व्यापमा: मेडिकल छात्रा नम्रता की मौत की केस की फाइल दोबारा जांच के बाद फिर हुई बंद

By: | Last Updated: Wednesday, 8 July 2015 2:22 AM
vyapam_namrta_case_investigation

नई दिल्ली: इंदौर की मेडिकल छात्रा नम्रता दामोर की मौत की जांच की फाइल पुलिस ने बंद कर दी है. कल ही खबर आई थी कि उज्जैन के एसपी ने नम्रता दामोर की मौत से जुड़े केस की दोबारा जांच के आदेश दिए हैं. लेकिन अब खबर ये है कि पुलिस को इस मामले में नया कुछ सबूत नहीं मिला है लिहाजा फाइल बंद कर दी गई है. दूसरी बार भी जांच होकर जांच बंद कर गदी गई है.

व्यापम घोटाले को लेकर चर्चाओं में आई नम्रता दामोर की केस फाइल एक बार फिर खुलने की कल ही खबर आई थी. पुलिस ने इस मामले में पहले हत्या का केस दर्ज किया था और बाद में इसे दुर्घटना बताकर केस खत्म कर दिया था. लेकिन उज्जैन के एसपी मनोहर सिंह वर्मा ने एसडीओपी को नए सिरे से केस रिव्यू करने के निर्देश दिए थे.

 

सवाल ये है कि नम्रता की मौत कैसे हुई ? नम्रता का किसी ने कत्ल किया या फिर वो किसी हादसे का शिकार हो गई.

 

कल ही व्यापम घोटाले पर एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीबीआई जांच की सिफारिश की है, जिस पर आज हाईकोर्ट का फैसला भी आना है.

व्यापम घोटाला: नम्रता को किसी ने नहीं मारा!  

नम्रता केस एक बार फिर सुर्खियों में

पत्रकार अक्षय सिंह की मौत के बाद नम्रता का मामला एक बार फिर सुर्खियों में आया है. व्यापम के सिलसिले में अक्षय कवरेज करने के लिए मेघनगर में नम्रता के घर उसके पिता मेहताब सिंह दामोर से मिलने पहुंचे थे. जहां संदिग्ध परिस्थितियों में उनकी मौत हो गई.

 

महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज की एमबीबीएस द्वितीय वर्ष की छात्रा नम्रता की लाश 7 जनवरी 2012 को उज्जैन जिले के कायथा के समीप शिवपुरा-भेरुपुर रेलवे ट्रेक पर मिली थी. वह इंदौर-बिलासपुर ट्रेन से जबलपुर जा रही थी. 22 दिन बाद उसके भाई दीपेंद्र ने उसकी शिनाख्त की थी. नम्रता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में चिकित्सकों ने मुंह दबाकर हत्या होने का कारण बताया था.

 

नम्रता के घर के बाहर हुई पत्रकार अक्षय सिंह की मौत

इंडिया टूडे ग्रुप के पत्रकार अक्षय सिंह नम्रता के पिता मेहताब सिंह दामोर का इंटरव्यू करने के बाद दामोर के घर के बाहर ही खड़े थे. तभी अचानक उनके मुंह से झाग आना शुरू हो गया. अक्षय को पहले सरकारी अस्पताल ले जाया गया फिर उन्हें एक निजी अस्पताल में भी ले जाया गया. लेकिन उनकी बिगड़ती तबियत को देखते हुए उन्हें पास के ही दाहोद जिले के एक और अस्पताल में ले जाया गया. जहां उन्हें डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया.

 

नम्रता के पिता मेहताब सिंह डामोर ने कहा, ‘‘शनिवार दोपहर उनके निवास पर एक रिपोर्टर सहित चैनल के तीन लोग आए थे और बातचीत होने के बाद संबंधित कागजात की फोटो कॉपी कराने उनका एक परिचित बाजार गया.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘रिपोर्टर सहित चैनल के लोग जब उनके घर के बाहर फोटोकॉपी का इंतजार कर रहे थे, तभी अक्षय के मुंह से अचानक झाग निकलने लगा और उन्हें तत्काल सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां से एक निजी अस्पताल में भेज दिया गया.’’

 

क्या है व्यापम घोटाला?

मध्यप्रदेश में  नौकरियों की बन्दरबांट की गई. मध्य प्रदेश का भर्ती घोटाला दरअसल दो हिस्सों में बंटा हुआ है. पहला तो ये कि मेडिकल और इंजीनियरिंग जैसी प्रवेश परीक्षाओं में धांधली हुई. वहीं दूसरा सरकारी नौकरियों के लिए हुई परीक्षाओं में भी गड़बड़ी करके नाकाबिल लोगों को नौकरी दी गई.

  • सरकारी नौकरी में 1000 फर्जी भर्तियां

  • मेडिकल कॉलेज में 514 फर्जी भर्तियों का शक

  • भर्ती घोटाले में पूर्व मंत्री गिरफ्तार

  • पूर्व मंत्री के ओएसडी भी गिरफ्तार

  • मुख्यमंत्री का पूर्व ओएसडी जांच के घेरे में

  • 100 से ज्यादा लोगों को आरोपी बनाया गया

 

मेडिकल कॉलेजों में ही भर्ती के 514 मामले शक के घेरे में हैं. वहीं सरकारी नौकरियों में 1000 भर्ती की बात खुद शिवराज सिंह चौहान विधानसभा में मान चुके हैं. 2008 से 2010 के बीच सरकारी नौकरियों के 10 इम्तिहानों में धांधली का भी आरोप है.

 

आखिर गड़बड़ होती कैसे थी-

  • अब तक इस मामले में गिरफ्तार हुए छात्रों से हुई पूछताछ के मुताबिक ये धंधा इम्तिहान से लेकर नतीजों में हेरफेर के जरिए चल रहा था.

  • कैंडीडेट को फर्जी परीक्षार्थी के करीब बिठाया जाता था ताकि वो नकल कर सके

  • कैंडीडेट की जगह फर्जी छात्र बिठा दिए जाते थे

  • कैंडीडेट आंसरशीट खाली छोड़ देता था जिसे बाद में भरा जाता था

  • रिजल्ट के अंकों को बाद में बढ़ा दिया जाता था

संबंधित खबरें-

पत्रकार का विसरा लेकर एम्स पहुंची एमपी पुलिस 

टीवी पत्रकार अक्षय का विसरा की एम्स में जांच कराने की मांग मंजूर 

अक्षय सिंह: विजयवर्गीय ने मौत की वजह हार्ट अटैक बताया, तो दिग्गी ने पोस्टमार्टम पर उठाए सवाल

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: vyapam_namrta_case_investigation
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017