गोरखपुर: BRD हॉस्पिटल में नहीं रुक रहा मौत का सिलसिला, बीते 72 घंटों में 61 बच्चों की मौत

गोरखपुर: BRD हॉस्पिटल में नहीं रुक रहा मौत का सिलसिला, बीते 72 घंटों में 61 बच्चों की मौत

गोरखपुर के इसी अस्तपाल में 10 से 12 अगस्त के बीच ऑक्सीजन की कमी होने से 36 बच्चों की मौत हो गई थी. हालांकि राज्य सरकार इस बात से इनकार करती आई है.

By: | Updated: 30 Aug 2017 01:58 PM

फाइल फोटो

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत का सि‍लसिला थमता नज़र नहीं आ रहा है. इस मेडिकल कॉलेज में बीते 48 घंटों में 42 बच्चों की मौत हो चुकी है. हालांकि मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ पीके सिंह के मुताबिक इस मौसम में यहां हर साल ऐसे ही हालात रहते हैं.


पिछले 72 घंटों में बीआरडी में भर्ती बच्चों में से 61 की मृत्यु हो चुकी है. 27 अगस्त को 17 और 28 अगस्त को 25 बच्चों की मौत हुई थी. देर रात 6 और बच्चों की मौत हो गई, जिसमें इंसेफेलाइटिस से 7, एनआईसीयू में 10 और अन्य बीमारियों से ग्रस्त 8 बच्चे थे.

ऐसे में 27 अगस्त को 17, 28 अगस्त को 25 और 29 अगस्त को 19 बच्चों की मौत हुई है. इस तरह 72 घंटों में मरने वाले बच्चों का आंकड़ा 61 तक जा पहुंचा है. इसमें इंसेफ्लाइटिस, नियोनेटल और अन्य बीमारियों से मरने वाले बच्चों की संख्या शामिल है.

27 और 28 अगस्त के दौरान 48 घंटे में 42 बच्चों की मौत 


गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में इलाज़ के लिए आने वाले बच्चों की मौत के आंकड़े चौंकाने वाले हैं. कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ पीके सिंह खुद बताते हैं, ‘’बीआरडी अस्पताल में 27 और 28 अगस्त के दौरान 48 घंटे में 42 बच्चों की मौत हो चुकी है. इनमें सात बच्चों की मौत इंसेफेलाइटिस  यानी दिमागी बुखार से हुई है.’’


अस्पताल में बड़ी संख्या में बीमार बच्चे आ रहे हैं


डॉ पीके सिंह के मुताबिक, इन दिनों अस्पताल में बड़ी संख्या में बीमार बच्चे आ रहे हैं. उनका कहना है कि अस्पताल में इस वक्त ऑक्सीजन और दवाओं की कोई कमी नहीं है. लेकिन कई बच्चों की सेहत अस्पताल आने तक इतनी बिगड़ चुकी होती है कि डॉक्टर पूरी कोशिश के बावजूद उन्हें बचा नहीं पा रहे. डॉक्टर पीके सिंह के मुताबिक, गोरखपुर में जुलाई, अगस्त और सितंबर के महीनों में हर साल हालात इतने ही खराब होते हैं.


देश के लिए चिंता की बात


48 घंटे में 42 बच्चों की मौत अगर किसी अस्पताल के लिए एक सामान्य आंकड़ा बन जाए और वो भी साल-दर साल, तो ये न सिर्फ उस अस्पताल और यूपी सरकार के लिए बल्कि पूरे देश के लिए चिंता की बड़ी वजह होनी चाहिए.


पूर्व प्रिंसिपल और उनकी पत्नी को हिरासत में

बीआरडी कॉलेज गोरखपुर के पूर्व प्रिंसिपल और उनकी पत्नी को बच्चों की मौत के मामले में मंगलवार को यूपी स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने पूछताछ के लिए कानपुर से हिरासत में लिया. इस महीने की शुरूआत में मेडिकल कालेज में 48 घंटे में 60 बच्चों की मौत के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेठी गठित की थी, जिसकी रिपोर्ट के बाद इस मामले में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी और इन दोनों का नाम इसमें था.

बता दें कि गोरखपुर के इसी अस्तपाल में 10 से 12 अगस्त के बीच ऑक्सीजन की कमी होने से 36 बच्चों की मौत हो गई थी. हालांकि राज्य सरकार इस बात से इनकार करती आई है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story राज्य सभा चुनाव: बंगाल से जया बच्चन का नाम अभी फाइनल नहीं?