झुक गए शिवराज, बोले- हाईकोर्ट से अनुरोध करूंगा कि व्यापम की जांच CBI से कराई जाए

By: | Last Updated: Tuesday, 7 July 2015 7:53 AM
Vyapam scam: Will request HC to order CBI probe, MP CM Chouhan says

नई दिल्ली: व्यापम घोटाले में चारों तरफ से घिरने के बाद मध्यप्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को कहा कि वह हाईकोर्ट से अनुरोध करेंगे कि व्यापम मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए.

 

शिवराज सिंह ने मीडिया से कहा कि वह व्यापम मामले के सीबीआई जांच के लिए हाईकोर्ट को अनुरोध पत्र लिखने वाले हैं.

 

24 घंटे के भीतर अपने पहले बयान से पलटी मारते हुए चौहान ने कहा, “मैं मध्यप्रदेश के जबलपुर हाईकोर्ट से पत्र लिखकर आग्रह करूंगा कि इस मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए. अगर ये मुद्दा सुप्रीम कोर्ट के सामने आता है तो हम वहां भी सीबीआई जांच का आग्रह करेंगे.”

 

शिवराज सिंह के इस फैसले का सीधा मतलब ये है कि अब गेंद हाईकोर्ट के पाले में है. अगर हाईकोर्ट जरूरत समझेगा तो इसकी जांच सीबीआई से कराने के मध्यप्रदेश सरकार के अनुरोध को स्वीकार कर लेगा.

व्यापम घोटाला: शिवराज झुके, CBI जांच कराएंगे  

ग़ौरतलब है कि फिलहाल हाईकोर्ट की निगरानी में एसआईटी इस मामले की जांच कर रही है.

 

सीबीआई जांच पर शिवराज सिंह ने कहा, “शासक को संदेह से परे होना चाहिए. मैं मानता हूं कि जनता चाहती है कि व्यापम की सच्चाई समाने आए, मैं जनता की भावना की कद्र करते हाईकोर्ट से आग्रह करूंगा कि व्यापम की जांच सीबीआई से कराई जाए.”

 

मध्यप्रदेश के सीएम का कहना है कि उन्होंने रातभर जागकर सोचा और फिर फैसला किया कि इसकी जांच सीबीआई से कराई जाए.

 

व्यापम में हो रही मौत पर शिवराज ने कहा, “मैं बहुत ही संवेदनशील व्यक्ति हूं. एक-एक मौत बहुत ही दुभार्गयपूर्ण हैं.”

 

शिवराज ने कहा कि उनपर बेबुनियाद आरोप मढ़े गए. उन्गोंने कहा, “कांग्रेस को घोटाले से कुछ भी लेना-देना नहीं है, वह सिर्फ मुझपर टार्गेट कर रही है.”

 

इस घोटाले में लगातार हो रही मौत के बाद शिवराज सिंह चौहान मुश्किल में थे और विपक्षी पार्टियां सीबीआई जांच की मांग कर रही थी, जिसके आगे झुककर उन्होंने ये फैसला किया.  अब तक इस घोटाले से जुड़े 45 लोगों की मौत हो चुकी है. बीते चार दिन में चार मौत ने इस मुद्दे को और उछाल रखा है, जिसके बाद शिवराज झुकने पर मजबूर हुए.

 

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने भी सोमवार को सीबीआई जांच की ओर इशारा किया था, लेकिन गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने उसे नकार दिया था. उमा भारती ने कहा कि वे केंद्रीय मंत्री हैं लेकिन जिस तरह मौत हो रहीं हैं उन्हें भी डर लगता है.

 

FULL INFORMATION | व्यापम घोटाला | 55 केस, 2530 आरोपित, 1980 गिरफ्तार 

 

देर आएद दुरुस्त आएद

 

शिवराज सिंह के इस फैसले के बाद कांग्रेस ने कहा कि देर आएद दुरुस्त आएद, और वह इस फैसले का स्वागत करते हैं. कांग्रेस नेता मीम अफजल ने कहा कि विपक्ष के दबाव में झुककर शिवराज सिंह ने फैसला किया है और वे इसका स्वागत करते हैं.

 

आपको बता दें कि कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने सीबीआई जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाज़ा खटखटा रखा था.

 

राजधर्म निभाया

 

बीजेपी ने शिवराज सिंह के फैसले पर कहा कि उन्होंने ऐसा करके राजधर्म निभाया है. बीजेपी नेता संबित पात्रा ने कहा कि शिवराज ने सही फैसला किया और ऐसा करके उन्होंने राजधर्म निभाया है.

 

क्या है व्यापम घोटाला?

 

मध्य प्रदेश का व्यावसायिक परीक्षा मंडल यानी व्यापम घोटाले में अब तक 45 लोगों की मौत हो चुकी है. आखिर ये घोटाला है क्या? –आइये समझने की कोशिश करते हैं –

 

 

 

व्यापम के तहत सरकारी नौकरियों और मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए हुआ था एक बहुत बड़ा फर्जीवाड़ा.

 

55 केस, 2,530 आरोपियों और 1,980 गिरफ्तारियों के साथ इसे खूनी घोटाला भी कहा जाने लगा है.

 

इस घोटाले से सबसे पहले पर्दा तब उठा जब 7 जुलाई, 2013 को मध्य प्रदेश के इंदौर में पीएमटी की प्रवेश परीक्षा में कुछ छात्र फर्जी नाम पर परीक्षा देते पकड़े गए.

 

दो हिस्सो में बंटा है व्यापम घोटाला

 

उच्च शिक्षा मंत्री के तहत काम करने वाला व्यावसायिक परीक्षा मंडल मेडिकल, इंजीनियरिंग और दूसरी व्यावसायिक पढ़ाई के साथ सरकारी नौकरियों के लिए प्रवेश परीक्षाएं करवाने और छात्रों के चयन का काम करता है. व्यापम घोटाला दो हिस्सों में बंटा हुआ है. पहला तो ये कि मेडिकल और इंजीनियरिंग जैसी प्रवेश परीक्षाओं में धांधली हुई. वहीं दूसरा सरकारी नौकरियों के लिए हुई परीक्षाओं में भी गड़बड़ी करके नाकाबिल लोगों को नौकरी दी गई.

 

संबंधित खबरें-

व्यापम घोटाला: CBI जांच को लेकर बीजेपी में मतभेद 

घोटालों पर पीएम मोदी चुप क्यों हैं? 

शिवराज की कुर्सी डोल रही है? 

व्यापम घोटाले की सीबीआई जांच की जरूरत नहीं : राजनाथ 

FULL INFORMATION | व्यापम घोटाला | 55 केस, 2530 आरोपित, 1980 गिरफ्तार

INFORMATION: कैसे होती थी व्यापम में धांधली? 

व्यापम घोटाला: एमपी के राज्यपाल को हटाने की मांग संबंधी याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई को राजी  

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Vyapam scam: Will request HC to order CBI probe, MP CM Chouhan says
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017