जम्मू-कश्मीर में 5 आतंकी हमले, आठ अतंकी मारे गए, बारह जवान शहीद

By: | Last Updated: Friday, 5 December 2014 2:55 PM
uri encounter and army action

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में चुनाव हो रहे हैं, दो चरण की वोटिंग हो भी चुकी है और तीसरे चरण के लिए नौ दिसंबर को वोट डाले जाने हैं लेकिन इससे पहले घाटी में आतंकी हमले एकाएक बढ़ गए हैं. जम्मू कश्मीर में आज एक के बाद एक 5 आतंकी हमले हुए हैं. सेना के जवान अब तक 8 आतंकियों को ढेर करने में कामयाब रहे हैं, वहीं इस हमले में 12 जवान को अपनी शहादत देने पड़ी है.

 

सवाल उठ रहा है कि क्या आंतकी चुनाव में जबरदस्त वोटिंग से बौखलाकर हताशा में ये कार्रवाई कर रहे हैं. जहां हमले हुए हैं वहां 9 दिसंबर को मतदान होने वाले हैं.

 

इन हमलों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सेना प्रमुख ने मुलाकात की है.

 

उरी में हमला

 

जम्मू-कश्मीर में उरी के मोहरा कैंप के पास भारतीय जवानों ने आतंकियों से जमकर लोहा लिया. पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का सेना मुंहतोड़ जवाब देने में लगी है. जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने 13 घंटे के भीतर चार आतंकी हमले को अंजाम देकर हड़कंप मचा दिया. जम्मू-कश्मीर मे कुछ दिन पहले है एक चुनावी रैल में पीएम मोदी ने चुनाव में जबरदस्त वोटिंग से आतंकियों के बौखलाहट की बात कही थी.

 

सवाल उठ रहे हैं क्या सूबे में चल रहे हैं चुनाव में बाधा डालने के लिए आतंकी हमले किये जा रहे हैं.

 

आतंकियों के इस हमले को केंद्रीय राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह भी हताशा में की गई कार्रवाई करार दे रहे हैं.

 

आज सुबह पौ फटने से करीब एक घंटे पहले 3 बजकर 10 मिनट पर आंतकियों ने उरी में 31 फील्ड रेजिमेंट के कैंप पर हमला बोल दिया. इसमें सेना के एक लेफ्टिनेंट कर्नल और एक जेसीओ समेत 12 जवानों को शहादत देनी पड़ी. वहीं हिन्दुस्तान का सीना छलनी करने के मकसद से आए 6 आतंकियों को सेना ने मार गिराया.

 

सेना के उरी कैंप में मारे गए 6 आतंकी विदेशी मूल के थे. इन आतंकियों के पास से 6 एक-47, 32 ग्रेनेड, 56 मैगजीन, 2 छोटी गन, 2 नाइट विजिन बाइनोक्यूलर्स बरामद हुए हैं. सेना के सूत्रों के मुताबिक ये सभी फिदाईन आतंकी लश्कर, जैश-ए-मोहम्मद और अल-बद्र के हैं.

 

सौरा में हमला

 

सेना उरी में आंतकियों को नेस्तानाबूद करने में जुटी ही थी तभी दोपहर होते-होते खबर मिली की श्रीनगर के सौरा में कुछ आतंकी एक घर में छिपे हुए हैं. सेना वहां एक आंतकी को ढेर करने में कामयाब रही.

 

सोपियां और पुलवामा में हमले

 

उरी और सौरा में सेना का ऑपरेशन चल ही रहा था कि इसी बीच आंतकियों ने सोपियां में एक पुलिस थाने में ग्रेनेड से अटैक कर दिया. हालांकि इस हमले में कोई घायल नहीं हुआ. वहीं पुलवामा के त्राल में भी चुनावी प्रचार के दौरान ग्रेनेड हमला हुआ जिसमें 7 नागरिक जख्मी हो गए.

 

जम्मू-कश्मीर में आंतकियों के इतने बड़े हमले से हिन्दुस्तान की सियासत में भूचाल आ गया. विपक्ष अब बीजेपी के उन वादों को याद दिलाने में जुटा है जिसमें पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कही गई थी.

 

अब समूचा विपक्ष पूछ रहा कि बीजेपी के इस वादे का क्या हुआ?

 

मोदी सरकार में ज्यादा हमले

 

खास बात है कि पिछले साल की तुलना में इस साल जम्मू कश्मीर में आतंकी हमले ज्यादा हुए हैं. पिछले साल सुरक्षाबलों ने कुल 65 आतंकियों को मार गिराया था जबकि इस साल अबतक सुरक्षा बलों ने 103 आतंकियों को मार गिराया है.

 

पिछले साल आतंकी हमले में 50 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे जबकि इस साल 31 जवान शहीद हुए हैं.

 

उरी और बारामुला की कई विधानसभा सीटों पर अगले चरण में 9 दिसंबर को चुनाव होने हैं. चुनाव में बाधा पहुंचाने के मकसद से पाकिस्तान की तरफ से इस तरह की घुसपैठ की लगातर कोशिश हो रही है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: uri encounter and army action
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017