़ा था खून की उल्टियां होने लगी और बेहोश होकर गिर पड़ा. पास खड़े पुलिस कर्मियों ने 108 एम्बुलेंस से उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया.  लेकिन हालत गंभीर होने के वजह से उसे निजी अस्प्ताल में भर्ती कराया गया जहां देर रात उसकी मौत हो गई. नितिन को एक छोटा बच्चा है और उसकी पत्नी गर्भवती है.

 

वही भर्ती के लिए पश्चिमी यूपी के अलग-अलग जिले के अभ्यर्थीयों की मानें तो पुलिस लाइन में जमकर लापरवाही हो रही है . सुबह 6 बजे के बैच को 9 बजे कड़ाके की गर्मी में दस किलो मीटर की दौड़ कराई जा रही है जिस वजह से रोजाना औषतन 5 अभ्यर्थी बेहोश हो जा रहे हैं . 4 अगस्त से शुरू हुई एसआई की भर्ती प्रक्रिया अब तक करीब तीस अभ्यर्थी बेहोश हो चुके है जिन्हे अस्पताल में भर्ती करना पड़ा है . इसी वजह से मुज्जफ्फरनगर के नितिन की भी मौत हुई है . पूरे यूपी में 5 सेंटर बनाये गए है .

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: up police_candidate death
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017