चीन-भारत को रणनीतिक भागीदारी नई उंचाइयों पर ले जानी चाहिए: शी जिनपिंग

By: | Last Updated: Thursday, 18 September 2014 6:05 AM
We must carry forward strategic ties: Chinese Prez, PM raises

नई दिल्ली: चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने आज उम्मीद जतायी कि चीन और भारत अपनी रणनीतिक और सहयोगात्मक भागीदारी को नयी उंचाइयों पर ले जाएंगे. शी ने कहा कि वह तीन लक्ष्यों के साथ भारत आए हैं जिनका मकसद द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करना और दोनों देशों की अर्थव्यवस्थाओं के बीच मजबूत आपसी समझ निर्मित करना है .

 

यहां राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में रस्मी स्वागत के बाद शी ने कहा, ‘‘हमारी योजना हमारी रणनीतिक और शांति तथा समृद्धि की सहयोगात्मक भागीदारी को नयी उंचाइयों पर ले जाने की है.’’

 

चीनी राष्ट्रपति बीती रात अहमदाबाद से यहां पहुंचे . अहमदाबाद में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उनके सम्मान में रात्रिभोज का आयोजन किया था . चीनी नेता ने कहा कि उनकी यात्रा का मकसद दोनों देशों के बीच की मैत्री को आगे बढ़ाना है.

 

राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी और मोदी के साथ शी ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ चीन और भारत दोनों प्राचीन स5यताएं हैं जिनके बीच हजारों सालों से मैत्रीपूर्ण संवाद रहा है . हम दोनों एक दूसरे की सभ्यता की सराहना और सम्मान करते हैं. यह महत्वपूर्ण है कि हम मैत्रीपूर्ण संबंधों को आगे बढ़ाएं और यह सुनिश्चित करें कि हम एक दूसरे से किए गए वादों को निभाएंगे .

 

तीनों सशस्त्र बलों की टुकड़ियों ने शी को सलामी गारद पेश किया जिसके बाद उन्होंने कहा कि उनका दूसरा मकसद सहयोग को मजबूती प्रदान करना है . उन्होंने कहा, ‘‘ चीन और भारत , दोनों उभरते बाजार हैं . यह महत्वपूर्ण है कि हम सहयोग बढ़ाएं ताकि भारत और चीन की जनता को इससे लाभ मिल सके .’’ उन्होंने कहा कि दोनों देशों को महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए.

 

चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि उनका तीसरा लक्ष्य विकास को एक साथ मिलकर आगे बढ़ाना है क्योंकि विकास दोनों देशों की प्राथमिकता है .

 

उन्होंने कहा, ‘‘यह महत्वपूर्ण है कि हम अपने संबंधों को गहरा करें और एक करीबी विकासात्मक भागीदारी विकसित करें.’’ चीन और भारत को विश्व के दो सबसे बड़े विकासशील देश और उभरते बाजार बताते हुए शी ने कहा, ‘‘ हम उभरते बहुध्रुवीय विश्व में भी दो महत्वपूर्ण ताकतें हैं . इसलिए हमारे संबंधों का रणनीतिक और वैश्विक महत्व है .’’

 

शी ने कहा कि दोनों देशों की जनता के लाभ के लिए दोनों देश साझा विकास पर एक दूसरे के साथ मिलकर काम कर सकते हैं.

 

उन्होंने कहा, ‘‘इस यात्रा के जरिए , मुझे भारत और चीन के बीच मजबूत संबंधों के निर्माण के लिए, भारतीय नेतृत्व के साथ मिलकर काम करने की उम्मीद है. साथ ही शांति और समृद्धि के लिए हमारी रणनीतिक तथा सहयोगात्मक भागीदारी को नयी उंचाई पर ले जाने के लिए एक दूसरे के साथ काम करने की भी उम्मीद है.’’ चीनी राष्ट्रपति का स्वागत करते हुए राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने केंद्रीय कैबिनेट से उनका परिचय कराया.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: We must carry forward strategic ties: Chinese Prez, PM raises
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ????-??? BJP MODI Narendra Modi
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017