INTERVIEW: बंगाल में बीजेपी के करीब 6 लाख मुस्लिम सदस्य - राहुल सिन्हा

By: | Last Updated: Tuesday, 17 February 2015 12:21 PM
west bangal bjp cheif exclusive interview to ABP news

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में बनगांव लोकसभा और कृष्णागंज विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में भले ही जीत तृणमूल कांग्रेस को मिली हो लेकिन इन चुनाव में जो सबसे खास बात सामने आई वो बंगाल में बीजेपी की बढ़ती ताकत. 2014 के लोकसभा चुनाव के मुकाबले बीजेपी की शक्ति और बढ़ी है.

 

 कृष्णागंज विधानसभा सीट पर बीजेपी ने अपना वोट प्रतिशत बढ़ाकर 3.09 फीसदी से 29.53 फीसदी कर लिया, वहीं बनगांव लोकसभा सीट पर उनका वोट प्रतिशत बढ़कर 19.06 फीसदी से बढ़कर 25.40 फीसदी हो गया. बीजेपी के अलावा तृणमूल कांग्रेस, सीपीएम और कांग्रेस – तीनों के वोट प्रतिशत में गिरावट आई है. 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद से पश्चिम बंगाल में बीजेपी की लगातार बढ़ती ताकत, मुस्लिमों के मिलते समर्थन और आनेवाले चुनावों की तैयारी पर एबीपी न्यूज संवाददाता कौशल लखोटिया ने पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष राहुल सिन्हा से खास बातचीत की.

 

सवाल- पश्चिम बंगाल में ताजा उपचुनाव में बीजेपी ने भले ही कोई सीट नहीं जीती लेकिन नतीजे आपके लिए अच्छे रहे हैं. जहां बाकी सभी पार्टियों का वोट प्रतिशत घटा है, सिर्फ बीजेपी का बढ़ा है. आप इसकी क्या वजह मानते हैं?

जवाब – पश्चिम बंगाल में बीजेपी लगातार बढ़ रही है, ये चुनाव इसका सिग्नल है. इस चुनाव में और एक चीज निकलकर आई. हमारी शक्ति जो पिछले लोकसभा चुनाव दिख रही थी वो शहरों में थी, ग्रामीण इलाकों में नहीं. लेकिन इस उपचुनाव में दोनों ग्रामीण इलाके थे. कृष्णागंज में तो शहरी इलाका है ही नहीं. इसलिए गांवों में हमने कितनी ताकत से पैर जमाए हैं, ये इसका सबूत है. हमारे लिए ये एक बड़ा अनुभव है. ये बीजेपी को पश्चिम बंगाल में आगे बढ़ने में करेगा. हम कृष्णागंज में तीसरे स्थान से अपना वोट प्रतिशत बढ़ाकर दूसरे स्थान पर आ गए. बनगांव लोकसभा सीट में भी हमने अपने वोटों में करीब एक लाख की बढ़ोतरी की. हम सिर्फ 14 हजार वोट से सीपीएम से पीछे रहे. अगर कल्याणी और गणेशपुर क्षेत्र के 100 बूथों में हेराफेरी नहीं होती, तृणमूल कांग्रेस लूट नहीं मचाती तो निश्चित तौर पर हम और भी ज्यादा समर्थन हासिल करते और हमारी स्थिति और भी अच्छी होती. फिर भी हमें जितनी उम्मीद थी, हम वैसा प्रदर्शन नहीं कर पाए.

 

सवाल- क्या आपको लगता है कि पश्चिम बंगाल में कोई मोदी इफेक्ट है? क्योंकि हाल ही में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में बीजेपी को करारी हार मिली है. वहां मोदी का कोई इफेक्ट नहीं दिखा?

 

जवाब – मोदी का जादू कितना गहरा है ये पूरे देश ने देख लिया. देखिए हर प्रदेश या स्थानीय चुनाव में कुछ बिंदु काम करते हैं. उन्हीं बिंदुओं पर ये चुनाव होते हैं. आज पार्टी ने जो हासिल किया है उसमें मोदी जी औऱ उनकी सरकार की तो सफलता है ही, हमारे कार्यकर्ताओं का भी बहुत बड़ा योगदान है. मोदी जी पूरे देश में बीजेपी का चेहरा है. इसलिए उनका चेहरे ने तो काम किया ही है.

 

सवाल- अगर आम आदमी पार्टी 2016 में पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव लड़ती है तो क्या बीजेपी पर इसका असर पड़ेगा  क्योंकि दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने बीजेपी को बुरी तरह हराया है?

जवाब – पश्चिम बंगाल दिल्ली नहीं है. दोनों में बहुत अंतर है. आम आदमी पार्टी ने जो झूठे वादे किए हैं, उन्हें सुनकर लोगों ने उनपर मुहर लगा दी. पांच साल बीतने दीजिए. इसके बाद उनकी क्या हालत होती है, देखिएगा. आम आदमी पार्टी आम आदमी में विलीन हो जाएगी.

 

सवाल- पश्चिम बंगाल में एक-चौथाई मुस्लिम आबादी है. आम तौर पर बीजेपी उन्हें अपना वोट बैंक नहीं मानती, ऐसे में बिना मुस्लिम समुदाय के समर्थन के बीजेपी यहां कैसे जीतेगी?

जवाब – पश्चिम बंगाल में हाल ही आपने देखा कि हमारे 6 मुस्लिम कार्यकर्ता तृणमूल कांग्रेस के हाथों मारे गए. इसलिए पश्चिम बंगाल में मुस्लिम भारी तादाद में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो रहे हैं. ये बात सच है कि पहले पश्चिम बंगाल में हमें मुस्लिम जनसमर्थन हासिल नहीं था लेकिन अब हमें मुस्लिम समुदाय का समर्थन हासिल होना शुरु हो गया है. मुस्लिम भारतीय जनता पार्टी का झंडा लेकर जान तक दे रहे हैं. जैसा कि मैंने बताया कि हाल ही में 6 मुस्लिम कार्यकर्ता मारे गए हैं. ये कोई मामूली बात नहीं है. मुस्लिम समुदाय का जुड़ना भारतीय जनता पार्टी के लिए एक बड़ी सफलता है.

 

सवाल- फिलहाल बंगाल बीजेपी में कितने मुस्लिम है. इसका कोई आंकड़ा बता सकते हैं?

 

जवाब- देखिए बंगाल में बीजेपी के कुल बाइस लाख सदस्य हो गए हैं. इसमें से करीब 5-6 लाख मुस्लिम हैं.

 

सवाल – क्या पश्चिम बंगाल में बीजेपी मुख्य विपक्षी दल के तौर पर लेफ्ट पार्टियों की जगह ले सकती है?

जवाब- लेफ्ट पार्टियां तो बंगाल से खत्म हो रही हैं. इस चुनाव में आपने इसका सिग्नल देख लिया है. कांग्रेस तो पहले ही समाप्त हो चुकी है. इस चुनाव में उनका नामोनिशान तक नहीं था. लेफ्ट पार्टियों का सफाया होने का काम शुरू हो रहा है. और बीजेपी बंगाल में विकल्प के तौर पर उभर रही है. 2016 में हम लोग ही तृणमूल के सामने मुख्य विपक्षी दल बन कर सामने आएंगे.

 

सवाल- क्या बीजेपी कुछ महीने बाद होनेवाले निकाय चुनावों में लड़ेगी? क्या रणनीति होगी?

जवाब- बीजेपी निकाय चुनाव जरूर लड़ेगी. इसकी तैयारी हम कर रहे हैं. लेकिन इसमें एक ही दिक्कत है. लोकसभा और विधानसभा उपचुनाव केंद्रीय सुरक्षाबलों की निगरानी में हुए. इसलिए साफ सुथरे हुए. लेकिन निकाय चुनाव राज्य की पुलिस की निगरानी में होंगे, गुंडागर्दी भारी मात्रा में होगी. कोई कानून नहीं होगा. बंगाल में तो वैसे भी कानून का कोई राज नहीं है. पुलिसवाले तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के डर से थाने में छिप जाते हैं. इसलिए ऐसे माहौल में ये चुनाव कितने साफ सुथरे होंगे इसपर एक बड़ा प्रश्नचिन्ह है. लेकिन फिर भी हम इस चुनाव में अपनी पूरी ताकत से साथ लड़ेंगे.

 

सवाल- अगर 2016 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी सरकार बनाने की स्थिति में आती है तो क्या आप मुख्यमंत्री पद ग्रहण करेंगे?

जवाब- ये तो पार्टी तय करेगी कि किसको मुख्यमंत्री बनाना है, किसे नहीं. हमारी पार्टी एक संगठित पार्टी है. पार्टी जिसे चाहेगी, वो मुख्यमंत्री होगा.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: west bangal bjp cheif exclusive interview to ABP news
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: ABP News BJP cheif interview west bangal
First Published:

Related Stories

20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य
20 महीने पहले ही 2019 के लिए अमित शाह ने रचा 'चक्रव्यूह', 360+ सीटें जीतने का लक्ष्य

नई दिल्ली: मिशन-2019 को लेकर बीजेपी में अभी से बैठकों का दौर शुरू हो गया है. बीजेपी के राष्ट्रीय...

अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी
अगर लाउडस्पीकर पर बैन लगना है तो सभी धार्मिक जगहों पर लगे: सीएम योगी

लखनऊ: कांवड़ यात्रा के दौरान संगीत के शोर को लेकर हुई शिकायतों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ...

मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर ने फैसला सुरक्षित रखा
मालेगांव ब्लास्ट मामला: सुप्रीम कोर्ट ने श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका...

नई दिल्ली: 2008 मालेगांव ब्लास्ट के आरोपी प्रसाद श्रीकांत पुरोहित की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम...

'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी
'आयरन लेडी' इरोम शर्मिला ने ब्रिटिश नागरिक डेसमंड कॉटिन्हो से रचाई शादी

नई दिल्ली: नागरिक अधिकार कार्यकर्ता इरोम शार्मिला और उनके लंबे समय से साथी रहे ब्रिटिश नागरिक...

अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे
अब तक 113: मुंबई एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा खाकी में लौटे

 मुंबई: मुंबई पुलिस के मशहूर एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा को महाराष्ट्र...

RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी
RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी

आरएसएस की देशभक्ति पर कड़ा हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इस संगठन ने तब तक तिरंगे को नहीं...

चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’
चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. चीन ने अब भारत के खिलाफ खूनी...

सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'
सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले 'बचने के लिए BJP की शरण में गए'

पटना: सृजन घोटाले को लेकर बिहार की राजनीति में संग्राम छिड़ गया है. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद...

यूपी: बहराइच में बाढ़ में फंस गई बारात, ट्रैक्टर पर मंडप पहुंचा दूल्हा
यूपी: बहराइच में बाढ़ में फंस गई बारात, ट्रैक्टर पर मंडप पहुंचा दूल्हा

बहराइच: उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ आने से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. इस बीच बहराइच में...

बेनामी संपत्ति: लालू के बेटा-बेटी, दामाद और पत्नी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगा आयकर
बेनामी संपत्ति: लालू के बेटा-बेटी, दामाद और पत्नी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल...

नई दिल्ली:  लालू परिवार के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाली है. एबीपी न्यूज को जानकारी मिली है कि...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017