गाजियाबाद: प्रेसिडियम स्कूल ने सालाना फीस का विरोध करने पर 45 बच्चों को निकाला

गाजियाबाद: प्रेसिडियम स्कूल ने सालाना फीस का विरोध करने पर 45 बच्चों को निकाला

स्कूल से बीच सेशन में निकाले गए बच्चों के मां-बाप का कहना है कि अगर उनकी कहीं सुनवाई नहीं हुई तो मजबूरन उन्हें आमरण अनशन पर बैठना पड़ेगा.

By: | Updated: 11 Sep 2017 09:38 AM

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक मशहूर स्कूल पर मनमानी का आरोप लगा है. इंदिरापुरम के प्रेसिडियम स्कूल पर 45 बच्चों को बीच सेशन में निकालकर उनके भविष्य से खिलवाड़ करने का आरोप लगा है. इन बच्चों के माता-पिता पिछले एक हफ्ते से स्कूल के सामने धरने पर बैठे हैं.


बच्चों के माता पिता का आरोप है कि स्कूल प्रशासन ने बीच सेशन में 45 बच्चों को बाहर करके उन्हें ट्रांसफर सर्टिफिकेट पकड़ा दिए. वो भी सिर्फ इसलिए क्योंकि उनके मां-बाप ने सालाना फीस के नाम पर होने वाली स्कूल की मनमानी वसूली का विरोध किया था.


gaziyabaad 02


अभिभावकों का कहना है कि वो पिछले 7 दिनों से लगातार यहां धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन उनकी परेशानी सुनने वाला कोई नहीं है. वो स्कूल प्रशासन से लेकर योगी और मोदी सरकार तक, हर जगह गुहार लगा चुके हैं, लेकिन किसी ने मदद का हाथ नहीं बढ़ाया.


स्कूल से बीच सेशन में निकाले गए बच्चों के मां-बाप का कहना है कि अगर उनकी कहीं सुनवाई नहीं हुई तो मजबूरन उन्हें आमरण अनशन पर बैठना पड़ेगा.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ के खेल में फंस गयी है कांग्रेस, 18 दिसंबर को देखेगी आखिरी एपिसोड: पीएम मोदी