रिहाई के बाद कन्हैया का ऐलान, 'भारत से नहीं मेरे भाइयों, भारत में आजादी चाहिए'

By: | Last Updated: Friday, 4 March 2016 9:06 AM
We want freedom in India, not from India : Kanhaiya kumar

नई दिल्ली : जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार को कल जेल से रिहा कर दिया गया. जेल से छूटने के बाद कन्हैया जेएनयू पहुंचे और लंबा भाषण दिया. अपने भाषण में कन्हैया ने कहा कि उसे देश की समस्याओं, भूखमरी, भ्रष्टाचार से आजादी चाहिए. कन्हैया ने अपने भाषण में पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा. भाषण से पहले कन्हैया ने नारा लगाकर शुरूआत की.

अपने स्पीच में कन्हैया ने कहा, ‘हम भारत से नहीं भारत में आजादी चाहते हैं.’ कन्हैया कुमार ने कहा कि पीएम मोदी ट्वीट करके ‘सत्यमेव जयते’ कहते हैं. तो हम भी ‘सत्यमेव जयते’ में भरोसा करते हैं. इसके साथ ही कन्हैया ने स्मृति ईरानी पर भी हमला किया. छात्र नेता ने कहा कि वे ईरानी के ‘चाइल्ड’ नहीं बल्कि ‘जेएनयूआईट’ हैं. उनका कहना था कि नारेबाजी तो जारी ही रहेगी.

kanhaiya-Kumar2

कन्हैया ने कहा कि इस देश में जनविरोधी सरकार है. उस सरकार के ख़िलाफ़ बोलेंगे तो इनका साइबर सेल डॉक्टर्ड वीडियो दिखाएगा. प्रधानमंत्री पर तंज कसते हुए कन्हैया ने कि ये मन की बात करते हैं, सुनते नहीं हैं. साथ ही ये भी कहा, ‘ये याद रखने की जरूरत है कि इनकी विचारधारा को 69 फीसदील लोगों ने नकार दिया है. कुछ को तो आपने हर-हर कहकर झक लिया, आजकल अरहर से परेशान हैं.’

एबीवीपी को निशाने पर लेते हुए कन्हैया ने कहा, ‘हमें एबीवीपी से कोई शिकायत नहीं है क्योंकि हम सही मायनों में गणतांत्रिक लोग हैं. हम भारतीय संविधान में विश्वास करते हैं. मैं एबीवीपी का विच-हंटिंग नहीं करूंगा क्योंकि शिकार उसका किया जाता है जो शिकार करने लायक है. हम एबीवीपी को एक शत्रु की तरह नहीं बल्कि विरोधी के तौर पर देखते हैं.’

kanhaiya-Kumar5

कन्हैया ने कहा, ‘जेएनयू पर हमला एक नियोजित हमला है इस बात को आप समझिए और ये नियोजित हमला इसलिए है कि आप यूजीसी से जुड़े आंदोलन को दबाना चाहते हैं . ये नियोजित हमला इसलिए है कि आप रोहित वेमुला के इंसाफ के लिए जो लड़ाई लड़ी जा रही है उस लड़ाई को आप खत्म करना चाहते हैं. आप जेएनयू का मुद्दा इसलिए प्राइम टाइम पर चला रहे हैं माननीय एक्स आरएसएस…क्योंकि आप इस देश के लोगों को भुला देना चाहते हैं कि मौजूदा प्रधानमंत्री ने 15 लाख रुपये उनके खाते में आने की बात कही थी लेकिन एक बात मैं आपको कह देना चाहता हूं जेएनयू में एडमिशन पाना आसान नहीं है . तो जेएनयू के लोगों को भुला देना भी आसान नहीं है. आप अगर चाहते हैं कि हम भुला देंगे तो हम आपको बार-बार याद करा देना चाहते हैं कि इस देश की सत्ता ने जब जब अत्याचार किया है जेएनयू से बुलंद आवाज आई है और हम उसी को दोहरा रहे हैं और हम बार बार ये याद करा रहे हैं कि तुम हमारी लड़ाई को खत्म नहीं कर सकते.’

दिल्ली की तिहाड़ जेल से रिहाई के बाद जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने छात्रों के बीच पहुंचे थे. अंतरिम जमानत पर छूटने के बाद कल उनके गांव में जश्न का माहौल रहा. बिहार के बेगूसराय में है कन्हैया का गांव. इन सब के बीच कन्हैया कुमार की मां ने कहा, मेरा बेटा आतंकवादी नहीं है. मुझे अपनी परवरिश पर पूरा भरोसा है. यहां सुनें- जेल से बाहर आने के बाद कन्हैया कुमार का पूरा भाषण

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: We want freedom in India, not from India : Kanhaiya kumar
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: bail JNU Kanhaiya Kumar PM Modi Smriti Irani
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017