व्यापम घोटाला: क्या नम्रता को किसी ने नहीं मारा?

By: | Last Updated: Wednesday, 8 July 2015 12:49 PM
Vyapam Scam: Namrata Damor Was Murdered?

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री भले अपने राज्य की एसटीएफ की पीठ थपथपा रहे हों लेकिन हकीकत ये है कि व्यापम से जुड़ी नम्रता डामोर की संदिग्ध मौत को पहले हादसा बताया जाता है और फिर हत्या और फिर केस बंद कर दिया जाता है. दोबारा जांच शुरू की जाती है और चौबीस घंटे के भीतर केस बंद करने की तैयारी शुरू हो जाती है. उज्जैन के नम्रता डामोर केस में पुलिस उलझ चुकी है. 

 

नम्रता के साथ क्या हुआ था?

एमबीबीएस सेकेंड ईयर की छात्र नम्रता का शव उज्जैन में रेलवे ट्रैक पर तीन साल पहले मिला था. पुलिस ने लाश पोस्टमार्टम के लिए भेजा और फिर 9 जनवरी 2012 को दफना दिया गया.  12 जनवरी 2012 को परिवार को पता चला कि नम्रता हॉस्टल से लापता है.

 

परिवार ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई. पुलिस ने स्टेशन पर लावारिस लाश की पहचान के लिए पैम्फ्लेट लगवाए थे उसे देखकर परिवार वाले 29 जनवरी को उज्जैन पहुंचे और 30 जनवरी 2012 को नम्रता की लाश को खोदकर बाहर निकाला गया.

 

डॉक्टर का दावा- नम्रता की हत्या हुई

पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर का दावा है कि नम्रता की हत्या की गई. नया खुलासा ये हुआ है कि पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर को शक है कि उसके साथ यौन संबंध (रेप) बनाने की कोशिश की गई होगी.

 

डॉक्टर का कहना है, “पोस्टमार्टम के वक्त जब हमने उसके सैक्स ऑर्गन को देखा गया तो हमें उसमें यौन शोषण होने की संभावना लगी. हमनें उस सैंपल को पुलिस को दे दिया था रिपोर्ट पुलिस के पास ही है.”

 

बाहरी लक्षण जो नजर आए उसमें नम्रता के नाक, होंठ मुंह के ऊपर चोट के निशान थे नाखूनों के निशान थे. जब मौत का कारण देखा गया उसमें तो पाया कि उसके मुंह और नाक को फोर्सफुली दबाया गया है जिससे दम घुटने से इस तरीके की स्थिति पैदा होती है.

 

नम्रता के शव का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टर पुरोहित जो बता रहे हैं उससे ये भी लग रहा है कि नम्रता के शव को कहीं से लाकर रेल पटरी पर रखा गया. नम्रता के शरीर पर रगडने के निशान मिले थे जो मौत के बाद के थे. ऐसा लग रहा था कि एक जगह से दूसरी जगह ले जाने के लिए उसकी लाश को घसीटा गया है.

 

मध्य प्रदेश की पुलिस ने क्या किया ?

30 जनवरी को हत्या की एफआईआर दर्ज हुई और नम्रता की कॉल डिटेल के आधार पर 3 लोगों को हिरासत में लिया गया और पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया. हत्या की आशंका से शुरू हुई जांच की फाइल पुलिस ने ये कहकर बंद कर दी कि ये हत्या नहीं है नम्रता की मौत या तो आत्महत्या है या फिर दुर्घटना में उसकी मौत हुई.

 

नम्रता की मौत की पड़ताल के लिए गए आज तक के रिपोर्टर अक्षय सिंह की संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी जिसके बाद व्यापम को लेकर सीबीआई जांच की मांग तेज हुई थी.. भारी दबाव के बीच शिवराज ने हाईकोर्ट से सीबीआई जांच के लिए चिट्ठी लिखी लेकिन अब जबलपुर हाईकोर्ट ने ये कहते हुए दखल देने से इनकार कर दिया है कि मामला सुप्रीम कोर्ट में लंबित है.

 

व्यापम घोटाला: नम्रता को किसी ने नहीं मारा!  

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Vyapam Scam: Namrata Damor Was Murdered?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017