ABP News Exclusive: याकूब की भारत वापसी की पूरी कहानी जिसमें छिपा है सरेंडर के दावे का सच

By: | Last Updated: Wednesday, 29 July 2015 11:15 AM

नई दिल्ली: कल सुबह 7 बजे याकूब को फांसी होगी. सुप्रीम कोर्ट ने फांसी पर रोक लगाने से इनकार कर दिया है. कोर्ट ने डेथ वारंट को सही माना है. याकूब के भाई ने मीडिया से बात करने से इनकार किया है. उसने कहा कि उन्हें अदालत पर पूरा यकीन है.

 

ABP न्यूज पर याकूब मेमन की पत्नी राहिन मेमन ने बताई याकूब के भारत आने की पूरी कहानी. कुछ ही दिनों पहले याकूब की पत्नी उनसे नागपुर जेल में मिलने गई थीं. याकूब की पत्नी ने उस मुलाकात के बार में बताया कि ‘उनको अब भी भारत की न्यायपालिका से उम्मीद हैं. क्यूरेटि पिटीशन के समय उन्हें बहुत उम्मीदे थीं. उनका कहा है कि वे निर्दोष थे और हैं.’

 

पत्नी राहीन ने कहा, ‘जो हो रहा है वह गलत है उन्होंने सरेंडर किया है और इसका मतलब है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है.’ राहीन ने कहा कि मुंबई ब्लास्ट की खबर उन्हें टीवी पर मिली.

 

महाराष्ट्र के चीफ मिनिस्टर, गवर्नर, भारत के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति से अपील करती हूं कि मेरे पति को माफ कर दीजिए. मैं, मेरी बेटी और मेरे पति ने बहुत भुगत लिया है. हमें भारत सरकार पर पूरा भरोसा है.

याकूब की बेटी जुबैदा मेमन ने बताया, ‘मैं सिर्फ 25 दिन की थी जब मैंने भारत में कदम रखा. मैंने अपने पिता को बहुत याद किया है अब भी करती हूं. मुझे आज भी इंतजार है कि मैं उनके साथ थोड़ा समय बिता सकूं. मेरे सपने सच हों.’

 

याकूब के दोस्त उस्मान ने बताया है, ‘याकूब नेपाल सरेंडर करने आया था, पुलिस ने वहीं से पकड़ा. याकूब के पास पाकिस्तान के खिलाफ ऑडियो और वीडियो के रूप में सबूत भी था. याकूब पूरी तरह निर्दोष है.’

 

याकूब के दोस्त उस्मान ने कहा, ‘याकूब को गिरफ्तार करने के बाद उसे सीबीआई ने दिल्ली बुलाया था. उसके बाद वह दुबई गया और याकूब के परिवार को वहा इंडिया लेकर आया जिसे बाद में गिरफ्तारी की तरह दिखाया गय़ा.’

 

उस्मान ने बताया, ‘बचपन से मैं याकूब को जानता हूं. एक दिन उसका अचानक फोन आया. याकूब ने कहा कि मेरी मदद करो. मेरे अंकल ने फोन उठाया और रो पड़े. लाइन कट गई. कुछ दिन बाद उसका फोन आया कि दुबई में मिलो. मैं तकलीफ में हूं. उससे बात हुई तो पता चला कि फैमिली का कोई इन्वॉलमेंट नहीं है, वे फंस गए हैं. मैंने कहा कि कुछ वक्त दो. फिर वो पाकिस्तान चला गया. मैं इंडिया आ गया. मेरे दोस्त मिस्टर रशीद मेनन, उन्होंने मुझे केशवानी साहब से मिलवाया. उन्होंने कहा कि ये बहुत खतरनाक मामला है. इसके बाद अचानक उसका फोन आया कि नेपाल में आकर मिला. एक होटल का नाम दिया था वहां मिला. वहां उसके पास ऑडियो और वीडियो था जिससे पाकिस्तान को आतंकवादी करार कर सकते थे. कई चीजें थी. मुझे राहीन को वापस जाने को कहा. इसके बाद वह चला गया. मैंने खुद उसे एयरपोर्ट पर अंदर जाते हुए देखा.’

याकूब मेमन के परिवार का EXCLUSIVE इंटरव्यू 

उस्मान ने कहा, ‘इसके बाद मैंने टीवी पर देखा कि उसे दिल्ली से अरेस्ट किया गया है. इसके बाद मुझे सीबीआई से फोन आया. मैं दिल्ली गया. वहां परिवार को लेकर बहुत चिंतित था. उसने कहा कि जाइए और परिवार लेकर आइए. मैं दुबई गया, उन्हें ढ़ूढ़ने में मुझे बहुत दिक्कत हुई. वहां से मैं परिवार को लेकर यहां  आया और उसे गिरफ्तारी की तरह दिखाया गया.’

 

याकूब की पत्नी ने कहा कि ‘हम जब यहां आ रहे थे तो हम निर्दोष थे. लेकिन यहां आने पर सब कुछ बदल गया.’

India News से जुड़े हर समाचार के लिए हमे फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर फॉलो करें साथ ही हमारा Hindi News App डाउनलोड करें
Web Title: yakub memon
Explore Hindi News from politics, Bollywood, sports, education, trending, crime, business, साथ ही साथ और भी दिलचस्प हिंदी समाचार
और जाने: supreme court Yakub Memon
First Published:

Get the Latest Coupons and Promo codes for 2017