क्या जापान करेगा भारत के बुलेट ट्रेन के सपने को साकार ?

By: | Last Updated: Thursday, 28 August 2014 3:57 PM
will japan provide bullet rain?

नई दिल्ली : बुलेट ट्रेन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बड़े सपनों में से एक है. देश को वह जल्द से जल्द बुलेट ट्रेन का तोहफा देना चाहते हैं. चीन और जापान दोनों ही भारत के इस सपने को हकीकत का रूप देने की कोशिश में जुटे हैं. लेकिन मोदी की इस यात्रा के दौरान जापान चीन से बाजी मार सकता है.

 

क्या बहुत जल्द मिलने वाली है देश को अच्छी खबर? क्या जापान करेगा भारत के बुलेट ट्रेन के सपने को साकार ?

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश को बुलेट ट्रेन देने का वादा कर चुके हैं. उनके जापान दौरे से ठीक पहले देश के इस सपने को मानो नए पंख लग गए हैं. हालांकि रेल मंत्री सदानंद गौड़ा मोदी के जापान दौरे में उनके साथ नहीं होंगे. लेकिन जिस तरह से रेलवे में एफडीआई को पहले केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दी और प्रधानमंत्री के जाने के पहले उसका नोटिफिकेशन लाया गया. वह इस तरफ इशारा करता है कि जापानी पीएम प्रधानमंत्री शिंजो आबे से बातचीत के दौरान दोनों देशों के बीच बुलेट ट्रेन चलाने में साझेदारी को लेकर कोई बड़ी पहल की जा सकती है.

 

बुलेट ट्रेन को भारत में लाने की संभावनाओं पर जापान स्टडी कर रहा है. रेलवे से जुड़े सूत्रों की मानें तो प्रधानमंत्री के जापान दौरे में तीन अहम बातों पर चर्चा हो सकती है. पहला वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्राएट कॉरीडोर. दूसरा जापान की शिनकानसेन से बुलेट ट्रेन खरीदने की बात और तीसरा दिल्ली मेट्रो की तर्ज पर देश के दूसरे शहरों में मेट्रो का विकास. फीजबिलिटी स्टडी का जिम्मा जापान की तरफ से JICA यानी Japan International Cooperation Agency को सौंपा गया है.

 

भारत में बुलेट ट्रेन परियोजना पर काम करने के लिए चीन भी जोरशोर से जुटा हुआ है. चीन सबसे लंबे हाई स्पीड रेल नेटवर्क के क्षेत्र में दुनिया भर में अपना जाल बिछा चुका है. वह जापान से सस्ती दरों पर भारत को हाई स्पीड ट्रेन दे सकता है. लेकिन पिछले कुछ सालों में चीन में भीषण ट्रेन हादसे भी हुए हैं. इस सबको देखते हुए मोदी देश में जीरो एक्सिडेंट वाली बुलेट ट्रेन चाहते हैं. लिहाजा इस बात की संभावना ज्यादा दिख रही है कि बुलेट ट्रेन पर भारत का समझौता जापान के साथ हो सकता है..

 

खबर है कि जापान अहमदाबाद-मुंबई कॉरीडोर के लिए शिनकानसेन नेटवर्क को लेकर एक रिपोर्ट भी तैयार कर चुका है और इंतजार उसे बस मोदी के आने का है.

 

सूत्रों के मुताबिक रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने प्रधानमंत्री को बुलेट ट्रेन की पहली फीजबिलिटी स्टडी पर पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन भी दिया है. JICA की अगली रिपोर्ट नवंबर में आने की उम्मीद है. जिसमें ये साफ हो जाएगा की आखिर कितने साल में बुलेट ट्रेन योजना पूरी की जा सकेगी. योजना पर कितना खर्च आएगा और 534 किलोमीटर लंबे मुंबई अहमदाबाद रूट पर कुल कितना किराया बैठेगा.

 

अहमदाबाद-मुंबई रूट के अलावा दिल्ली-आगरा. दिल्ली-चंडीगढ़.. मैसूर-बैंगलोर-चेन्नई.. मुंबई-गोवा और हैदराबाद-सिकंदराबाद रूट पर हाई स्पीड ट्रेन लाने की मोदी सरकार की योजना है.

 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: will japan provide bullet rain?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017