कांग्रेस के सहयोगी की तरह काम कर रहे हैं यशवंत सिन्हा: बीजेपी

कांग्रेस के सहयोगी की तरह काम कर रहे हैं यशवंत सिन्हा: बीजेपी

बीजेपी प्रवक्ता अनिल बलूनी ने पूर्व वित्त मंत्री सिन्हा के खिलाफ खुलेआम मोर्चा खोलते हुए कहा कि उनका यह कहना कि वह भीष्म की तरह हैं, यह स्वीकार करना भी है कि वह कौरवों की तरफ हैं.

By: | Updated: 05 Oct 2017 11:16 PM

नई दिल्ली: बीजेपी ने गुरुवार को कहा कि वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा भ्रष्ट और गरीब विरोधी पूर्ववर्ती यूपीए सरकार के सहयोगी के तौर पर काम कर रहे हैं. बीजेपी प्रवक्ता अनिल बलूनी ने पूर्व वित्त मंत्री सिन्हा के खिलाफ खुलेआम मोर्चा खोलते हुए कहा कि उनका यह कहना कि वह भीष्म की तरह हैं, यह स्वीकार करना भी है कि वह कौरवों की तरफ हैं. उन्होंने कहा, ‘‘यह आज साफ हो गया है कि उन्हें उनका ज्ञान कहां से प्राप्त हो रहा है. कांग्रेस के एक नेता के कार्यक्रम में उनका मौजूद रहना यह दिखाता है कि उनके अर्थशास्त्र को कौन प्रभावित कर रहे हैं. यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है.''


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की शल्य वाले बयान पर सिन्हा ने जवाब देते हुए कहा था कि वह भीष्म की तरह हैं और वह अर्थव्यवस्था का चीरहरण नहीं होने देंगे. बीजेपी के एक दूसरे प्रवक्ता जीवी एल नरसिम्हा राव ने भी यशवंत सिन्हा पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सिन्हा वह एक वित्त मंत्री के तौर पर अपने विनाशकारी प्रदर्शन को सुविधापूर्वक ढक रहे हैं जब उन्होंने भारत का सोना विदेश में गिरवी रख दिया था.


राव ने कहा कि वह भ्रष्ट, मंहगाई बढ़ाने वाली, गरीब विरोधी और विनाशकारी आर्थिक शासन वाली केंद्र की तत्कालीन कांग्रेस नीत संप्रग सरकार के समर्थक बन गए हैं. अपने अगले रोजगार पाने के लिए उन्हें कांग्रेस के तौर पर एक नया सहयोगी मिल गया है. यह देखने की बात होगी कि एक बेरोजगार राहुल गांधी सिन्हा को क्या दे सकते हैं जिसे हमेशा ही काम की तलाश रहती है. उन्होंने सिन्हा पर निशाना साधते हुए कहा कि वह महाभारत के शिशुपाल की तरह काम कर रहे हैं और उनके निजी हमले सहिष्णुता के बिंदु पर पहुंच रहे हैं.



फटाफट ख़बरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस पर और डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App
Web Title:
Read all latest India News headlines in Hindi. Also don’t miss today’s Hindi News.

First Published:
Next Story गुजरात/हिमाचल प्रदेश चुनावः हार के बाद सोनिया-राहुल गांधी ने साधी चुप्पी, नजरअंदाज किया सवाल