ममता राज में हिंदू महिलाओं की इज्जत के साथ खिलवाड़ का सच

ममता राज में हिंदू महिलाओं की इज्जत के साथ खिलवाड़ का सच

By: | Updated: 10 Jul 2017 11:36 PM

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर हर रोज कई, तस्वीरें वीडियो और मैसेज वायरल होते हैं. वारल हो रही इन तस्वीरों वीडियो और मैसेज के जरिए कई चौंकाने वाले दावे भी किए जाते हैं. ऐसी ही एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और इसके साथ भी एक चौंकाने वाला दावा किया जा रहा है.


क्या दावा कर रही है वायरल हो रही तस्वीर?


सोशल मीडिया पर वायरल तस्वीर में सफेद रंग की बड़ी-बड़ी गाड़ियां दिख रही हैं. गुंडों के सरदार की तरह दिखने वाला एक आदमी महिला की साड़ी खींच रहा है. आसपास खड़े बाकी लोग हंस रहे हैं और भीड़ दहशत में दिखाई दे रही है. महिला के पास रखी ये फूस, कच्ची सड़क और पीछे दिख रहे मकान ये बता रहे हैं कि तस्वीर किसी गांव की है. गाड़ी के पास नीली जींस पहने जो शख्स खड़ा है उसके हाथ में एक तलवार भी है.


इस तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के राज में हिंदुओं पर अत्याचार हो रहा है. इतना ही नहीं सोशल मीडिया पर लोग ये भी कह रहे हैं कि मुख्यमंत्री ममता के राज में हिंदू महिलाओं की इज्जत से खिलवाड़ हो रहा है.


 


क्या है वायरल हो रही तस्वीर का सच?


तस्वीर का सच जानने के लिए एबीपी न्यूज़ ने वायरल तस्वीर को गूगल पर ढूंढना शुरू किया और जो मिला उसे जानकर हमारे होश उड़ गए. गूगल पर तस्वीर ढूंढते ही हमें जो लिंक मिला उस पर लिखा था ‘औरत खिलौना नहीं'.


आपको बता दें कि ये एक भोजपुरी फिल्म का नाम है. इसके बाद इस फिल्म को खंगालना शुरू किया ताकि हमें ये पता चल सके कि वायरल तस्वीर इस फिल्म के किसी सीन का हिस्सा है या नहीं. दो घंटे 40 मिनट की इस फिल्म में 2 घंटे 11वें मिनट वो सीन आता है, जिसे सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है.


वायरल तस्वीर में जिन्हें, प्रताड़ित हिंदू महिला बताकर पेश किया गया वो भोजपुरी फिल्मों की अभिनेत्री रिंकू घोष हैं. हमारी पड़ताल में वायरल तस्वीर झूठी साबित हुई है.

भारत से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर,गूगल प्लस, पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App
Web Title: ममता राज में हिंदू महिलाओं की इज्जत के साथ खिलवाड़ का सच
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार

First Published:
Next Story प्रद्युम्न हत्याकांड: बस कंडक्टर अशोक मिली जमानत