बदंर ने ली सेल्फी, मालिकाना हक के लिए आमने-सामने आए फोटोग्राफर और विकीपीडिया

By: | Last Updated: Friday, 8 August 2014 4:06 AM

नई दिल्ली: आजकल सेल्फी लेना आम बात है. अब सिर्फ हम, आप और बड़े सितारे ही नहीं बल्कि जानवर भी सेल्फी लेने लगे हैं. इसी का नतीजा है कि एक बंदर की सेल्फी की वजह से विवाद हो गया है.

 

यह विवाद बंदर इसलिए हुआ है कि क्योंकि तीन साल पहले ली गई इस सेल्फी पर विकीपीडिया और जिस कैमरे से सेल्फी ली गई थी उसका मालिक फोटोग्राफर दोनों अपना अपना मालिकाना हक जता रहे हैं.

 

फोटोग्राफर डेविड स्लेटर का दावा है कि यह तस्वीर उनके कैमरे से ली गई है और विकीपीडिया इसे अपने पेज से हटा दे. जबकि विकीपीडिया ने इस सेल्फी को यह कहते हुए हटाने से इनकार कर दिया है कि क्योंकि यह तस्वीर बंदर ने ली थी.

 

विकीपीडिया के मुताबिक इस तस्वीर की कॉपीराइट उस बंदर के पास है न कि उस फॉटोग्राफर के पास. विकीपीडिया ने अपनी बेवसाइट पर लिखा है, ‘इन तस्वीरों को पब्लिक डोमेन में इसीलिए रखा गया कि इसे इंसान ने नहीं खींचा और इसलिए कोई कॉपीराइट भी नहीं बनता है.’

फोटोग्राफर का कहना है कि जब वह 2011 जब वह काले मकैक बंदरों की तस्वीरें खींच रहे थे तभी उनमें से एक बंदर ने उनका कैमरा छीन लिया और उसने लगातार बहुत सारी क्लिक्स कर डालीं. उनसे में से ही एक सेल्फी भी है.

 

फोटोग्राफर ने विकीपीडिया का स्वामित्व रखने वाली विकीमीडिया के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की योजना बना ली है. विकीपीडिया पर वह 30,000 डॉलर (18.38 लाख रु.) तक जुर्माना लगाने का केस कर सकते हैं.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Who owns this monkey’s selfie?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017