विदर्भ: किसानों की आत्महत्या को लेकर शिवसेना ने बीजेपी पर हमला किया

By: | Last Updated: Friday, 30 January 2015 7:55 AM
vidarbh: shiv sena attacks bjp on farmer suicide

मुंबई: शिवसेना ने अपने सहयोगी बीजेपी पर हमला करते हुए आज कहा कि एक ओर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री कारोबारी समझौते करने और राज्य के लिए निवेश जुटाने में व्यस्त हैं वहीं दूसरी ओर यह ‘हृदय विदारक’ है कि विदर्भ में कर्ज से दबे किसान आत्महत्या कर रहे हैं. पार्टी ने आरोप लगाया है कि बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार लोगों की आकांक्षाएं पूरी करने में नाकाम रही है.

 

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में आज में कहा, ‘‘नए मुख्यमंत्री (देवेन्द्र फडणवीस) विदर्भ के हैं इसलिए उम्मीद जगी थी कि उस क्षेत्र के किसानों को नया जीवन मिलेगा. लेकिन उल्टा हो रहा है. मुख्यमंत्री दावोस में निवेशकों के लिए पलक पांवड़े बिछाने में व्यस्त थे, वहीं यहां किसान आत्महत्या कर रहे थे क्योंकि उनके पास सूदखोरों को देने के लिए पैसा नहीं है. ऐसी घटनाएं हृदय विदारक हैं.’’

 

संपादकीय में कहा गया कि सभी ने सोचा था कि नई सरकार कर्ज का भुगतान न करने, सूखे की स्थितियों और फसल खराब होने से हुए नुकसान के कारण होने वाली किसानों की आत्महत्याओं को रोकने में सफल होगी. संपादकीय के अनुसार, ‘‘लेकिन राज्य की वर्तमान स्थिति तो बिल्कुल ही उलटी प्रतीत हो रही है. यवतमाल जिले में (बुधवार को) चार किसानों ने और चंद्रपुर जिले में एक किसान ने आत्महत्या की. पिछले एक माह में ऐसे मामलों की संख्या में हुई वृद्धि चौंकाने वाली है.’’

 

राज्य के राजस्व मंत्री एकनाथ खडसे ने कथित तौर पर कहा था कि अगर किसान अपने मोबाइल फोन के बिल चुका सकते हैं तो वे बिजली का बिल भी भुगतान कर सकते हैं. इस टिप्पणी के लिए राजस्व मंत्री पर परोक्ष हमला करते हुए शिवसेना ने कहा, ‘‘वे कर्ज से बेहाल हैं. जो किसान आत्महत्या कर रहे हैं उनके पास मोबाइल फोन भी नहीं है. इसलिए कोई ये नहीं पूछ पाएगा कि जब वो मोबाइल फोन के बिल अदा कर सकते हैं तो बिजली के बिना का भुगतान क्यों नहीं कर सकते.’’

 

शिवसेना ने सवाल पूछा, ‘‘चुनाव के मौसम में किसानों से बदलाव के वादों की झड़ी लगा दी गई. उन वादों का क्या हुआ? उन वादों को पूरा करने के लिए अब कौन जिम्मेदार है?’’ मुखपत्र में कहा गया है, ‘‘मुख्यमंत्री और राजस्व मंत्री दोनों ही विदर्भ क्षेत्र से आते हैं. फिर किसान क्यों मर रहे हैं? उनके पास अपनी जान लेने के लिए जहर खरीदने तक का पैसा नहीं है. क्या यह एक अच्छी सरकार का संकेत है? एक मंत्री ने विदर्भ को शराब मुक्त क्षेत्र घोषित किया था. सरकार को यह सुनिश्चित करने की जरूरत है कि क्षेत्र आत्महत्या मुक्त बने.’’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: vidarbh: shiv sena attacks bjp on farmer suicide
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017