महिलाओं की पूजा पर रोक क्यों?

By: | Last Updated: Monday, 25 January 2016 4:40 PM
Women’s group to protest at Shani temple

नई दिल्ली: महाराष्ट्र के शनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के पूजा करने के एलान के बाद तनाव बढ़ गया . 400 महिलाओं ने ऐलान किया है कि कल वो भगवान शनि के चबूतरे पर पूजा करेंगी . सवाल ये है कि महिलाओं की पूजा पर रोक क्यों?

महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले का प्रसिद्ध शनि शिंगणापुर मंदिर . मंदिर में महिलाओं के पूजा करने को लेकर एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है. और इस बार सिर्फ विवाद नहीं बल्कि तनाव हो गया है .

दरअसल एनजीओ रणरागिनी भूमाता ब्रिगेड ने 400 महिलाओं के साथ कल शनि शिंगणापुर मंदिर में भगवान शनि के चबूतरे पर चढ़कर पूजा करने का एलान कर दिया है .

एनजीओ भूमाता ब्रिगेड की प्रमुख तृप्ती देसाई की दलील है कि मंदिर के चबूतरे पर महिलाओं को रोकने का नियम गलत है .

भूमाता ब्रिगेड का दावा है कि महिलाओं की संख्या 400 से ज्यादा भी हो सकती है. इस एलान का मंदिर प्रशासन और कुछ हिंदूवादी संगठन विरोध कर रहे हैं .

400 साल पुरानी मान्यता है कि शनि देव की मूर्ति को महिलाएं नहीं छू सकती और न हीं मूर्ति पर तेल चढ़ा सकती हैं .

भूमाता ब्रिगेड के ऐलान के बाद शनि शिंगनापुर मंदिर और उसके आस-पास सुरक्षा के इंतजाम बढ़ा दिए गए हैं . पुलिस ने लोगों के एकजुट होने या किसी भी तरह का मोर्चा निकालने पर पूरी तरह से पाबंदी लगा दी है .

दरअसल शनि शिंगणापुर मंदिर का विवाद 28 नवंबर को शुरू हुआ था. उस दिन एक युवती ने परंपरा को तोड़ते हुए शनि देव के चबूतरे पर चढ़कर तेल चढ़ाया था, जिस पर विवाद हुआ था . अगले दिन मंदिर प्रशासन ने मंदिर का शुद्धिकरण करवाया था . मंदिर प्रशासन के इस फैसले पर महिला संगठनों ने कड़ी आपत्ति जताई थी . इसके बाद मंदिर प्रशासन ने एक महिला को ट्रस्टी बोर्ड में शामिल किया था . महिला ट्रस्टी ने भी महिलाओं के चबूतरे पर चढ़ने को परंपरा के खिलाफ बताया था .

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: Women’s group to protest at Shani temple
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: Shani temple
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017