INDvsAUS: तो इसलिए ऑस्ट्रेलिया को हराकर न्यूज़ीलैंड से भिड़ेगी टीम इंडिया!

By: | Last Updated: Wednesday, 25 March 2015 5:33 AM
World Cup 2015_Team India_Australia_Semi Final_Shikhar Dhawan_Rohit Sharma_Mitchell Starc_Mohammad Shami_

गेंदबाज़ी में दिखाओ दम: मोहम्मद शमी ने इस विश्वकप में तूफानी गेंदबाज़ी करते हुए 17 विकेट झटके हैं. वो विश्वकप के सबसे सफल गेंदबाज़ बनने से महज़ 4 विकेट ही दूर हैं. स्टार्क ने अब तक 6 मैचों में 9 के उम्दा औसत से 18 विकेट झटके हैं. वो भारत के शमी से 1 विकेट आगे हैं. उन्होनें टीम को शुरूआती झटके भी दिलाए हैं.

नई दिल्ली/सिडनी: ऑस्ट्रेलिया पर जीत के साथ फाइनल में पहुंचेगी टीम इंडिया!. जी हां ये कोई भविष्यवाणी नहीं बल्कि टीम इंडिया के अब तक वर्ल्डकप में किए प्रदर्शन पर पेश किए जाने वाले आंकड़े की एक झलक भर है.

 

दुनियाभर के क्रिकेट प्रेमी इस वक्त ऑस्ट्रेलिया को सेमीफाइनल का प्रबल दावेदार मान रहे हैं. लेकिन अगर टीम इंडिया और ऑस्ट्रेलिया के इन पहलुओं और आंकड़ों पर गौर किया जाए तो टीम इंडिया निश्चित तौर पर वर्ल्डकप के फाइनल में जगह बनाती हुई नज़र आ रही है.

 

भारतीय टीम ने इस वर्ल्डकप में खेल के हर क्षेत्र में ऑस्ट्रेलिया से बेहतर प्रदर्शन किया है. अब तक भारत और ऑस्ट्रेलिया ने 7 मुकबालें खेले हैं जिनके आधार पर विश्वकप का ये लेखा जोखा प्रस्तुत किया जा रहा है.

 

आईये नज़र डालें किस तरह टीम इंडिया, ऑस्ट्रेलिया पर भारी है.

 

ओपनिंग जोड़ी:

भारत के ओपनर शिखर धवन और रोहित शर्मा ने इस वर्ल्डकप में मिलकर इस वर्ल्डकप में तीसरे सबसे ज्यादा रन 353 रन बनाए हैं. वो सिर्फ वर्ल्डकप से बाहर हो चुकी इंग्लैंड और न्यूज़ीलैंड से ही पीछे हैं.

 

ऑस्ट्रेलिया इस मामले में भारत से बेहद पीछे है. ऑस्ट्रेलिया के ओपनर डेविड वार्नर और एरॉन फिंच ने मिलकर इस वर्ल्डकप में महज़ 165 रन जोड़े हैं.  

 

ROHIT & SHIKHAR: शिखर धवन ने विश्वकप में अब तक 7 पारियों में 52 के औसत से 367 रन बनाए हैं वो सबसे ज्यादा रन बनाने वालों की सूची में 5वें पायदान पर हैं. जबकि रोहित ने अब तक 49 के औसत से 296 रन बनाए है. पिछले मैच में शतक लगाने के साथ ही वो अपनी फॉर्म में वापसी का संकेत भी दे चुके हैं.

 

WARNER & FINCH: जबकि ऑस्ट्रेलिया के ओपनर डेविड वार्नर अब तक 288 रन ही बना पाए हैं. जिसमें से बस एक शतक छोड़ दिया जाए तो उन्होनें इस विश्वकप में 5 मैचों में महज़ 110 रन जोड़े हैं. जबकि एरॉन फिंच ने इस विश्वकप में 33 के औसत से 199 रन जोड़े हैं. इंग्लैंड के खइलाफ पहले मुकाबले में 135 रनों की पारी को छोड़ दिया जाए तो वो भी इस पूरे विश्वकप में असफल नज़र आए हैं.

 

मिडिल ऑर्डर:

VIRAT, RAHANE, RAINA: मिडिल ऑर्ड्रर में विराट कोहली भारत के इस विश्व कप में दूसरे सबस सफल बल्लेबाज़ हैं. विराट ने वर्ल्डकप में खेली 7 पारियों में 60 के औसत से 304 रन जोड़े हैं.

 

जबकि रैना ने इस विश्वकप में मैच जिताऊ पारियां खेलते हुए 70 के बेहतरीन औसत से 277 रन बनाए हैं. वहीं रहाणे ने 32 के औसत से 164 रन बनाए हैं.

 

SMITH, CLARKE, WATSON, MAXWELL: वहीं आस्ट्रेलियाई टीम के मिडिल ऑर्डर में धुरंधर बल्लेबाज़ स्मिथ ने 48 के औसत से 241 रन बनाए हैं. वो इस विश्वकप में 3 अर्धशतक लगाकर अच्थी फॉर्म में हैं.

 

कप्तान क्लार्क ने अब तक इस विश्वकप में महज़ 135 रन बनाए हैं. जो कि प्रतिभा से बिल्कुल मेल नहीं खाता.

 

शेन वाटसन भी इस विश्वकप में महज़ 178 रन ही जोड़ पाए हैं. जबकि इस मध्यक्रम की असली जान बनकर इस विश्वकप में तूफानी बल्लेबाज़ मैक्सवेल नज़र आए हैं. मैक्सवेल 301 रन जोड़ कर ऑस्ट्रेलिया के सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ हैं.

 

भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों टीमों के आकलन को देखते हुए ये नज़र आता है कि भारतीय मिडिल ऑर्डर ने ऑस्ट्रेलिया से ज्यादा और बेहतर तरीके से रन जोड़े हैं. विराट- मैक्सवेल पर भारी है. जबकि रैना निचले क्रम में आने के बावजूद स्मिथ से भी बेहतर हैं. रहाणे कप्तान क्लार्क से ज्यादा अच्छा खेले हैं.

 

विकेट-कीपिंग:

MS DHONI: इस खिलाड़ी की प्रतिभा को किसी भी रूप में किसी से तुलना नहीं की जा सकती. कप्तान धोनी ने इस विश्वकप में अब तक 57 के औसत से 5 पारियों में 172 रन जोड़े हैं.

 

धोनी ने इस विश्वकप में 15 कैच लपके हैं. जबकि उन्होनें वेस्टइंडीज़ और ज़िम्बाबवे के खिलाफ मैचों में मैच जिताऊ पारी भी खेली हैं. इस लिहाज़ से भारतीय कीपर ने इस विश्वकप में अब तक औसत से बेहतर प्रदर्शन किया है.

 

B HADDIN: हैडिन एक बेहतरीन और अनुभवी विकेटकीपर हैं. लेकिन बल्लेबाज़ी में वो अपनी प्रतिभा के अनुकूल ऑस्ट्रेलियाई टीम को नहीं दे पाए हैं. हैडिन ने इस विश्वकप में अब तक 11 कैट लपके हैं. जबकि बल्लेबाज़ी में उन्होनें महज़ 119 रन जोड़े हैं.

 

इन दोनों के बल्लेबाज़ी और कीपिंग के आकलन को देखने के बाद कोई भी कह सकता है भारत के पास बेहतर विकेटकीपर मौजूद है.

 

तेज़ गेंदबाज़ी:

 

SHAMI, YADAV, MOHIT: ये कथन बिल्कुल सही है कि बल्लेबाज़ मैच बनाता है और गेंदबाज़ मैच जिताता है. टीम इंडिया की तेज़ गेंदबाज़ी की कमान इस बार इन तीनों गेंदबाज़ों के हाथ में है.

 

मोहम्मद शमी ने इस विश्वकप में तूफानी गेंदबाज़ी करते हुए 17 विकेट झटके हैं. वो विश्वकप के सबसे सफल गेंदबाज़ बनने से महज़ 2 विकेट ही दूर हैं. शमी ने अब तक खेले 6 मुकाबलो में 13 के बेहतरीन औसत से ये विकेट हासिल किए हैं. शमी का गेंदबाज़ी औसत इस विश्वकप में दूसरा सबसे बेहतरीन है.  

 

उमेश यादव ने मैच के शुरूआती ओवरों में धमाकेदार गेंदबाज़ी कर बल्लेबाज़ों पर काबू करने पाने का काम किया है. उन्होनें भी 17 के बेहतरीन औसत से 14 विकेट झटके हैं. जबकि इन दोनों गेंदबाज़ों के शुरूआती स्पेल का पूरा फायदा मोहित शर्मा ने उठाया है.

 

मोहित ने अपनी खूबसूरत लाइन-लेंग्थ का फायदा उठाते हुए विश्वकप में 11 विकेट झटके हैं. जिसकी वजह से टीम को बहुत मदद मिली.

 

STARC, JOHNSON, HAZLEWOOD: ऑस्ट्रेलिया की सबसे बड़ी ताकत इसविश्वकप में उनकी गेंदबाज़ी उभर कर आई है. गेंदबाज़ों में भी खासकर मिचेल स्टार्क. मिचेल ने इस विश्वकप में अपनी गेंदबाज़ी से सबको खासा प्रभावित किया है.

 

स्टार्क ने अब तक 6 मैचों में 9 के उम्दा औसत से 18 विकेट झटके हैं. वो भारत के शमी से 1 विकेट आगे हैं. उन्होनें टीम को शुरूआती झटके भी दिलाए हैं.

 

लेकिन मिचेल जॉनसन इस विश्वकप में कोई खास कमाल करते नज़र नहीं आए. उन्होनें विश्वकप में 24 के औसत से 10 विकेट झटके हैं. जो की भारत के सबसे कम विकेट लेने वाले तेज़ गेंदबाज़ मोहित से भी कम है.

 

वहीं जॉश हेज़लवुड को इस विश्वकप में अब तक महज़ 3 मैच खेलने का मौका मिला है जिसमें उन्होनें 6 विकेट हासिल किए हैं.

 

इस लिहाज़ से ओवर-ऑल तुलना करने पर भी भारतीय टीम की तेज़ गेंदबाज़ी ऑस्ट्रेलिया से कहीं बेहतर.

 

स्पिन गेंदबाज़:

ASHWIN, JADEJA: तेज़ गेंदबाज़ों के शुरूआती ओवरों में विकेट चटकाने के बाद आर अश्विन ने इस विश्वकप में बेहतरीन गेंदबाज़ी की है. अश्विन ने मिडिल ओवर्स में भारत के लिए बेहद किफायती गेंदबाज़ी की है. अश्विन ने इस विश्वकप में अब तक 12 विकेट झटके हैं. वहीं जडेजा ने भी टीम इंडिया के स्पिन डिपार्टमेंट को मदद दी है. जडेजा ने भी विपक्षी टीमों के 9 खिलाड़ियों को पवेलियन भेज कर टीम में योगदान दिया है.

 

MAXWELL: ऑस्ट्रेलिया ने इस विश्वकप में स्पिन डिपार्टमेंट में अपना पूरा दांव मैक्सवेल पर खेला है. बतौर काम चलाउ गेंदबाज़ उन्होनें 5 विकेट तो झटके हैं. लेकिन भारतीय टीम की स्पिन अटैक की बराबरी करने की क्षमता ऑस्ट्रेलियाई स्पिन अटैक में नज़र नहीं आती.

 

इस वजह से ही भारत ने इस विश्वकप में सभी सातों मुकाबले में 70 विकेट झटके हैं और ऑस्ट्रेलिया ने 59 विकेट झटके हैं. इससे गेंदबाज़ी की तुलना करने पर भी भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया पर 21 साबित होती है.

 

फील्डिंग डिपार्टमेंट:

भारत ने क्रिकेट विश्कप में कैच और रन-आउट से 59 विकेट झटके हैं. जबकि ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 46 विकेट फील्डिंग से चटकाए हैं. भारत इस हिसाब से फील्डिंग डिपार्टमेंट में भी ऑस्ट्रेलिया से बेहतर रहा है.

 

कैप्टन VS कैप्टन:

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 7मैचों में से 2 में अपने दम पर अंत तक टिककर टीम को जीत दिलाई है. जबकि क्लार्क अभी तक ऐसा करने में नाकाम रहे हैं. जहां धोनी ने छठे नंबर पर बल्लेबाज़ी करते हुए 172 रन बनाए हैं तो क्लार्क ने महज़ 135 रन जोड़े हैं.

 

भारतीय कप्तान का वनडे रिकॉर्ड भी क्लार्क से कहीं बेहतर है. वनडे में धोनी टीम को 2 विश्वकप और 1 चैंपियंस ट्रॉफी दिला चुके हैं. तो क्लार्क अभी तक किसी बड़े टूर्नामेंट में टीम को खिताब नहीं दिला सके हैं.

 

मैच को जीतने के लिए जिन सभी क्षेत्रों में एक टीम को अच्छा प्रदर्शन करना होता है भारत ने विश्वकप में खेले अभी तक के सभी मैचों में उन सभी में महारथ हासिल किया है.

  

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: World Cup 2015_Team India_Australia_Semi Final_Shikhar Dhawan_Rohit Sharma_Mitchell Starc_Mohammad Shami_
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
First Published:

Related Stories

RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी
RSS ने तब तक तिरंगे को नहीं अपनाया, जब तक सत्ता नहीं मिली: राहुल गांधी

आरएसएस की देशभक्ति पर कड़ा हमला करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि इस संगठन ने तब तक तिरंगे को नहीं...

चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’, भारत को फिर धमकी दी
चीन की खूनी साजिश: तिब्बत में शिफ्ट किए गए ‘ब्लड बैंक’, भारत को फिर धमकी दी

नई दिल्ली: डोकलाम विवाद पर भारत और चीन के बीच तनातनी बढ़ती जा रही है. चीन ने अब भारत के खिलाफ खूनी...

सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले- घोटाले से बचने के लिए BJP की शरण में गए
सृजन घोटाला: लालू का नीतीश पर वार, बोले- घोटाले से बचने के लिए BJP की शरण में गए

पटना: सृजन घोटाले को लेकर बिहार की राजनीति में संग्राम छिड़ गया है. आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद...

यूपी: बहराइच में बाढ़ में फंस गई बारात, ट्रैक्टर पर मंडप पहुंचा दूल्हा
यूपी: बहराइच में बाढ़ में फंस गई बारात, ट्रैक्टर पर मंडप पहुंचा दूल्हा

बहराइच: उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ आने से जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है. इस बीच बहराइच में...

बेनामी संपत्ति: लालू के बेटा-बेटी, दामाद और पत्नी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करेगा आयकर
बेनामी संपत्ति: लालू के बेटा-बेटी, दामाद और पत्नी के खिलाफ चार्जशीट दाखिल...

नई दिल्ली:  लालू परिवार के लिए मुश्किलें बढ़ाने वाली है. एबीपी न्यूज को जानकारी मिली है कि...

अनुप्रिया की पार्टी अपना दल की मंडल अध्यक्ष संतोषी वर्मा और उनके पति की हत्या
अनुप्रिया की पार्टी अपना दल की मंडल अध्यक्ष संतोषी वर्मा और उनके पति की...

इलाहाबाद: उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल की...

गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर सतीश, डॉक्टर राजीव ठहरा गए जिम्मेदार
गोरखपुर ट्रेजडी: डीएम की रिपोर्ट में डॉक्टर सतीश, डॉक्टर राजीव ठहरा गए...

गोरखपुर: बीते हफ्ते गोरखपुर अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से हुई 36 बच्चों की मौत के मामले...

अगर हम सड़कों पर नमाज़ नहीं रोक सकते, तो थानों में जन्माष्टमी भी नहीं रोक सकते: CM योगी
अगर हम सड़कों पर नमाज़ नहीं रोक सकते, तो थानों में जन्माष्टमी भी नहीं रोक...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धार्मिक स्थलों और कांवड़ यात्रा के दौरान...

बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक
बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

नई दिल्ली: तंत्र साधना के लिए 2 साल के बच्चे की बलि देने वाले दंपत्ति की फांसी पर सुप्रीम कोर्ट...

जब बेंगलुरू में इंदिरा कैन्टीन की जगह राहुल गांधी बोल गए ‘अम्मा कैन्टीन’
जब बेंगलुरू में इंदिरा कैन्टीन की जगह राहुल गांधी बोल गए ‘अम्मा कैन्टीन’

बेंगलूरू: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने कर्नाटक सरकार की सस्ती खानपान सुविधा का उद्घाटन...

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017