पाक की जमीं पर फटने वाला बम भारत के लिए तैयार किया गया था- ET

By: | Last Updated: Tuesday, 4 November 2014 4:15 AM
Wagah Border attacker’s target was India- Economic Times

नई दिल्ली: भारत-पाकिस्तान के बीच वाघा बॉर्डर पर हुए ब्लास्ट के मामले में नया खुलासा हुआ है. इकनॉमिक टाइम्स की खबर के मुताबिक जो बम पाकिस्तान की जमीन पर फटा वो दरअसल भारत के लिए तैयार किया गया था. भारत में ब्लास्ट की तैयारी थी लेकिन किसी गलती से पाकिस्तान की सीमा में ही फट गया.

 

जिस दिन पाकिस्तान की ओर वाघा सीमा पर ब्लास्ट हुआ उसके अगले दिन गुरु नानक जयंती के मौके पर भारत से श्रद्धालु पाकिस्तान के लाहौर में ननकाना साहिब जाने वाले थे. वाघा सीमा से होकर ही जत्था जाने वाला था. वाघा बॉर्डर पर फिदायीन हमले में 61 लोगों की लोग हुई थी. 200 से ज्यादा लोग जख्मी हुए थे.

 

वाघा सीमा पर हर शाम की तरह साल 1959 में शुरू की गई यानी करीब 55 साल पुरानी परंपरा दोहराई जा रही थी. इस परंपरा का नाम है ‘बीटिंग द रिट्रीट’. परंपरा तो फिर से निभाई गई लेकिन तस्वीर बदली हुई थी. दोनों तरफ दोनों मुल्कों के लोग अपनी अपनी फौजों के ऐसे ही समारोह को देखने के लिए आए थे. समारोह खत्म हुआ और तभी सुनाई दिया एक कान फाड़ देने वाला धमाका. दो नवंबर की शाम करीब 6 बजकर 3 मिनट पर एक फिदायीन हमला हुआ था. एक युवक ने खुद को उड़ा दिया. पांच दर्जन से ज्यादा पाकिस्तानी मारे गए और 200 जख्मी हो गए.

 

आपको बता दें कि बीटिंग द रिट्रीट’ के समय इस दौरान भारत की बीएसएफ जवान और पाकिस्तान के रेंजर्स हर रोज शाम साढ़े पांच बजे सीमा पर फहराते अपने अपने राष्ट्रीय ध्वज को एक साथ उतारते हैं अगली सुबह फिर से आसमान की बुलंदियों पर फहराने के लिए तस्वीरें जोश जगा देती हैं.

 

यह हादसा आतंकवाद की उस खौफनाक और दर्दनाक कहानी की ओर ले जाता है जिसकी पनाहगाह भी पाकिस्तान है और अब उसका शिकार भी पाकिस्तान है. फर्क ये है कि इस बार निशाना बना है वाघा बॉर्डर और 55 साल पुरानी परंपरा.

 

जांच में और जानकारियां सामने आएंगी लेकिन इस हमले ने पाकिस्तान को एक ऐसा जख्म दे दिया है जिसका दर्द संभल नहीं रहा है. पाकिस्तान दहल उठा लेकिन भले ही धमाका पाकिस्तान में हुआ हो धरती भारत की भी कांप उठी थी. बीएसएफ के महफूज साये में रहने वाले अटारी के निवासियों को भी अब वाघा सीमा पर हुआ ये हमला डरा रहा है.

 

तीन संगठनों ने ली हमले की जिम्मेदारी-

पाकिस्तान में वाघा सीमा से महज कुछ दूरी पर झंडा उतारने के कार्यक्रम के दौरान कल हुए आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी तीन चरमपंथी समूहों ने ली है.

 

अलकायदा से संबंधित संगठन जुंदुल्लाह (अल्ला के सिपाही) ने सबसे पहले इस हमले की जिम्मेदारी ली. तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) से अलग होकर यह संगठन अस्तित्व में आया है.

 

इसके बाद जमात-उल-अहरार ने कहा कि उसके हमलावर हाफिज हनीफुल्ला ने इस हमले को अंजाम दिया. इन दोनों के अलावा महर महसूद नामक समूह ने भी इस आत्मघाती हमले को अंजाम देने की जिम्मेदारी ली है.

 

जमात-उल-अहरार ने ट्विटर पेज पर कहा कि यह हमला भारत और पाकिस्तान दोनों को चेतावनी है और इस तरह के हमले सीमा पार भी हो सकते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Wagah Border attacker’s target was India- Economic Times
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: attack India target Wagah Border
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017