जब मोदी ने सुनाए ये कलाम ...मुझे गिराके अगर तुम सम्भल सको तो चलो

By: | Last Updated: Wednesday, 9 March 2016 5:16 PM
Watch and Read : PM Modi Sher o Shayari in Rajya Sabha

नई दिल्ली : राज्यसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज अलग ही अंदाज़ देखने को मिला. बोलना और प्रभावशाली बोलना, एक कला है, और इस कला में नरेंद्र मोदी कितने माहिर हैं ये बात किसी से छिपी नहीं है. अपनी धुआंधार भाषण शैली, नाज़ और अंदाज़ से सुनने वालों पर जादू कर देते हैं, लेकिन शेर व शायरी का इस्तेमाल बहुत ही कम करते हैं.

आज जब राज्यसभा में विपक्ष पर तीर छोड़े तो इसके लिए उन्होंने शेर व शायरी की जुबान से बात की. इस अंदाज़ से जहां उन्होंने विपक्ष पर तिखे हमले किए वहीं, अभी-अभी दुनिया को छोड़ चले मशहूर शायर निदा फ़ाज़ली को श्रद्धाजंलि भी दी. पीएम मोदी ने राज्यसभा में विपक्ष पर हमले के लिए जो ग़ज़ल पढ़ी वो निदा फाजली का ही कलाम है.

मोदी ने अपने भाषण के अंत में कहा कि अब वो अपनी बात निदा फाजली के शब्दों के साथ खत्म करना चाहता हैं इसके साथ ही मोदी ने ये पंक्तियां राज्यसभा में पढ़ीं. मोदी ने पंक्तियां पढ़ने में जिस अंदाज़ और तेवर का सहारा लिया, बिना किसी उकसावे के विपक्ष पर बड़ा हमला करने में कामयाब रहे.

मोदी ने ये चंद पंक्तियां पढ़ीं

सफ़र में धूप तो होगी जो चल सको तो चलो
सभी हैं भीड़ में तुम भी निकल सको तो चलो

किसी के वास्ते राहें कहाँ बदलती हैं
तुम अपने आप को ख़ुद ही बदल सको तो चलो

यहाँ किसी को कोई रास्ता नहीं देता
मुझे गिराके अगर तुम सम्भल सको तो चलो

यही है ज़िन्दगी कुछ ख़्वाब चन्द उम्मीदें
इन्हीं खिलौनों से तुम भी बहल सको तो चलो

निदा फाजली की ये ग़ज़ल थोड़ी लंबी है. अब जब पीएम ने इसके कुछ हिस्से को राज्यसभा में पढ़ा है तो हम इसी बहाने आपके लिए निदा फाजली की ये पूरी ग़ज़ल पेश कर रहे हैं. 

सफ़र में धूप तो होगी जो चल सको तो चलो

सभी हैं भीड़ में तुम भी निकल सको तो चलो

इधर उधर कई मंज़िल हैं चल सको तो चलो
बने बनाये हैं साँचे जो ढल सको तो चलो

किसी के वास्ते राहें कहाँ बदलती हैं
तुम अपने आप को ख़ुद ही बदल सको तो चलो

यहाँ किसी को कोई रास्ता नहीं देता
मुझे गिराके अगर तुम सम्भल सको तो चलो

यही है ज़िन्दगी कुछ ख़्वाब चन्द उम्मीदें
इन्हीं खिलौनों से तुम भी बहल सको तो चलो

हर इक सफ़र को है महफ़ूस रास्तों की तलाश
हिफ़ाज़तों की रिवायत बदल सको तो चलो

कहीं नहीं कोई सूरज, धुआँ धुआँ है फ़िज़ा
ख़ुद अपने आप से बाहर निकल सको तो चलो

 

यहां देखें वीडियो:

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Watch and Read : PM Modi Sher o Shayari in Rajya Sabha
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017