यूपी उपचुनाव में जोर-आजमाइश का आधार बनी ‘मोदी लहर’

By: | Last Updated: Wednesday, 10 September 2014 7:50 AM
up_by-election_modi_lahar

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की 11 विधानसभा तथा एक लोकसभा सीट के उपचुनाव मुख्य रूप से ‘मोदी लहर’ को जोरदार और कमजोर साबित करने की कोशिशों के गिर्द घूम रहे हैं. इस लहर के सहारे लोकसभा चुनाव में अपनी सबसे बड़ी जीत हासिल करने वाली बीजेपी  एक बार फिर उसी के बल पर अपना दबदबा साबित करना चाहती है. वहीं, समाजवादी पार्टी और कांग्रेस की नजर बीजेपी  के इस सबसे बड़े हथियार की धार कुंद करके एक तीर से दो निशाने लगाने पर है.

 

लोकसभा चुनाव में अप्रत्याशित जीत और बिहार तथा उत्तराखण्ड में हाल में हुए उपचुनाव में अनुकूल परिणाम नहीं आने के बाद अब बीजेपी  का पूरा ध्यान उत्तर प्रदेश के उपचुनावों पर टिक गया है और वह लोकसभा चुनाव में परवान चढ़ चुके मोदी फैक्टर को मुख्य केन्द्र बनाकर बेहद आक्रामक अंदाज में प्रचार कर रही है.

 

दूसरी ओर, लोकसभा चुनाव में करारा झटका पायी सत्तारूढ़ एसपी तथा कांग्रेस ‘मोदी फैक्टर’ को एक छलावा मात्र साबित करने की कोशिश करते हुए इसके लिये मोदी सरकार के 100 दिन के कार्यकाल को नाकामियों से भरा बताकर मोदी लहर को भ्रमजाल करार दे रही हैं.

 

राजनीतिक विश्लेषकों के मुताबिक अपने विधायकों के सांसद बनने के कारण रिक्त हुई सीटों को दोबारा हासिल करने के लिये बढ़-चढ़कर चुनाव प्रचार कर रही बीजेपी  के लिये ‘मोदी फैक्टर’ उसके मनोबल का आधार है. हालांकि यह उसके लिये शेर की सवारी करने जैसा है, क्योंकि मोदी लहर के जादू को भुनाना उसके लिये चुनौती भी है.

 

उपचुनाव प्रचार में खासकर बीजेपी  और एसपी के बीच जबर्दस्त होड़ हो रही है. बीजेपी  ने प्रचार के मैदान में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के अलावा राजनाथ सिंह समेत छह केन्द्रीय मंत्रियों की अगुवाई में 39 स्टार प्रचारकों की फौज उतारी है, वहीं एसपी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने उपचुनाव प्रचार की कमान खुद सम्भाली है. किसी उपचुनाव में सम्भवत: ऐसा पहली बार हुआ है.

 

बीजेपी  प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक का कहना है कि हर मोर्चे पर विफल साबित हुई प्रदेश की अखिलेश यादव सरकार अब बीजेपी  की घेराबंदी की वजह से बैकफुट पर है. पाठक ने आरोप लगाया कि सरकार ने दुर्भावनापूर्ण तरीके से बिजली कटौती करके जनता को परेशान कर रखा है और जब बीजेपी  ने आक्रामक होकर घेराबंदी की तो उसने केन्द्र पर आरोप लगाने शुरू कर दिये.

 

उन्होंने कहा ‘‘उपचुनाव के मुद्दे पर हम जनता से कहेंगे कि यह सरकार अलोकप्रिय हो चुकी है, दिन प्रतिदिन उसका ग्राफ गिर रहा है, और स्वाभाविक है कि जो उसके खिलाफ संघर्ष करेगा, जनता उसके साथ होगी.’’ पाठक ने कहा कि उपचुनावों में बीजेपी  को अपने प्रति बेहतर नतीजे मिलने की उम्मीद है. विधानसभा में हमारी संख्या ज्यादा नहीं है लेकिन फिर भी हम इन उपचुनाव को फतह के जरिये मनोबल की लड़ाई जीतना चाहते हैं.

 

एसपी  के प्रान्तीय प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी के मुताबिक उनकी पार्टी मोदी सरकार की वादाखिलाफी और नाकामियों को जनता के बीच शिद्दत से रखने की कोशिश कर रही है. बीजेपी  प्रदेश में साम्प्रदायिक माहौल बनाकर जीत हासिल करना चाहती है लेकिन सपा उसके मंसूबे को पूरा नहीं होने देगी.

 

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में बीजेपी  ने भ्रमजाल में जनता को उलझाकर सत्ता हथिया ली लेकिन अब गुबार छंट चुका है और उपचुनाव में हालात बदले हुए नजर आएंगे.

 

मालूम हो कि वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में प्रदेश की ठाकुरद्वारा, सहारनपुर, चरखारी, बिजनौर, हमीरपुर, लखनउ पूर्वी, सिराथू, खीरी, बलहा और नोएडा समेत 11 विधानसभा सीटों पर चुने गये बीजेपी  के विधायक अब सांसद बन चुके हैं . लिहाजा इन सीटों पर 13 सितम्बर को उपचुनाव होना है. इसी तिथि को बीजेपी  के सहयोगी अपना दल की विधायक अनुप्रिया पटेल के सांसद बनने के कारण रिक्त हुई रोहनिया सीट के लिये भी उपचुनाव होगा. साथ ही एसपी प्रमुख मुलायम सिंह यादव द्वारा छोड़ी गयी मैनपुरी लोकसभा सीट के लिये भी 13 सितम्बर को ही चुनाव होने हैं.

 

पिछले करीब 13 साल से उत्तर प्रदेश की सत्ता से दूर बीजेपी  लोकसभा चुनाव में अपने बूते सूबे की 71 सीटें जीतने के बाद बेहद उत्साहित है और वह बिजली संकट तथा कानून-व्यवस्था के मुद्दे को लेकर सरकार पर हमले करके अपने लिये नयी सम्भावनाएं तलाश रही है. यही वजह है कि इस मामलों को लेकर उसके नेता तथा कार्यकर्ता सड़कों पर उतरे, और अब वे इन्हें मुख्य चुनावी मुद्दे के तौर पर जनता के सामने उठा रहे हैं.

 

प्रदेश विधानसभा में मुख्य विपक्षी बहुजन समाज पार्टी  के लोकसभा चुनाव में सफाये के बाद बीजेपी  को लग रहा है कि बैठे-बैठाये हाथ लगे बिजली संकट और कानून-व्यवस्था के मुद्दों पर सरकार को घेरकर वह विधानसभा क्षेत्रों में भी जनता का विश्वास जीत उसकी नजर में सबसे बड़ी हमदर्द की भूमिका में आ सकती है.

 

इन उपचुनाव में बीजेपी  की तरफ से मुस्लिम तुष्टीकरण और परोक्ष रूप से तथाकथित ‘लव जेहाद’ के मुद्दों की गूंज भी सुनायी दे रही है.

 

लोकसभा चुनाव में 80 में से सिर्फ अपने कुनबे की पांच सीटें ही बचा सकी एसपीआगामी उपचुनावों को प्रतिष्ठा बचाने के आखिरी मौके के तौर पर देख रही है. शायद यही वजह है कि पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने खुद उपचुनाव प्रचार की कमान सम्भाली है और उनकी अगुवाई में सपा बीजेपी  पर हमलावर है. एसपी, बीजेपी  के तुरुप यानी प्रधानमंत्री मोदी और उनकी सरकार पर ही लगातार निशाना साध रही है.

 

कांग्रेस ने भी पूर्व मंत्रियों सलमान खुर्शीद, बेनी प्रसाद वर्मा, श्रीप्रकाश जायसवाल समेत 36 नेताओं को स्टार प्रचारक घोषित किया है. हालांकि प्रचार के मामले में उसके नेता बीजेपी  और सपा से पीछे नजर आ रहे हैं.

 

प्रदेश की एक और अहम राजनीतिक ताकत बीएसपी ने इन उपचुनाव से किनारा कर लिया है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: up_by-election_modi_lahar
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017