Winter session of the parliament starts today, from delay in it to many more issue it can be a chaotic one - आज से शुरू होगा संसद का शीतकालीन सत्र, इसमें हुई देरी समेत कई मुद्दों पर इसके हंगामेदार रहने के आसार

आज से शुरू होगा संसद का शीतकालीन सत्र, इसमें हुई देरी समेत कई मुद्दों पर इसके हंगामेदार रहने के आसार

By: | Updated: 15 Dec 2017 08:01 AM
Winter session of the parliament starts today, from delay in it to many more issue it can be a chaotic one

नई दिल्ली: संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू होकर 5 जनवरी तक चलेगा. शीतकालीन सत्र के काफी हंगामेदार रहने के आसार है. विपक्ष की ओर से सरकार को गुजरात चुनाव की वजह से सत्र में देर करने के अलावा, जीएसटी, नोटबंदी, राफेल खरीद मुद्दा, किसानों से जुड़े मुद्दों समेत कई और मुद्दों पर घेरने का प्रयास किया जा सकता है. गुजरात चुनाव परिणाम का भी सत्र पर प्रभाव दिखने के आसार हैं.


सत्र के दौरान तीन बिल लाने का प्रस्ताव है जिसमें वस्तु एवं सेवा कर अध्यादेश (जीएसटी ऑर्डिनेंस), 2017 की जगह पर बिल लाने का प्रस्ताव शामिल है. यह अध्यादेश 2 सितंबर 2017 को जारी किया गया था. इसके अलावा ऋण शोधन और दिवाला संहिता (इन्सालवेंसी एंड बैंकरप्सी कोड) (संशोधन) अध्यादेश, 2017 की जगह पर भी बिल लाने का प्रस्ताव है. सरकार का भारतीय वन (संशोधन) अध्यादेश, 2017 की जगह पर भी बिल लाने का प्रस्ताव है.


सरकार का तीन तलाक पर लगी रोक को कानूनी जामा पहनाने के लिए भी बिल पेश करने, पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा दिलाने वाले संविधान संशोधन बिल फिर से लाने का इरादा है. सत्र के दौरान नागरिकता संशोधन बिल 2016, मोटरवाहन संशोधन बिल 2016, ट्रांसजेंडर व्यक्ति के अधिकार संरक्षण बिल को पास कराने पर भी जोर दिया जा सकता है.


कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी नोटबंदी को लेकर भी मोदी सरकार को निशाने पर लेते रहे हैं. अर्थव्यवस्था की स्थिति, जीडीपी विकास दर और बाकी आर्थिक मुद्दों पर भी कांग्रेस समेत विपक्ष सरकार पर निशाना साध सकती है. संसद सत्र के दौरान ही 18 दिसंबर को गुजरात विधानसभा चुनाव के परिणाम आने हैं. गुजरात के मोदी के गृह प्रदेश होने के कारण चुनाव परिणाम का भी सत्र पर असर दिखने की संभावना है.


बीजेपी की अगुवाई वाली एनडीए सरकार पर कांग्रेस राफेल समझौते में घोटाले का आरोप लगाती आयी है. ऐसे में यह मुद्दा भी संसद में गरमा सकता है. इन सबके अलावा संसद के सत्र में कई महत्वपूर्ण बिलों पर भी चर्चा होने की संभावना है. बहरहाल, संसद के 15 दिसंबर से शुरू हो रहे शीतकालीन सत्र से पहले सरकार ने गुरुवार को सर्वदलीय बैठक बुलायी है ताकि संसद का कामकाज सुचारू रूप से चलाने सहित अलग-अलग महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की जा सके.


संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने 14 दिसंबर को सर्वदलीय बैठक बुलायी है. शीतकालीन सत्र में कुल 14 बैठकें होंगी और यह 22 दिन तक चलेगा. संसद सत्र देरी से बुलाने की विपक्ष की आलोचना पर सरकार का कहना है कि यह पहला मौका नहीं है जब विधानसभा चुनावों के चलते संसद के सत्र को आगे बढ़ाया गया हो. यह पहले भी होता रहा है.


आज का राज्यसभा का एजेंडा

आज राज्यसभा में चुनाव आयोग की कारवाई को लेकर मुद्दा उठ सकता है. विपक्ष का कहना है कि पीएम ने गुजरात चुनाव के दौरान 14 दिसंबर को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया है. साथ ही विपक्ष का मानना है कि इस पूरे प्रकरण में चुनाव आयोग अपनी भूमिका अदा करने में सफल नहीं रहा है.


विपक्ष का कहना है कि कारवाई के बजाए चुनाव आयोग ने सत्ताधारी पार्टी को और नियम तोड़ने का मौका दिया है. विपक्ष का यह भी कहना है कि जिस तरीके से कलावरी पनडुब्बी को राष्ट्र को सौंपा गया, उससे वोटर वोटिंग के दिन प्रभावित हुए. साथ ही सदन में शरद यादव और अनवर अली के निलंबन का मुद्दा भी उठ सकता है.


आज का लोकसभा का एजेंडा


आज लोकसभा में सदन के दो सदस्यों को श्रद्धांजली देने के बाद इसे सुबह 11 बजे स्थगित कर दिया जाएगा. बिहार के अररिया से सांसद रहे तस्लीमुद्दीन और अलवर के सांसद रहे महंत चांदनाथ का निधन हो चुका है.

फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title: Winter session of the parliament starts today, from delay in it to many more issue it can be a chaotic one
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story सिद्धू-कैप्टन में सबकुछ ठीक नहीं, जानें क्या है वजह?