अमेरिका की ब्याज दरों से हमें क्या मतलब?

By: | Last Updated: Wednesday, 16 September 2015 12:30 PM
Will US interest rates rise?

अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने के डर से ही दुनिया भर के बाज़ार क्यों हिल रहे हैं, अगर आजकल की उथल-पुथल को समझना है तो ये समझना ज़रूरी है. अमेरिका में 2008 से ही ब्याज दरें जानबूझकर कम रखी गईं ताकि पैसा बैंक में न रखकर लोग ख़र्च ज़्यादा करें और कंपनियों को उत्पादन के लिए सस्ता क़र्ज़ मिल सके और मंदी दूर हो. फ़ेड फ़ंड रेट, यानी वो ब्याज दर जिसपर वहां बैंक एक दूसरे को पैसा देते हैं, उसको 0 फीसदी से 0.25 फीसदी रखा गया. तो हुआ ये कि सस्ती दर पर पैसा लेकर भारत जैसे शेयर बाज़ारों में निवेश कर दिया गया. भारत जैसे बाज़ारों में इसलिए क्योंकि यहां निवेश पर मुनाफ़ा ज़्यादा मिल रहा है. अमेरिकी शेयर बाज़ार नैस्डैक का इंडेक्स पिछले एक साल में 1.47 फीसदी बढ़ा है जबकि सेंसेक्स 22 फीसदी बढ़ चुका है.

 

अब अमेरिका में अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है तो वहां ब्याज दरें बढ़ाने का संकेत वहां के रिज़र्व बैंक, फ़ेडरल रिज़र्व ने दे दिया है. वहां बयाज दरें बढ़ेंगी तो अमरिकी सरकार के बॉन्ड में रिटर्न बहतर मिलेगा. निवेशक भारत जैसे बाज़ारों से पैसा निकालकर अमेरिकी सरकार के बॉन्ड लेने में लगा सकते हैं. साथ ही सस्ती दर पर जो पैसा वहां से यहां आ रहा था वो आना कम हो जाएगा. इसीलिए दुनिया भर के बाज़ारों में उथल-पुथल है. भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर ने भी कहा है कि अमेरिका को दुनिया भर का माहौल देखने के बाद ही ब्याज दर बढ़ाने का फैसला लेना चाहिए. इशारा चीन की तरफ़ है. क्योंकि एक तो चीन में अर्थव्यवस्था की रफ़्तार धीमी पड़ रही है जिससे वहां के कारख़ानों में कच्चे माल की खपत कम हो गई है. कॉपर, एल्युमिनियम के दाम गिर गए हैं. चीन अपनी मुद्रा की वैल्यू घटा चुका है. जिससे सस्ते चीनी माल से दुनिया की बाक़ी कंपनियों को मुक़ाबला करने में मुश्किल आ रही है. और कंपनियों का मुनाफ़ा कम हो रहा है तो उनके शेयर गिर रहे हैं. ऊपर से अमेरिका ने ब्याज दरें बढ़ा दीं तो पैसा तेज़ रफ़्तार से अमेरिका की तरफ़ जाएगा और शेयर बुरी तरह गिर सकते हैं.

 

अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ेंगी तो डॉलर की मांग बढ़ेगी. यानी डॉलर और मज़बूत होगा. रुपया पहले ही दो साल के निचले स्तरों पर चल रहा है, फिर 65 से 70 के बैंड की तरफ़ बढ़ सकता है. ऐसा हुआ तो रुपये को मज़बूत करने के लिए रिज़र्व बैंक को डॉलर ख़र्च करने पड़ सकते हैं. और अगर विदेशी निवेशक भारी मात्रा में डॉलर देश से लेकर निकलने लगे तो रिज़र्व बैंक भारत में ब्याज दरें कैसे घटाएगा?  घटाएगा तो भारत में रिटर्न और कम मिलने लगेगा जिससे और ज़्यादा निवेशक भारत से बाहर निकलेंगे. लेकिन रिज़र्व बैंक ब्याज दरें नहीं घटाएगा तो देश में उद्योग को सस्ता क़र्ज़ नहीं मिल पाएगा जिससे भारत की अर्थव्यवस्था में जान फूंकना मुश्किल हो जाएगा. इसलिए इतना हंगामा बरपा हुआ है अमेरिका की ब्याज दर को लेकर.

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Will US interest rates rise?
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: interest rate US
First Published:

Related Stories

एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!
एबीपी न्यूज़ की खबर का असर, गायों की मौत के मामले में बीजेपी नेता गिरफ्तार!

रायपुर: एबीपी न्यूज की खबर का असर हुआ है. छत्तीसगढ़ में गोशाला चलाने वाले बीजेपी नेता हरीश...

जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच
जानिए क्या है फिजिक्स के प्रोफेसर की बाइक में बम का सच

नई दिल्लीः आजकल सोशल मीडिया पर एक टीचर की वायरल तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा है कि वो अपनी...

19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और पुलिस
19 अगस्त को गोरखपुर में होंगे राहुल गांधी, खुद के लिए नहीं लेंगे एंबुलेंस और...

लखनऊ: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी 19 अगस्त को यूपी के गोरखपुर जिले के दौरे पर रहेंगे. राहुल...

नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी
नेपाल से बातचीत के जरिए ही निकल सकता है बाढ़ का स्थायी समाधान: सीएम योगी

सिद्धार्थनगर/बलरामपुर/गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को...

पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश की
पीएम मोदी ने की नेपाल के प्रधानमंत्री से बात, बाढ़ से निपटने में मदद की पेशकश...

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को नेपाल के अपने समकक्ष शेर बहादुर देउबा से...

एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें
एबीपी न्यूज पर दिनभर की बड़ी खबरें

1. डोकलाम विवाद के बीच पीएम नरेंद्र मोदी का चीन जाना तय हो गया है. ब्रिक्स देशों के सम्मेलन के लिए...

सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन
सरकार के रवैये से नाराज यूपी के शिक्षामित्रों ने फिर शुरू किया आंदोलन

मथुरा: यूपी के शिक्षामित्र फिर से आंदोलन के रास्ते पर चल पड़े हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद...

बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान
बाढ़ से रेलवे की चाल को लगा 'ग्रहण', सात दिनों में करीब 150 करोड़ का नुकसान

नई दिल्ली: असम, पश्चिम बंगाल, बिहार और उत्तर प्रदेश में आई बाढ़ की वजह से भारतीय रेल को पिछले सात...

डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे बातचीत
डोकलाम विवाद पर विदेश मंत्रालय ने कहा- समाधान के लिए चीन के साथ करते रहेंगे...

नई दिल्ली: बॉर्डर पर चीन से तनातनी और नेपाल में आई बाढ़ को लेकर शुक्रवार को विदेश मंत्रालय ने...

15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी सरकार ने मंगवाए वीडियो
15 अगस्त को राष्ट्रगान नहीं गाने वाले मदरसों के खिलाफ होगी कार्रवाई, यूपी...

लखनऊ: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर योगी सरकार ने राज्य के सभी मदरसों में राष्ट्रगान गाए जाने का...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017