गृहमंत्री राजनाथ सिंह के एक रीट्वीट से नौकरी खोने वाली लड़की का वायरल सच

गृहमंत्री राजनाथ सिंह के एक रीट्वीट से नौकरी खोने वाली लड़की का वायरल सच

राजनाथ सिंह ने लिखा, ''कश्मीर के लोगों ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की कड़ी आलोचना की है. ये बात साबित करती है कि कश्मीरियत मजबूती से जिंदा है.''

By: | Updated: 12 Jul 2017 11:34 PM

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर हर रोई कई फोटो, वीडियो और मैसेज वायरल होते हैं. वायरल हो रहे इन फोटो, वीडियो और मैसेज के जरिए कई चौंकाने वाले दावे भी किए जाते हैं. ऐसा ही एक दावा सोशल मीडिया पर तेजी से फैल रहा है. सोशल मीडिया पर दावा है कि राजनाथ सिंह के एक ट्वीट पर एक महिला ने प्रतिक्रिया दी तो उसे नौकरी से ही निकाल दिया गया.


सच जानने से पहले जानिए क्या है पूरी कहानी?
ये पूरी कहानी गृहमंत्री राजनाथ सिंह के एक ट्वीट से शुरू हुई जो उन्होंने 11 जुलाई को अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले के बाद किया था. राजनाथ सिंह ने लिखा, ''कश्मीर के लोगों ने अमरनाथ यात्रियों पर हुए हमले की कड़ी आलोचना की है. ये बात साबित करती है कि कश्मीरियत मजबूती से जिंदा है.''


शुचि सिंह कालरा महिला ने राजनाथ सिंह के इस ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ''इस वक्त किस.....को कश्मीरियत की चिंता है? तसल्ली देना आपका काम नहीं है आप उन कायरों को पकड़िए और सजा दीजिए.'' शुचि सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया में एक गाली जैसे शब्द का इस्तेमाल किया था जिसे हम नहीं बता सकते.


शुचि सिंह की इस प्रतिक्रिया पर राजनाथ सिंह ने जवाब देते हुए लिखा, "'मिस कालरा मैं ये जरूर करूंगा. देश के हर हिस्से में शांति कायम करना निश्चित रूप से मेरी जिम्मेदारी है. हर कश्मीरी आतंकवादी नहीं है.''


जब देश के गृह मंत्री ने अमरनाथ यात्रा पर हमले का विरोध कर रहे कश्मीरियों की भावनाओं का सम्मान करते हुए ट्विटर पर कश्मीरियत की बात लिखी तो कुछ लोग भड़क गए और गुस्से में प्रतिक्रिया देने लगे. उन्हीं लोगों में से एक शुचि सिंह कालरा भी थीं जिन्होंने आपत्तिजनक शब्द के साथ अपनी प्रतिक्रिया दी.


कौन हैं शुचि सिंह?
शुचि मेक माय ट्रिप पर बतौर पोर्टल एडिटर नौकरी करती हैं. शुचि सिंह का ट्विटर अकाउंट ब्लू टिक वाला है यानि वो भीड़ का हिस्सा नहीं हैं वो उन चंद बड़े लोगों में से एक हैं जिनके ट्विटर अकाउंट पर नीला निशान दिखाई देता है.


क्या है वायरल दावे का सच?
एबीपी न्यूज़ की पड़ताल में पता चला कि शुचि सिंह ने अपना ट्विटर अकाउंट डिलीट कर दिया है. इसके बाद हमने उन्हें फेसबुक पर ढूंढा और फेसबुक पर शुचि मौजूद थीं. पड़ताल के दौरान ऑनलाइन ट्रैवल एंड टूर कंपनी मेक माय ट्रिप की तरफ से जारी किया गया एक बयान मिला जिसमें उन्होंने शुचि सिंह कालरा बयान से खुद को पूरी तरह अलग किया था.


मेक माय ट्रिप ने बयान में कहा, ''शुचि ने जो भी ट्विटर पर कहा ये उनके निजी विचार हैं. इनका मेक माय ट्रिप से कोई संबंध नहीं है उन्होंने जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया उसका हमें खेद है.''


एबीपी न्यूज़ मेक माय ट्रिप के सूत्रों संपर्क किया और पूछा कि क्या इस विवाद के बाद शुचि सिंह कालरा को नौकरी से निकाल दिया गया है? सूत्रों ने हमें बताया कि शुचि सिंह कालरा को नौकरी से निकाले जाने को लेकर जो अफवाहें फैलाई जा रही हैं वो पूरी तरह निराधार हैं. इसलिए हमारी पड़ताल में राजनाथ के रिट्वीट पर शुचि सिंह को नौकरी से निकाले जाने का दावा झूठा साबित हुआ है.

भारत से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर,गूगल प्लस, पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App
Web Title: गृहमंत्री राजनाथ सिंह के एक रीट्वीट से नौकरी खोने वाली लड़की का वायरल सच
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार

First Published:
Next Story गुजरात में कांग्रेस कार्यालय का ‘बीमा’ बना चुनावी मुद्दा, बीजेपी ने कसा ये तंज