आज राजनाथ-योगी दिखाएंगे लखनऊ मेट्रो को हरी झंडी, अखिलेश का तंज़- इंजन तो पहले ही चला दिया था

आज राजनाथ-योगी दिखाएंगे लखनऊ मेट्रो को हरी झंडी, अखिलेश का तंज़- इंजन तो पहले ही चला दिया था

मेट्रो के अधिकारियों के मुताबिक़, मार्च 2019 तक मेट्रो का पूरा काम कर लिया जाएगा. अंडरग्राउंड के लिए खुदाई चल रही है. एक ट्रेन में क़रीब 1100 लोग एक बार में सफ़र कर सकते हैं.

By: | Updated: 05 Sep 2017 08:25 AM

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज से मेट्रो ट्रेन शुरू हो जाएगी. इसकी शुरूआत आज दोपहर बारह बजे केंद्रीय गृह मंत्री और लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ करेंगे, लेकिन मेट्रो की शुरुआत से पहले पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी इसका श्रेय लेने की होड़ में कूद पड़े हैं.


अखिलेश यादव ने कल कई तस्वीरें ट्वीट कर कहा, ‘’इंजन तो पहले ही चल दिया था. डिब्बे तो पीछे आने ही थे.’’


 


लखनऊ मेट्रो पूर्व सीएम अखिलेश यादव का ड्रीम प्रोजेक्ट था. इसके ट्रायल रन को वो हरी झंडी भी दिखा चुके है, लेकिन अब योगी सरकार इसे जनता के लिए शुरू कर देगी. हालांकि अभी ये ट्रेन सिर्फ आठ किलोमीटर का सफर करेगी, लेकिन लखनऊ की एक बड़ी आबादी को सफर के लिए बेहद सुविधा होगी.


यूपी मे समाजवादी सरकार बनने के क़रीब डेढ़ साल बाद अखिलेश यादव ने लखनऊ में मेट्रो चलाने की योजना बनायी और दिसम्बर साल 2013 को लखनऊ मेट्रो रेल कारपोरेशन बनाया गया. लखनऊ में क़रीब 23 किलोमीटर में मेट्रो चालने की रूपरेखा बनायी गयी, जो लखनऊ के ऐयरपोर्ट से मुंशीपुलिया इलाक़े तक चलनी है. इसके बीच में कृष्णानगर, आलमबाग़, चारबाग़, हज़रतगंज, इंदिरनगर हैं.


इस मेट्रो का प्रोजेक्ट 6880 करोड़ रुपए का है. मेट्रो के अधिकारियों के मुताबिक़, मार्च 2019 तक मेट्रो का पूरा काम कर लिया जाएगा. अंडरग्राउंड के लिए खुदाई चल रही है. एक ट्रेन में क़रीब 1100 लोग एक बार में सफ़र कर सकते हैं.

भारत से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर,गूगल प्लस, पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App
Web Title: आज राजनाथ-योगी दिखाएंगे लखनऊ मेट्रो को हरी झंडी, अखिलेश का तंज़- इंजन तो पहले ही चला दिया था
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार

First Published:
Next Story MEME पर परेश रावल ने खोया आपा, 'Chai-Wala से Bar-Wala बेहतर है'