कश्मीर की 'आजादी' जायज, नोटबंदी के लिए मजबूर किया जाता तो दे देता इस्तीफा: चिदंबरम । When People Of Kashmir Ask For 'Azadi', Most Want Autonomy- Chidambaram

कश्मीर पर कांग्रेस नेता चिदंबरम के बयान को बीजेपी ने बनाया मुद्दा

पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने जम्मू-कश्मीर की स्वायत्तता की मांग को जायज ठहराया है.

By: | Updated: 29 Oct 2017 08:02 AM
When People Of Kashmir Ask For ‘Azadi’, Most Want Autonomy- Chidambaram
राजकोट: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने अशांत जम्मू कश्मीर को अधिक स्वायत्ता देने की आज एक बार फिर से मांग की, जिसकी भाजपा ने कड़ी आलोचना की है. केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने इसे ‘‘हैरान करने वाला और शर्मनाक’’ बताया.

गुजरात के राजकोट में चिदंबरम ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कश्मीर घाटी में अनुच्छेद 370 का अक्षरश: सम्मान करने की मांग की जाती है जिसका मतलब है कि वे अधिक स्वायत्ता चाहते हैं. जम्मू कश्मीर में लोगों से बातचीत से मैं इस निष्कर्ष पर पहुंचा कि वे आजादी के लिए कहते हैं, मैं यह नहीं कह रहा कि सभी बल्कि ज्यादातर लोग, वे स्वायत्ता चाहते हैं.’’

यह पूछे जाने पर कि क्या वह अब भी मानते हैं कि जम्मू कश्मीर को ज्यादा स्वायत्ता देनी चाहिए तो इस पर चिदंबरम ने कहा, ‘‘हां, मैं मानता हूं.’’ चिदंबरम ने जुलाई 2016 में जम्मू कश्मीर को अधिक स्वायत्ता देने की हिमायत की थी.

इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा ने कहा कि चिदंबरम को ऐसी टिप्पणियां करते देखना हैरान करने वाला नहीं हैं क्योंकि उनके नेता ‘‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’’ नारा देने वाले लोगों का समर्थन करते हैं. भाजपा ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा जेएनयू विवाद में छात्र नेता कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी का विरोध करने वाले लोगों का समर्थन किए जाने का जिक्र किया.

smriti

सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘पी चिदंबरम का अलगाववादियों और ‘आजादी’ का समर्थन करना हैरान करने वाला है हालांकि मैं आश्चर्यचकित नहीं हूं क्योंकि उनके नेता ‘भारत तेरे टुकड़े होंगे’ नारे का समर्थन करते हैं.’’

उन्होंने कहा, ‘‘यह शर्मनाक है कि चिदंबरम ने सरदार पटेल के जन्म स्थल गुजरात में यह बोला, जिन्होंने भारत की एकता एवं खुशहाली के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया.’’ वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस पर जम्मू कश्मीर में अलगाववाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया और उन्होंने कहा कि चिदंबरम का बयान भारत के राष्ट्रीय हित को ‘‘नुकसान’’ पहुंचाता है जो एक गंभीर मुद्दा है.

उन्होंने मुंबई में कहा, ‘‘कांग्रेस पार्टी के एक प्रतिष्ठित नेता की ओर से आया यह बयान पार्टी का अधिकारिक बयान है या नहीं? मुझे लगता है कि पार्टी को तुरंत यह स्पष्ट करना चाहिए.’’ चिदंबरम ने कहा कि अधिक स्वायत्ता के सवाल पर ‘‘गंभीरता से विचार करना’’ चाहिए और इस पर विचार करना चाहिए कि किन क्षेत्रों में स्वायत्ता दी जा सकती है.

उन्होंने कहा, ‘‘उसकी स्वायत्ता पूरी तरह से भारत के संविधान के अंतर्गत है. जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा रहेगा लेकिन उसे अधिक शक्तियां देनी चाहिए जिसका अनुच्छेद 370 के तहत वादा किया गया था.’’ श्रीनगर में भाजपा महासचिव राम माधव ने आरोप लगाया कि कश्मीरी लोग और पूरा देश चिदंबरम और कांग्रेस सरकार की गलतियों का खमियाजा उठा रहा है.

उन्होंने कहा, ‘‘हमें चिदंबरम से सलाह की जरुरत नहीं है.’’

...तो मैं इस्तीफा दे देता: चिदंबरम

 चिदंबरम ने नरेंद्र मोदी सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा कि क्या नोटबंदी का फैसला काले धन को सफेद करने के लिये तैयार किया गया था. चिदंबरम ने ट्विटर पर कहा, ‘‘99 फीसदी नोट कानूनी रूप से बदले गये. क्या नोटबंदी कालेधन को सफेद करने के लिये तैयार की गयी योजना थी?’’ उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि नोटबंदी के कदम के पीछे जो अर्थशास्त्री था वह ‘नोबल पुरस्कार का हकदार’ है क्योंकि आरबीआई के पास 16,000 करोड़ रुपये आये लेकिन नये नोटों की छपाई में 21,000 करोड़ रूपये खर्च हो गये.

नोटबंदी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कहा कि अगर वित्त मंत्री के तौर पर इस कदम के लिए उन पर दबाव बनाया जाता तो वह इस्तीफा दे देते. उन्होंने जीएसटी को ‘जल्दबाजी’ में लागू करने और बुलेट ट्रेन परियोजना को लेकर भी मोदी पर निशाना साधा.

चिदंबरम ने यहां संवाददाताओं से कहा,"अगर मेरे प्रधानमंत्री मुझसे कहते कि नोटबंदी करो तो मैं उनको सलाह देता कि कृपया ऐसा मत करिए और अगर वह इस पर जोर देते तो मैं इस्तीफा दे देता."

जीएसटी की दर को अधिकतम 18 फीसदी रखने की पैरवी करे हुए पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि जीएसटी की कई दर नहीं होनी चाहिए. विकास के गुजरात मॉडल को लेकर कटाक्ष करते हुए चिदंबरम ने कहा, ‘‘विकास पागल हो गया है.’’ उन्होंने गुजरात और हिमचाल प्रदेश चुनाव के कार्यक्रमों का ऐलान एकसाथ नहीं करने को लेकर चुनाव आयोग की आलोचना की.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: When People Of Kashmir Ask For ‘Azadi’, Most Want Autonomy- Chidambaram
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story पाक अधिकारियों के साथ बैठक के आरोपों को कांग्रेस ने निराधार बताया