नेपाल भूकंप: पांच दिन बाद मलबे से जिंदा निकले दो लोग

By: | Last Updated: Friday, 1 May 2015 2:20 AM
Woman rescued from damaged hotel five days after Nepal earthquake

Krishna Devi Khadka (AP Photo)

काठमांडू: नेपाल के काठमांडू में पांच दिन बाद मलबे से एक महिला को जिंदा निकाला गया. महिला का नाम कृष्णा देवी है जिन्हें इजराइल की एजेंसी इजराइल ऐड ने गुरुवार को मलबे से जिंदा निकाला है. वह काठमांडो के मुख्य बस टर्मिनल के पास वाले इलाके में फंसी हुई थी जहां काफी सारे होटल हैं.

 

विनाशकारी भूकंप से तबाह हुए नेपाल में गुरूवार को कृष्णा देवी को जिंदा निकाले जाने के वक्त थोड़ी खुशी का लम्हा आया.

 

सात मंजिला इमारत के मलबे से सही सलामत निकला पेंबा

काठमांडू में दो बचाव कर्मी गुरुवार को अपनी जान जोखिम में डालकर सात मंजिला इमारत के एक मलबे के अंदर घुसे और पांच घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद 16 साल के इस लड़के को सही सलामत बाहर निकाल लाए.

 

एक लंबी खामोशी के बीच उस वक्त खुशी की लहर दौड़ गई. इसे देखकर लोगों के जीवित निकालने जाने की आशा बढ़ गई.

वहां मौजूद भीड़ को जैसे ही पता चला कि मलबे के अंदर से निकला लड़का जिंदा है. वहां मौजूद लोग अपना दर्द भूलकर खुशी से चिल्ला उठे. पेंबा तमांग मलबे से निकालने के बाद बचावकर्मियों ने उसे लेकर दौड़ लगा दी. ताकि उसे तुरंत मेडिकल मदद दी जा सके.

 

पांच घंटे चली इस कवायद में भारत, नेपाल और अमेरिका का बचाव दल किस तरह जी जान से लगा था. हेलिकॉप्टर से ली गई तस्वीरें उसकी गवाह हैं. जिस सातमंजिला इमारत के मलबे में पेंबा दबा था. उसमें चार गेस्टहाउस चलते थे. भूकंप से इमारत गिरी तो गेस्टहाउस में मौजूद कई लोगों तरह पेंबा भी मलबे में जमींदोज हो गया.

 

अब इसे चमत्कार कहिए. या पेंबा की खुशकिस्मती. पांच दिन बाद वो इस मलबे से सही सलामत बाहर निकाल लिया गया.

 

वहीं, बारिश एवं रिक्टर पैमाने पर 3.9 और 4. 7 की तीव्रता से आए झटकों के चलते राहत कार्य प्रभावित हुआ.

 

नेपाल भूकंप त्रासदी में अबतक लगभग 6 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और लगभग 11 हजार से ज्यादा लोग घायल हैं.

 

नेपाल में शनिवार को आये भूकम्प के बाद राहत एवं बचाव कार्य युद्धस्तर पर चलाया जा रहा है. नेपाल में इस त्रासदी में मरने वालों की संख्या 6 हज़ार के ऊपर है, वहीँ 11 हज़ार से अधिक लोग घायल हुए हैं.

 

नेपाल के कुछ इलाकों में बारिश और फिर तेज़ धुप की वजह से सडकों पर जीवन जीने को मज़बूर लोगों की दिक्कतों में कई गुना इजाफा हो गया है. इसको देखते हुए भारत सरकार ने गुरूवार को 8450 टेंट नेपाल भिजवाया है. इसमें से 750 टेंट हवाई जहाज़ से नेपाल पहुंचाए गए हैं, वहीँ बाकी रोड और रेल मार्ग से ले जाये जा रहे हैं.

Ground Zero: रिपोर्टर्स की जुबानी भूकंप की कहानी

 

नेपाल भूकंप से संबंधित खबरें-

नेपाल भूकंप: पांच दिन बाद मलबे से जिंदा निकले दो लोग 

नेपाल भूकंप: 15,000 तक जा सकती है मरने वालों की संख्या 

नेपाल: 14 मई तक स्कूल बंद, होगी स्कूल और कॉलेज की इमारतों की जांच 

पाकिस्तान ने राहत सामग्री में भेजा ‘बीफ मसाला’, नेपाल में मचा बवाल 

नेपाल भूकंप: 22 घंटे बाद मलबे से जिंदा निकला चार महीने का बेबी 

नेपाल की सहायता के लिए भारतीय संगठनों में होड़ 

नेपाल से लौट रहे लोगों के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पर रेल टिकट 

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Woman rescued from damaged hotel five days after Nepal earthquake
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: India Kathmandu Nepal Nepal earthquake
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017