महाराष्ट्र: लातूर में पानी पर पहरा, हिंसा के डर से लगाई गई धारा 144

By: | Last Updated: Sunday, 20 March 2016 7:21 PM
Water crisis in Latur, 144 imposed to curb potential violence

मुंबई: महाराष्ट्र के लातूर में भयंकर सूखे को देखते हुए प्रशासन ने नदी और पानी सप्लाई वाली जगहों पर धारा 144 लगा दी है. इसका मतलब ये है कि नदी और इसके आस-पास एक समय में 5 लोगों से ज्यादा इकट्टा नहीं हो सकते हैं.

मुंबई से पांच सौ किलोमीटर दूर महाराष्ट्र का लातूर जिला भयंकर सूखे की चपेट में है. हालात ये हैं कि पानी के लिए लोगों की लंबी-लंबी कतारें लग रही हैं. रोजाना पानी तो दूर की बात है कई इलाकों में लोगों को कई दिनों से पानी नहीं मिला है. लातूर जिले में सूखे और उसके बाद जबरदस्त पानी की किल्लत को देखते हुए जिला प्रशासन ने पानी की सप्लाई वाली जगहों और पानी टैंकरों के आस-पास धारा 144 लागू कर दिया है.

प्रशासन ने ऐसे 20 पानी वाली जगहों को चुना है, जहां पर एक वक्त में 5 लोग एक साथ जमा नहीं हो सकते. प्रशासन ने ऐसा इसलिए किया है ताकि पानी को लेकर किसी भी तरह की हिंसा या संघर्ष को रोका जा सके. ये आदेश 31 मई तक के लिए लागू है.

लातूर को महाराष्ट्र का एजुकेशनल हब भी कहा जाता है. यहां पर बाहर से बड़ी संख्या में छात्र आकर पढ़ाई करते हैं. जिला प्रशासन ने जिले के स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर को भी डेढ़ महीने के लिए बंद रखने की अपील की है. प्रशासन ने ऐसा कदम इसलिए उठाया है ताकि पानी बचाया जा सके.

लातूर जिले को पानी सप्लाई करने वाले दो बांध. साई और मांजरा पूरी तरह से सूख चुके हैं. जिसके बाद से लातूर शहर की पानी सप्लाई बंद है. पानी की किल्लत को देखते हुए पहले लातूर महानगर पालिका ने 8 दिनों में हर घर को 200 लीटर पानी देने का फैसला किया था. लेकिन अब ये योजना भी बंद कर दी गई है. लातूर में पानी की किल्लत पर कांग्रेस ने फडणवीस सरकार पर निशाना साधा है.

अभी गर्मियों की अच्छे से शुरुआत भी नहीं हुई है. ऐसे में लातूर में पानी का संकट अगले कुछ महीनों में और गहराने की आशंका है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Water crisis in Latur, 144 imposed to curb potential violence
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017