फिर विवादों में वीके सिंह, मीडिया को कहा- 'Presstitutes'

By: | Last Updated: Wednesday, 8 April 2015 1:17 AM
VK Singh in new row, calls media ‘presstitutes’

नई दिल्ली: विदेश राज्यमंत्री जनरल वी के सिंह एक बार फिर विवादों में हैं. जनरल वी के सिंह ने यमन से भारतीयों को निकालने के अभियान की निगरानी के काम को पाकिस्तानी दूतावास जाने से कम रोमांचक बताया है. जनरल वी के सिंह अभी जिबूती में हैं और यमन में फंसे भारतीयों को सुरक्षित वापस लाने के लिए चलाए जा रहे अभियान की निगरानी कर रहे हैं.

 

आपको बता दें कि जनरल वी के सिंह पिछले महीने दिल्ली में पाकिस्तानी दूतावास में आयोजित पाकिस्तान दिवस के कार्यक्रम में गए थे. बाद उन्होंने इसे ड्यूटी की मजबूरी बताते हुए ड्यूटी और डिसग्सट हैशटैग के साथ कई ट्वीट किए थे उनके ट्वीट को लेकर काफी विवाद हुआ था. बाद में उन्हें सफाई भी देनी पड़ी थी. अब उसी पाकिस्तान दूतावास में जाने को वीके सिंह कम और ज्यादा रोमांचक काम से तौल रहे हैं.

 

उन्होंने बाद में एक टीवी चैनल के खिलाफ व्यंग्यात्मक टिप्पणी की. भारतीयों को निकालने के अभियान के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने जिबूती में कहा, ‘‘सच बताउं तो यमन में (बाहर निकालने का) अभियान पाकिस्तानी दूतावास जाने से कम रोमांचक है.’’

 

कांग्रेस सहित राजनीतिक दलों की ओर से उनकी टिप्पणियों पर कड़ी प्रतिक्रिया आने पर उन्होंने एक टीवी चैनल को जिम्मेदार ठहराया. हालांकि अधिकारियों ने यहां कहा कि मंत्री व्यंग्य कस रहे थे और उनकी टिप्पणियां मीडिया के संबंध में थीं.

भारतीयों के रेस्क्यू ऑपरेशन को लेकर वीके सिंह का विवादिय बयान

 

सोशल मीडिया पर हुई जमकर आलोचना

जनरल वी के सिंह के ताजा बयान को लेकर सोशल मीडिया में उनकी काफी आलोचना हुई है. इसके बाद उन्होंने मीडिया पर निशाना साधते हुए आपत्तिजनक ट्वीट किया है. TimesNowDisaster  हैशटैग के साथ जनरल वी के सिंह ने टाइम्स नाउ चैनल के संपादक अर्नब गोस्वामी के बारे में ट्वीट किया है. जनरल ने लिखा है- दोस्तों आप #presstitutes से क्या उम्मीद कर सकते हैं? पिछली बार अर्नब ने सोचा था कि O की जगह E है.

 

#presstitutes का मतलब-

वीके सिंह के ट्वीट पर जिस अर्नब का जिक्र है वो टाइम्स नाउ चैनल के एडिटर हैं. वीके सिंह के ट्वीट का मतलब आपको बताते हैं. अंग्रेजी में प्रॉस्टीच्यूट शब्द है जिसका हिंदी में मतलब है ‘वेश्वावृति’ से. वीके सिंह ने जिस प्रेस्टीच्यूट लिखते हुए जिस तरह अंग्रेजी के O और E लेटर पर जोर दिया है उससे लगता है कि उन्होंने प्रॉस्टीच्यूट शब्द से मीडिया के लिए प्रेस्टीच्यूट शब्द गढ़ा है. वीके सिंह का बयान मीडिया पर सीधा हमला है, निशाना है.

 

ब्रॉडकास्ट एडिटर्स एसोशिएशन ने वीके सिंह के बयान की कड़ी निंदा की है.

 

वीके सिंह के इस ताजा विवादित बयान से निकले कुछ बड़े सवाल-

 

 

युद्धग्रस्त यमन में फंसे भारतीयों में से अब 4000 को सुरक्षित निकाला जा चुका है. सरकार ने हवाई मार्ग से चलाए जा रहे बचाव अभियान को बुधवार को समाप्त करने का फैसला किया है.

 

मंगलवार को  सना से 600 और कुल 700 भारतीयों को यमन से निकाला गया. अधिकारियों ने बताया कि 600 को कल सना से एयर इंडिया के विमानों द्वारा और 100 अन्य को हुदेदाह से समुद्र मार्ग के जरिए आईएनएस तुर्श पोत से निकाला गया.

 

पहले भी विवादों में रह चुके हैं

दरअसल जनरल सिंह ने पिछले महीने पाकिस्तान दिवस के मौके पर पाकिस्तानी दूतावास में आयोजित एक समारोह में शिरकत की थी. इस कार्यक्रम में मीरवाइज उमर फारूख, सैयद अली शाह गिलानी और यासीन मलिक जैसे अलगाववादी नेता भी शामिल थे.

 

विपक्षी पार्टियों ने पाकिस्तानी उच्चायोग में हुए समारोह में सिंह के शिरकत पर नाखुशी जताई थी. वहीं इस डिनर पार्टी को अटेंड करने के बाद जनरल सिंह ने #disgust और #duty हैशटैग्स वाले ट्वीट किए थे.

 

उनके इन ट्वीट्स से विवाद हो गया था, जिसके बाद सिंह ने कहा था कि उनके ट्वीट मीडिया के उस हिस्से के लिए थे, जो उनकी सरकार के इरादे पर सवाल खड़े कर रहे थे.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: VK Singh in new row, calls media ‘presstitutes’
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017