व्यापम घोटाले का खुलासा करने वाले आशीष पर अब तक हो चुके हैं 14 हमले

By: | Last Updated: Tuesday, 7 July 2015 5:39 PM
Vyapam Scam: Ashish Chaturvedi attacked 14 times as he exposed the crime for the first time

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के व्यापम घोटाले को खूनी घोटाला कहा जा रहा है. ऐसे में सबसे ज्यादा खतरा मंडरा रहा है उन लोगों पर जिन्होंने इस घोटाले से पहली बार पर्दा उठाया था और आज भी इसी कोशिश में जुटे हैं. इन्हीं में से एक हैं ग्वालियर से आशीष चतुर्वेदी जिन पर 14 हमले हो चुके हैं.

 

क्या आपने कभी किसी साइकिल पर चलने वाले किसी आम शख्स की सुरक्षा में रिवाल्वर धारी पुलिसवाले को तैनात देखा है?  अगर नहीं तो देख लीजिए कितना गहरा है मध्य प्रदेश के खूनी व्यापम घोटाले का खौफ. ये हैं साल 2010 में महज 19 साल की उम्र में व्यापम घोटाले का सच सामने वाले आशीष चतुर्वेदी. आशीष पर भी 14 हमले हो चुके हैं लेकिन अगर आप इस पुलिसवाले को देखकर ये सोच रहे हों की आशीष सुरक्षित हैं तो सुनिए

 

आशीष चतुर्वेदी की जान खतरे में है तो इसकी वजह है व्यापम घोटाले में किए गए उनके खुलासे. आशीष ने कैसे खोलीं इस बड़े घोटाले की परतें आपको ग्वालियर के पारस विहार कालोनी में आशीष के घर लिए चलते हैं. आशीष की मां की मृत्यु होने के बाद आशीष ने अपने पिता की शादी करवाई और अब यहां उनकी नई मां और पिता और दो बहनें रहती हैं. आशीष ने व्यापम और मेडिकल इंटरेंस एक्जाम हुई धांधली का खुलासा किया था लेकिन क्यों.

 

मां की मौत और नाकाबिल डॉक्टरों ने आशीष को डॉक्टरी की पढ़ाई के फर्जीवाड़े की तह में जाने के लिए प्रेरित किया और तब उन्हें मिला ब्रजेश रघुवंशी नाम का एक डॉक्टर जिसे मध्य प्रदेश के भ्रष्टाचार ने डॉक्टर बना दिया था

 

ये सिर्फ एक खुलासा था जिसकी शिकायत आशीष ने साल 2010 में की थी. लेकिन इसके बाद आशीष चतुर्वेदी ने इसे अपना जुनून बना लिया. 2011 में उन्होंने स्टिंग करके मेडिकल प्रवेश परीक्षा की पूरी धांधली सामने रख दी. भ्रष्टाचार काउंसलिंग में भी हो रहा था.

 

साल 2013 में पीएमटी यानी मेडिकल इंटरेंस एक्जाम का पेपर आउट हुआ तो इसकी जानकारी भी आशीष ने जांच एजेंसियों को पहले से दे दी थी लेकिन उन्हें खुलासे करने की जगह मलाई काटने की राय मिली.

 

आशीष के मुताबिक साल 2012 में ही उन्हें एक बार किडनैप करके हत्या की कोशिश हो चुकी थी. आशीष बताते हैं कि पहली बार जिन 37 छात्रों को फर्जी तरीके से मेडिकल कॉलेज में दाखिले का खुलासा हुआ तो उसमें एक रसूख वाले छात्र का नाम हटा दिया गया. सरकार के पूर्व एडवोकेट जनरल से जब आशीष ने चिट्ठी लिखकर वजह पूछी तो सुनिए उनके साथ क्या हुआ

 

एक दो नहीं आशीष ने लगातार भर्ती घोटाले से जुड़े रसूखवाले लोगों के भ्रष्टाचार की कहानी जांच एजेंसियों को दी है. वो कई अहम मामलों में जांच एंजेसी के गवाह भी हैं. पिछले 4 साल में 14 बार हमले झेल चुके आशीष कहते हैं कि पुलिस उनकी सुरक्षा के लिए नहीं निगरानी के लिए है.

 

व्यापम घोटाले का खुलासा करने वाले आशीष पर अब तक हो चुके हैं 14 हमले 

 

आशीष चतुर्वेदी की सीधी साधी जिंदगी अब हर पल खतरे में है. आशीष के पिता ओम प्रकाश चतुर्वेदी ग्वालियर के शिक्षा विभाग में क्लर्क हैं और वो खुद बीसीए करने के बाद अब मास्टर ऑफ सोशल वर्क्स की पढ़ाई कर रहे हैं और भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लड़ाई जारी है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Vyapam Scam: Ashish Chaturvedi attacked 14 times as he exposed the crime for the first time
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Madya pradesh VYAPM Scam
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017