व्यापम के आरोपियों ने राष्ट्रपति से गुहार की, जमानत दें या खुदकुशी की इजाजत

By: | Last Updated: Sunday, 9 August 2015 4:39 PM
vyapam_president_request

भोपाल/नई दिल्ली: मध्यप्रदेश के कुख्यात व्यावसायिक परीक्षा मंडल (व्यापम) के जरिये प्रदेश में हुए प्री-मेडिकल टेस्ट :पीएमटी: को अनुचित तरीके से पास करने वाले ग्वालियर जेल में बंद लगभग 70 चिकित्सा पाठ्यक्रम के छात्रों और जूनियर डाक्टरों ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को पत्र लिखकर गुहार लगायी है कि उन्हें इस मामले में जमानत पर जेल से रिहा किया जाये अथवा उन्हें खुदकुशी करने की इजाजत दी जाये.

 

एक छात्र के पालक एएस यादव और अन्य छात्रों के हस्ताक्षर वाले इस पत्र में राष्ट्रपति को लिखा गया है, ‘‘हम सभी विचाराधीन आरोपी बहुत लम्बे समय से न्यायिक हिरासत में जेल में बंद हैं, जिसकी वजह से हम सभी छात्रों एवं डाक्टरों का भविष्य अंधकारमय हो गया है. इसके कारण हम लोग अत्यधिक मानसिक एवं सामाजिक प्रताड़ना का शिकार हो रहे हैं और हमारे मन में आत्महत्या करने जैसे नकारात्मक विचार उत्पन्न हो रहे हैं.’’ पत्र में लिखा गया है, ‘हम लोगों में से अधिकतर युवा डॉक्टर शासकीय चिकित्सा सेवाओं में कार्यरत हैं और कई चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में अध्यनरत हैं. काफी लम्बे समय से जेल में बंद होने के कारण हमारी पारिवारिक एवं आर्थिक स्थिति काफी दयनीय हो गयी है और हमारे परिवार भूखमरी के कगार पर हैं.’ पत्र में आगे कहा गया है कि, ‘न्यायिक प्रक्रिया में असमानता होने के कारण सभी युवा डॉक्टरों को सेन्ट्रल जेल ग्वालियर में काफी लम्बे समय से बंद रखा गया है, जबकि समान धाराओं एवं आरोपों में गिरफ्तार हुए हमारे समकक्ष आरोपियों को जबलपुर, भोपाल और अन्य स्थानों की न्यायपालिका के द्वारा कुछ ही दिनों में सत्र और उच्च न्यायालय से जमानत हासिल हो चुकी है.’

 

पत्र में कहा गया है, ‘व्यावसायिक परीक्षा मंडल के अधिकारियों और कर्मचारियों :प्रवेश समिति:, काउंसलिंग कमेटी की अनिमितताओं को छुपाने एवं उन्हें बचाने के लिये लाचार और कमजोर वर्ग के विद्यार्थियों को इसमें आरोपी बनाकर उन्हें राजनीतिक कारणों से जमानत नहीं देकर, उनमें अपराधिक प्रवृत्ति पैदा करने की कोशिश की जा रही है.’ पत्र के अंत में राष्ट्रपति से गुहार की गयी है, ‘‘न्यायिक प्रक्रिया में समानता लाते हुए हमें जमानत की राहत दी जाये, जिससे हमारा अध्ययन एवं चिकित्सा सेवायें लम्बे समय के लिये प्रभावित न हों और हम पुन: समाज की मुख्य धारा में लौट सकें.’ आरोपी विद्यार्थियों द्वारा राष्ट्रपति को लिखे इस पत्र के प्रति प्रधानमंत्री कार्यालय, उच्चतम न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश, मप्र उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश और गृह मंत्रालय सहित मीडिया को भी भेजी गयी है.

 

ग्वालियर जेल के अधीक्षक दिनेश नारगवे ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया, ‘राष्ट्रपति और अन्य को लिखा यह पत्र उन्होंने :छात्रों: मुझे नहीं सौंपा है. पिछले एक साल से ग्वालियर जेल में बंद एक विचाराधीन कैदी विशाल यादव से मैंने इस संबंध में पूछा तो उसने बताया, उन्होंने ऐसा पत्र लिखा है लेकिन उसे भेजा नहीं है और यह पत्र उनके वकील के पास है.’ वकील विनय हासवानी ने ग्वालियर से फोन पर ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि जेल में बंद आरोपियों से न्यायालय में सुनवाई के दौरान मिलने पर पालकों द्वारा हासिल किया गया यह पत्र लेकर कुछ पालक मेरे पास आए और मुझे यह पत्र सौंपा.

 

हासवानी ने बताया, ‘कल मैंने यह पत्र राष्ट्रपति कार्यालय सहित अन्य स्थानों को भेज दिया है.’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: vyapam_president_request
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ?????? ?????? Vyapam Scam
First Published:

Related Stories

'आयरन लेडी' इरोम चानू शर्मिला ने अपने साथी ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी
'आयरन लेडी' इरोम चानू शर्मिला ने अपने साथी ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो...

नई दिल्ली: नागरिक अधिकार कार्यकर्ता इरोम शार्मिला और उनके लंबे समय से साथी रहे ब्रिटिश नागरिक...

अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे
अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे

 मुंबई: मुंबई पुलिस के मशहूर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा को महाराष्ट्र...

RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी
RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी

आरएसएस की देशभक्ति पर कड़ा हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इस संगठन ने तब तक तिरंगे को नहीं...

चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’, भारत को फिर धमकी दी
चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’, भारत को फिर धमकी दी

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. चीन ने अब भारत के खिलाफ खूनी...

सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले- घोटाले से बचने के लिए BJP की शरण में गए
सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले- घोटाले से बचने के लिए BJP की शरण में गए

पटना: सृजन घोटाले को लेकर बिहार की राजनीति में संग्राम छिड़ गया है. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद...

यूपी: बहराइच में बाढ़ में फंस गई बारात, ट्रैक्टर पर मंडप पहुंचा दूल्हा
यूपी: बहराइच में बाढ़ में फंस गई बारात, ट्रैक्टर पर मंडप पहुंचा दूल्हा

बहराइच: उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ आने से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. इस बीच बहराइच में...

बेनामी संपत्ति: लालू के बेटा-बेटी, दामाद और पत्नी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगा आयकर
बेनामी संपत्ति: लालू के बेटा-बेटी, दामाद और पत्नी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल...

नई दिल्ली:  लालू परिवार के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाली है. एबीपी न्यूज को जानकारी मिली है कि...

अनुप्रिया की पार्टी अपना दल की मंडल अध्यक्ष संतोषी वर्मा और उनके पति की हत्या
अनुप्रिया की पार्टी अपना दल की मंडल अध्यक्ष संतोषी वर्मा और उनके पति की...

इलाहाबाद: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल की...

गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर सतीश, डॉक्टर राजीव ठहरा गए जिम्मेदार
गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर सतीश, डॉक्टर राजीव ठहरा गए...

गोरखपुर: बीते हफ्ते गोरखपुर अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से हुई 36 बच्चों की मौत के मामले...

अगर हम सड़कों पर नमाज़ नहीं रोक सकते, तो थानों में जन्माष्टमी भी नहीं रोक सकते: CM योगी
अगर हम सड़कों पर नमाज़ नहीं रोक सकते, तो थानों में जन्माष्टमी भी नहीं रोक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धार्मिक स्थलों और कांवड़ यात्रा के दौरान...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017