व्यापम में मौत पर उमा भारती बोलीं, 'मंत्री हूं, इसके बावजूद लगता है डर'

By: | Last Updated: Tuesday, 7 July 2015 3:24 AM

भोपाल/नई दिल्ली: व्यापम घोटाले में लगातार हो रही मौतों पर केंद्रीय मंत्री और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने कहा है कि उन्हें भी डर लग रहा है. व्यापम घोटाले में हो रही मौतों से उनको डर लगता है, वो अपने परिचितों के लिए चिंतित हैं.

उमा भारती ने कहा है कि मैं मंत्री होने के बावजूद व्यापम से सहमी हुई हूं. उमा ने कहा कि मैं अपनी चिंता सीएम शिवराज सिंह को भी बताऊंगी.

 

व्यापम घोटाले में लगातार हो रही मौत पर उमा भारती ने कहा कि, ”हो सकता है कि कोई किसी को मार नहीं रहा हो, डर और शर्म से खुद ही लोग मर रहे होंगे.”

 

उमा भारती ने इशारों में की CBI जांच की मांग

 

उमा भारती ने इशारों में व्यापम घोटाले की सीबीआई जांच की बात करते हुए कहा कि सक्षम एजेंसी से दोबारा जांच का रास्ता निकाला जाए.

व्यापम घोटाले में अपना नाम आने को केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने गहरी साजिश बताया और कहा कि लोग घोटाले के कारण ‘शर्म और डर’ से जान दे रहे हैं और कोई उनकी हत्या नहीं कर रहा.

 

भारती ने  कहा, ‘‘यह एक गहरी साजिश है. गहरी साजिश का बड़ा उदाहरण है इसमें मेरा नाम है. मेरा इससे कोई लेना देना नहीं है. अगर इसमें मेरा नाम है तो कुछ गहरी साजिश है.’’ केंद्रीय मंत्री ने जोर दिया कि लोग डर और शर्म से मर रहे हैं और कोई उनकी हत्या नहीं कर रहा है.

 

उन्होंने दावा किया, ‘‘हो सकता है कि किसी ने उनकी हत्या नहीं की हो. लेकिन डर और शर्म से मस्तिष्काघात, हृदयाघात के शिकार हो रहे या आत्महत्या कर रहे. क्योंकि मैंने जब व्यापम में अपना नाम सुना तो मैं भी सदमे में आ गयी.’’ उधर, हैदराबाद में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने आरोप लगाया कि कांग्रेस व्यापम घोटाले के कारण भाजपा के खिलाफ सवाल खड़ा करो और भागो की नीति अपना ली है.

जेल में ऐश काट रहे हैं व्यापम घोटाले के आरोपी पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा 

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कांग्रेस भ्रमित है और उसने सवाल खड़ा करो और भागो की नीति अपना ली है. वे कुछ साबित नहीं कर रहे हैं. वे केवल अपनी हताशा जाहिर कर रहे हैं. इसके अलावा यह और कुछ नहीं है.’’

 

उमा भारती ने इशारों इशारों में जहां सीबीआई जांच की मांग कर दी है तो केंद्र और एमपी सरकार सीबीआई जांच के खिलाफ है.

 

मध्य प्रदेश के व्यापम घोटाले से सम्बंधित लोगों की लगातार हो रही संदिग्ध मौतों के मामले में कांग्रेस का बीजेपी पर हमला जारी है. कांग्रेस इस मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रही है.

 

आपको बता दें कि अब तक इस मामले से जुड़े 40 से ज्यादा लोगों की मौत संदिग्ध परिस्थितियों में हुई है, जिसको लेकर मुख्यमंत्री पर विपक्ष लगातार हमले कर रहा है.

 

क्या है व्यापम घोटाला ?

 

उच्च शिक्षा मंत्री के तहत काम करने वाला व्यावसायिक परीक्षा मंडल मेडिकल, इंजीनियरिंग और दूसरी व्यावसायिक पढ़ाई के साथ सरकारी नौकरियों के लिए प्रवेश परीक्षाएं करवाने और छात्रों के चयन का काम करता है. व्यापम घोटाला दो हिस्सों में बंटा हुआ है. पहला तो ये कि मेडिकल और इंजीनियरिंग जैसी प्रवेश परीक्षाओं में धांधली हुई. वहीं दूसरा सरकारी नौकरियों के लिए हुई परीक्षाओं में भी गड़बड़ी करके नाकाबिल लोगों को नौकरी दी गई.

शिवराज की कुर्सी डोल रही है? 

व्यापम मध्य प्रदेश के उच्च शिक्षा राज्य मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा के अधीन था-घोटाले के तार लक्ष्मीकांत शर्मा से जुड़ रहे थे. उन्हें भी गिरफ्तार किया जा चुका है. साथ ही घोटाले के कर्ताधर्ता उनके ओएसडी ओ पी शुक्ला, व्यावसायिक परीक्षा मंडल के नियंत्रक पंकज त्रिवेदी, ऑनलाइन विभाग के सर्वेसर्वा नितिन महिंद्रा पर शिकंजा कसा जा चुका है. इनकी ही मिलीभगत से भर्ती घोटाले का खेल चल रहा था.

 

आरोप है कि सिफारिश करने वालों में राज्यपाल रामनरेश यादव, उनके बेटे शैलेश यादव, ओएसडी धनराज यादव, केंद्रीय मंत्री उमा भारती से लेकर संघ के सुरेश सोनी, केसी सुदर्शन और वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल हैं.

 

इस बीच घोटाले से जुडे आरोपियों की संदिग्ध मौत का सिलसिला भी शुरू हो गया. एमपी के राज्यपाल रामनरेश यादव के बेटे शैलेश यादव की भी 24 मार्च को लखनऊ में संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी.

 

मामले की जांच कर रही एसटीएफ की निगरानी के लिए हाईकोर्ट ने एसआईटी बनाई है. कांग्रेस सीबीआई जांच की मांग कर रही है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस मामले की जांच शुरू कराने का श्रेय खुद को देते हैं. जबकि कांग्रेस घोटाले का आरोप मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर लगा चुकी है.

 

संबंधित खबरें-

व्यापम घोटाले में 46वीं मौत, आरोपी कांस्टेबल का शव पंखे से लटकता मिला 

व्यापम घोटाला: CBI जांच को लेकर बीजेपी में मतभेद 

घोटालों पर पीएम मोदी चुप क्यों हैं? 

शिवराज की कुर्सी डोल रही है? 

व्यापम घोटाले की सीबीआई जांच की जरूरत नहीं : राजनाथ 

FULL INFORMATION | व्यापम घोटाला | 55 केस, 2530 आरोपित, 1980 गिरफ्तार

INFORMATION: कैसे होती थी व्यापम में धांधली? 

व्यापम घोटाला: एमपी के राज्यपाल को हटाने की मांग संबंधी याचिका पर सुप्रीम कोर्ट सुनवाई को राजी  

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: vyapam_scam
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017