ABP स्पेशल: राहुल- तुम लौट आओ!

By: | Last Updated: Monday, 2 March 2015 3:54 PM
When will Rahul Gandhi returned?

नई दिल्ली: छुट्टी पर गए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी रोज चर्चा में है. एक तरफ तो उनके करीबियों का कद बढ़ा है दूसरी तरफ एबीपी न्यूज को सूत्रों के हवाले से पता लगा है कि राहुल थाईलैंड में ध्यान कर रहे हैं.

 

दिल्ली से 4619 किलोमीटर दूर थाईलैंड के उबॉन में राहुल गांधी के ध्यान करने की खबर एबीपी न्यूज को मिली है. सूत्रों के मुताबिक उबॉन के पास फॉरेस्ट मॉनेस्ट्री में राहुल विपश्यना करे रहे हैं.

 

थाईलैंड में राहुल गांधी?

 

विपश्याना कर रहे राहुल साल 2013 में भी 9 से 15 मार्च तक विपश्यना के कोर्स में शामिल हो चुके हैं. 2012 में तो रंगून के धम्मा ज्योति विपश्यना सेंटर दस दिनों का कोर्स कर चुके हैं. राहुल को रंगून में एस एन गोयनका ने विपश्यना सिखाई थी.

 

राहुल गांधी छुट्टी पर कहां गए हैं जब ये सवाल उनकी मां और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से पत्रकारों ने पूछा तो उन्होंने कहा कि जब वो लौटेंगे तो पता लग जाएगा. वैसे कांग्रेस राहुल के थाईलैंड में होने की खबर से इनकार कर रही है.

 

राहुल की छुट्टी पर विवाद

 

राहुल बजट सत्र शुरू होने से ठीक पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को बताकर छुट्टी पर गए थे. खबर आई कि राहुल नाराज होकर छुट्टी पर गए हैं और अब पता चला है कि राहुल ध्यान के बाद 15 मार्च को भारत लौटेंगे.

 

पिछले दिनों प्रियंका गांधी के समर्थक माने जाने वाले जगदीश शर्मा ने एक तस्वीर जारी कर दावा किया था कि राहुल गांधी उत्तराखंड में चिंतन कर रहे हैं. लेकिन कांग्रेस ने ये खबर खारिज कर दी थी.

 

राहुल की राह पर चली कांग्रेस

 

राहुल की नाराजगी की चर्चा के बीच पार्टी उनकी राह पर चल पड़ी है. राहुल के करीबी नेताओं को पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी देने की शुरुआत हो गई है.

 

अजय माकन को दिल्ली का अध्यक्ष बनाया गया है. पूर्व सांसद संजय निरुपम मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष बने हैं. सांसद अशोक चव्हाण को महाराष्ट्र कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया गया है. तो गुजरात की कमान पूर्व सांसद भरत सिंह सोलंकी को दी गई है.  जम्मू कश्मीर में गुलाम मीर अध्यक्ष बने हैं तो तेलांगाना कांग्रेस का अध्यक्ष उत्तम कुमार को बनाया गया है.

 

कहा तो ये भी जा रहा है कि अप्रैल में राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक राहुल की मदद के लिए प्रियंका गांधी को पार्टी महासचिव बनाने की बात चल रही है. हालांकि प्रियंका वाली खबर की पुष्टि कहीं से नहीं हुई है.

 

राहुल समर्थकों की नजर में विलेन कौन?

 

अंग्रेजी अखबार टेलीग्राफ के मुताबिक सोनिया के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल, एआईसीसी के कोषाध्यक्ष मोती लाल वोरा और महासचिव जनार्दन द्विवेदी को राहुल के करीबी कांग्रेस के बुरे हाल के लिए जिम्मेदार मान रहे हैं. और कहा जा रहा है कि जब तक पार्टी संगठन में बड़े बदलाव नहीं होते तब तक राहुल गांधी दिल्ली नहीं लौटेंगे.

 

कांग्रेस के एक बड़े नेता ने एबीपी न्यूज को बताया है कि राहुल गांधी लौटकर पदयात्रा पर निकलेंगे. राहुल भूमि अधिग्रहण जैसे देश के बड़े मुद्दे को लेकर पदयात्रा करेंगे. इसके लिए प्रियंका गांधी भी राजी हैं लेकिन सोनिया गांधी को राहुल की सुरक्षा की चिंता है.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: When will Rahul Gandhi returned?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017